राष्ट्रीय कामधेनु योजना 2021: पशुपालन व मत्स्य पालन, Rashtriya Kamdhenu Yojana Form

Rashtriya Kamdhenu Yojana Apply Online | राष्ट्रीय कामधेनु योजना 2021 पशुपालन | Kamdhenu Dairy Loan Scheme Registration Form | कामधेनु योजना पशुपालन व मत्स्य पालन

नमस्कार दोस्तों, आज हम आपके लिए सरकार द्वारा शुरू की गई एक नई योजना “राष्ट्रीय कामधेनु योजना” के बारे में सभी जानकारी लाएं है। इस सरकारी योजना को सरकार द्वारा गायों के अलग से आयोग बनाने हेतु इस सरकारी योजना को शुरू करने का अधिकारिक एलान किया है। इतना ही नहीं भारत सरकार द्वारा इस बात की भी अधिकारिक पुष्टि की गई है की पशुपालन और मत्स्य पालन पर सरकार की ओर से 2% की छूट दी जाएगी। यह  योजना किसानो को अपनी आय बढ़ाने में सहयता प्रदान करेगी।

केंद्र सरकार ने अपने 2020-21 के अंतरिम बजट में कई योजनाओं की घोषणा की है, उसमें से एक प्रमुख योजना ‘Rashtriya Kamdhenu Yojana’ है। इस योजना के लिए बजट में 750 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है। इस योजना के अंतर्गत पशुपालन और मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने लोन लेने वाले व्यक्तियों को ब्याज में 2% की छूट प्रदान की है। प्राकृतिक आपदा होने पर 3% की अतिरिक्त सहायता दी जाएगी। इस प्रकार से लोन लेने वाले व्यक्ति को ब्याज में कुल 5% का लाभ दिया जा रहा है।

Rashtriya Kamdhenu Dairy Yojana In Hindi

राष्ट्रीय कामधेनु योजना 2021 (पशुपालन व मत्स्य पालन)

Rashtriya Kamdhenu Yojana Dairy Project – भारत सरकार ने पशुपालन और मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री कामधेनु योजना का शुभारम्भ किया है। सरकार इस योजना में भाग लेने वाले किसानों का क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराएगी। इसकी सहायता से गाय पालने वाले किसानों को प्रतिमाह 500 रूपये की धनराशि आवंटित की जाएगी। जो किसान पशु पालन और मत्स्य पालन करना चाहते है, उन्हें लोन लेने की सुविधा प्रदान की जाएगी। इस प्रकार से लिए गए लोन के ब्याज पर 2 प्रतिशत की छूट प्रदान की जाएगी। प्राकृतिक आपदा आने पर किसानों को हानि से बचाने के लिए ब्याज पर 3 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट प्रदान की जाएगी। इस प्रकार किसान को कुल 5 प्रतिशत की छूट प्रदान की जाएगी।

प्रधानमंत्री कामधेनु डेयरी परियोजना की पूरी जानकारी-

वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण में राष्ट्रीय कामधेनु आयोग (Rashtriya Kamdhenu Yojana) बनाने की घोषणा की है। इसके साथ ही राष्ट्रीय गोकुल आयोग भी बनाया जायेगा। भारत सरकार ने वर्ष 2020-21 के अंतरिम बजट में 750 करोड़ रूपये की व्यवस्था प्रदान की है। वित्त मंत्री ने कहा है कि गौ माता के सम्मान में सरकार निरंतर प्रयास करती रहेगी। राष्ट्रीय कामधेनु आयोग की official website http://kamdhenu.gov.in/ है। इस पोर्टल के माध्यम से आप मिनी कामधेनु योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। प्रधानमंत्री पशुपालन योजना के तहत कामधेनु डेयरी योजना, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा सहित कई राज्यों में चल रही है।

Rashtriya Kamdhenu Yojana के लाभ व विशेषताएं:

प्रधानमंत्री कामधेनु योजना के द्वारा सरकार पशुपालन को बढ़ावा देना चाहती है। पशुपालन से दुग्ध उत्पादन में बढ़ोत्तरी होगी। इससे किसान आत्मनिर्भर हो कर अपना व्यवसाय प्रोन्नति करके अधिक आय प्राप्त कर सकता है।

  • भारत सरकार किसानों की आय दोगुनी करना चाहती है। इसलिए वह पशुपालन पर विशेष ध्यान दे रही है।
  • देश में दुग्ध उत्पादन होने से भारत का प्रत्येक नागरिक उत्तम स्वास्थ्य को प्राप्त कर सकता है।
  • इस सरकारी योजना के अंतर्गत पशुपालन और मत्स्य पालन हेतु सरकार द्वारा 2% की छूट दी जाएगी।
  • सरकार द्वारा इस योजना को सुचारू रूप से कार्यान्वयन हेतु 750 करोड़ की धनराशि को खर्च करने का भी एलान किया गया है।
  • इस राष्ट्रीय कामधेनु योजना के लिए सरकार द्वारा अलग से गोकुल आयोग का भी गठन किया जाएगा।

Kamdhenu Dairy Loan Yojana 2021 Rajasthan-

कामधेनु डेयरी योजना के तहत लोन एवं सब्सिडी के लिए राज्य का कोई भी किसान आवेदन कर सकते है। इस योजना के तहत किसान को 30 गाय या भैंस पालने के लिए 4 प्रतिशत कि ब्याज पर कुल लागत का (जो अधिकतम 36 लाख रुपये है) 90 प्रतिशत ऋण दिया जा रहा है। किसान को बाकि के 10 प्रतिशत राशि का स्वयं वहन करना होगा। Rashtriya Kamdhenu Yojana/ डेयरी योजना अंतर्गत लिया गया ऋण चुकाए जाने पर राज्य सरकार द्वारा 30 प्रतिशत सब्सिडी भी दी जायेगी।

