India's Largest Hindi Information Website

उत्तर प्रदेश विवाह रजिस्ट्रेशन मैरिज सर्टिफिकेट ऑनलाइन

UP Marriage Registration Certificate Online at igrsup.gov.in | Aadhaar Based Marriage Certificate Uttar Pradesh | यूपी आधार आधारित विवाह पंजीकरण

उत्तर प्रदेश विवाह रजिस्ट्रेशन | विवाह पंजीकरण फार्म | विवाह पंजीकरण फार्म PDF | विवाह पंजीकरण उत्तर प्रदेश निबंधन विभाग | उत्तर प्रदेश मैरिज रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट ऑनलाइन | UP Marriage Registration Certificate Online | Download Marriage Certificate UP Online | Aadhaar Based Marriage Registration UP | Aadhaar Based Vivah Panjiyan Online | Adhar Adharit Marriage Certificate Uttar Pradesh

UP-Marriage-Registration-Certificate
UP-Marriage-Registration-Certificate

UP Marriage Registration Certificate: यूपी मैरिज रजिस्ट्रेशन सर्विस को ई-परिन्यपात्र (उत्तर प्रदेश विवाह पंजीकरण सिस्टम) igrsup.gov.in पर शुरू किया गया है। आधार आधारित यूपी विवाह पंजीकरण प्रक्रिया के तहत, टिकट और पंजीकरण विभाग पहले से विवाहित जोड़ों को विवाह पंजीयन प्रमाण पत्र प्रदान करता है। कोई भी दुल्हन और दूल्हा नेट-बैंकिंग के माध्यम से परिभाषित आवेदन शुल्क का भुगतान करके ऑनलाइन आधार आधारित यूपी विवाह प्रमाणपत्र के लिए आवेदन कर सकता है। उत्तर प्रदेश मैरिज रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट में पति और पत्नी का पूरा विवरण जैसे नाम, पिता का नाम, माता का नाम और शादी की तारीख आदि शामिल हैं। यहां पूरा लेख ध्यान से पढ़ें, हम आपको ऑनलाइन आधार विवाह प्रमाण पत्र बनाने से संबंधित प्रत्येक विवरण प्रदान करने जा रहे हैं। जैसे कि पंजीकरण, पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, आवेदन शुल्क और डाउनलोड करने की प्रक्रिया इत्यादि। 

इस योजना के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश सरकार विवाहित दम्पत्तियों का ऑनलाइन पंजीकरण कर रही है और शादी का प्रमाण पत्र प्रदान कर रही है। कोई भी नवविवाहित दम्पति अपना पंजीकरण कर विवाह प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकती है। यूपी विवाह पंजीकरण कराने के लिये आपको दी गयी आधिकारिक वेबसाइड igrsup.gov.in पर जाना होगा और निधार्रित पंजीकरण शुल्क जमा कराना होगा। प्रथम वर्ष के लिये यह यूपी विवाह पंजीकरण शुल्क 10 रूपये होगा तथा उसके बाद यह पंजीकरण शुल्क प्रति वर्ष 50 रूपये के हिसाब से बढ़ता रहेगा।

उत्तर प्रदेश विवाह रजिस्ट्रेशन मैरिज सर्टिफिकेट ऑनलाइन

UP Marriage Registration Certificate Online:

यूपी विवाह पंजीकरण के मुख्य उददेश्य राज्य मे प्रत्येक वर्ष सम्पन्न होने वाले विवाहो का पता लगाना है। इसके साथ में यह भी सुनिश्चित करना है कि किस आयु वर्ग के विवाह राज्य मे सम्पन्न हो रहे है। इस पहल से बाल विवाह प्रथा के चलन का भी पता चलेगा। आगामी वर्षो मे उत्तर प्रदेश राज्य सरकार यूपी विवाह पंजीकरण को प्रत्येक नवविवाहित जोडे के लिये अनिवार्य कर देगी। इस योजना से सम्भावना तो यह तक है कि विभिन्न प्रकार की योजनायें जो दम्पत्तियों के लिये सरकार द्वारा चलायी जाती है। उन सभी योजनाओ के लिये सरकार इस UP Marriage Online Registration को अनिवार्य कर देगी।

यूपी विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र का मुख्य कारक (Key Factors of UP Marriage Registration Certificate):

  • विवाह पंजीकरण प्रमाणपत्र हिंदी और अंग्रेजी दोनों में उपलब्ध है।
  • आधार से आवेदक का विवरण और तस्वीरें कैप्चर किया जायेगा।
  • सफल भुगतान के बाद, मैरिज रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट तुरंत रजिस्ट्रार को ईमेल पर भेज दिया जाएगा।
उत्तर प्रदेश ऑनलाइन विवाह पंजीकरण 2019 के लाभ-

Benefits of Uttar Pradesh Online Marriage Registration:

हाल ही समाचार सूत्रो के अनुसार राज्य के सरकार UP Marriage Registration Certificate को सभी धर्मो के नये व पुराने विवाहित जोड़ो के लिये अनिवार्य कर दिया जायेगा। इसके अलावा, इस योजना के निम्नलिखित लाभ हैं:

  1. भविष्य में, यदि आप अपनी पत्नी को नॉमिनी बनाना चाहते हैं तो आपको यह सर्टिफिकेट जमा करना होगा।
  2. यदि आप विदेश में रहते हैं तो आपको एक विवाहित जोड़े के रूप में साबित करने के लिए अपना विवाह प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा।
  3. कई बीमा कंपनियों ने विवाह प्रमाणपत्र को अनिवार्य कर दिया है।
  4. इस आधार आधारित यूपी विवाह पंजीकरण योजना का मुख्य उददेश्य यह पता लगाना है कही किसी स्थान पर आज भी बाल विवाह का प्रचलन तो नही है।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश शादी अनुदान योजना 2019 आवेदन फॉर्म

यूपी विवाह पंजीकरण शुल्क आधार आधारित-

Aadhaar Based UP Marriage Registration Fees:

  • आधार आधारित (UIDAI) विवाह पंजीकरण में, आपको अपनी शादी के पहले वर्ष में 10 रुपये का भुगतान करना होगा।
  • उसके बाद, यह पंजीकरण शुल्क 50 रुपये प्रति वर्ष बढ़ जाएगा।
  • उत्तर प्रदेश सरकार आगामी वर्षो में सभी धर्म के लोगों के लिए यूपी विवाह पंजीकरण अनिवार्य किया जाएगा।
  • इस योजना का उद्देश्य राज्य से बाल विवाह की संभावनाओं को कम करना है।
  • ऑनलाइन आधार के तहत शादी पंजीकरण स्टैम्प और पंजीकरण विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर किया जायेगा।
  • फिर उसके बाद, दंपति मैरिज सर्टिफिकेट के लिए ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म भर सकते हैं।

यह भी संभव है कि पति-पत्नी को दी जाने वाली विभिन्न योजनाओं का लाभ विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के बाद ही दिया जाएगा। इसलिए हम प्रत्येक विवाहित जोड़े को उनका पंजीकरण सुनिश्चित करने के लिए सुझाव देंगे।

यूपी विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र के लिए आवश्यक दस्तावेज:
आधार कार्ड पते का सबूत
आयु प्रमाण शादी का निमंत्रण कार्ड
पति और पत्नी द्वारा शपथ पत्र शादी के दो गवाह
यूपी विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

How to Apply Online for UP Marriage Registration Certificate:

जो उम्मीदवार यूपी विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र (Aadhaar Based Marriage Registration) के लिए आवेदन करना चाहते हैं, पहले उन्हें आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। लिंक नीचे दिया गया है।

UP-MARRIAGE-REGISTRATION-CERTIFICATE

Aadhaar-Based-Marriage-Registration
Aadhaar-Based-Marriage-Registration
  • स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग के होमपेज पर, विवाह पंजीकरण अनुभाग पर आवेदन करें विकल्प पर क्लिक करें।
  • विकल्प पर क्लिक करने पर, “यूपी विवाह पंजीकरण फॉर्म” के साथ एक नई विंडो खुल जाएगी।
  • अब पति और पत्नी का आधार नंबर OTP वेरीफाई करें।
UP-Marriage-Registration-Form
UP-Marriage-Registration-Form
  • आधार कार्ड सत्यापन के बाद, आवेदन पत्र आवश्यक विवरण के साथ खुलेगा।
  • अब यूपी विवाह ऑनलाइन आवेदन पत्र पर सभी आवश्यक विवरण ध्यान से भरें।
  • अंत में, प्रक्रिया को पूरा करने के लिए सबमिट बटन दबाएं।

Check-UP-Marriage-Certificate-Status

Aadhaar-Based-Marriage-Registration-Verification
Aadhaar-Based-Marriage-Registration-Verification

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश सरकारी योजनाओं की सूची 2019 (UP Mukhyamantri Yogi Adityanath Schemes List) & यूपी मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना (Uttar Pradesh Mukhyamantri Samuhik Vivah Yojana)

Readermaster-Helpline-Team

 

 

You might also like
1 Comment
  1. Pankaj Prabhakar says

    thank you nice information

Leave A Reply

Your email address will not be published.