योजना के तहत पात्रता/ योग्यता शर्तें:

पशुपालक, गोपालक, कृषकों, नवयुकों, महिलाओं को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध करने वाली योजना के लिए कुछ जरूरी नियम सरकार द्वारा निर्धारित किये गए हैं, जिनका पालन करने के बाद ही आवेदक डेयरी फार्म लोन हेतु ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं।

  • डेयरी खोलने के लिए लाभार्थी के पास पर्याप्त स्थान एवं हरा चारा उत्पादन करने के लिए कम से कम एक एकड़ भूमि होनी चाहिए।
  • साथ ही किसान को इसके लिए एक प्रोजेक्ट बनाना होगा, जो 36 लाख रुपये से ज्यादा नहीं होना चाहिए।
  • किसान को लागत का 10% खुद वहन करना होगा।
  • देशी नस्ल की गायें जिनकी उम्र 5 वर्ष या दो ब्यांत (जो भी कम हो) होनी चाहिए एवं दुग्ध उत्पादन 10 से 12 लीटर प्रतिदिन होना आवश्यक है। योजना के तहत अधिकतम 30 गाय या भैंस रखने की सुविधा है।
  • गौवंश को एक बार में 15 तथा 6 महीने बाद, दिव्तीय चरण में 15 देशी गाय खरीदनी होगी।
  • लाभार्थी को इस क्षेत्र में कम से कम तीन वर्ष का अनुभव होना अनिवार्य है।

कामधेनु डेयरी योजना राजस्थान 2021 आवेदन करें-

  1. अगर आप राजस्थान सरकार की Kamdhenu Dairy Loan Yojana के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जा कर पंजीकरण करना होगा।
  2. आपको बता दें कि कामधेनु डेयरी योजना के तहत आवेदन शुरू किये जा चुके हैं, जो किसान योजना का लाभ लेना चाहते हैं वह आवेदक 30 जून तक आवेदन कर सकते हैं।
  3. योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपको ऊपर दिये गये शर्तें को पूरा करना होगा।
  4. डेयरी लोन राजस्थान 2021 योजना के अधिक जानकारी तथा आवेदन पत्र विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट www.gopalan.rajasthan.gov.in से डाउनलोड किया जा सकता है।
  5. या फिर सीधे इस लिंक पर क्लिक करें => कामधेनु डेयरी प्रोजेक्ट एवं योजना दिशानिर्देश PDF डाउनलोड
Contact Details of Rashtriya Kamdhenu Yojana
  • Rashtriya Kamdhenu Aayog Department of Animal Husbandry and Dairying,
  • Ministry of Fisheries, Animal Husbandry and Dairying
  • Office Address: DMS Complex (Administrative Block) Shadipur, New Delhi – 110008
  • Helpline Number: (011) 2587-1187 / 2587-1107
  • Email ID: rkamdhenu-aayog@gov.in

यह भी पढ़ें: यूपी गौ ग्राम योजना- आवारा गायों के लिए गौशाला सुविधा उत्तर प्रदेश

दोस्तों, यहाँ पर हमनें आपको राष्ट्रीय कामधेनु योजना (Rashtriya Kamdhenu Yojana) के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है। यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है। हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है। सरकारी योजनाओ के अपडेट के लिए हमारे पेज रीडरमास्टर.कॉम से जुड़े रहें। धन्यवाद-

16 thoughts on “राष्ट्रीय कामधेनु योजना 2021: पशुपालन व मत्स्य पालन, Rashtriya Kamdhenu Yojana Form”

    1. To start Rashtriya Kamdhenu Yojana 2019 (Dairy Project), you first have to visit the nearest Cooperative Bank and apply for the loan under PM National Kamdhenu Scheme. Thereafter you have to arrange the place where you want to start this dairy project. Apart from that, you have to collect all the documents required for this scheme.
      For more Govt Schemes, kindly click the given below link.
      Click Here

    1. नमस्कार अनुराग आनंद जी,
      भारत सरकार ने पशुपालन और मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री कामधेनु योजना का शुभारम्भ किया है। सरकार इस योजना में भाग लेने वाले किसानों का क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराएगी। इसकी सहायता से गाय पालने वाले किसानों को प्रतिमाह 500 रूपये की धनराशि आवंटित की जाएगी। जो किसान पशु पालन और मत्स्य पालन करना चाहते है, उन्हें लोन लेने की सुविधा प्रदान की जाएगी। इस प्रकार से लिए गए लोन के ब्याज पर 2 प्रतिशत की छूट प्रदान की जाएगी। प्राकृतिक आपदा आने पर किसानों को हानि से बचाने के लिए ब्याज पर 3 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट प्रदान की जाएगी। इस प्रकार किसान को कुल 5 प्रतिशत की छूट प्रदान की जाएगी।
      सभी सरकारी योजनाओं की जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।
      Sarkari Yojana 2019-20

    1. संतोष गोस्वामी

      मध्यप्रदेश में गौशाला खोलना चाहता हूँ क्या केंद्र सरकार या राज्य सरकार की और से कोई आर्थिक सहायता मिल सकती है

    1. राष्ट्रीय कामधेनु योजना के अंतर्गत हम चाहते हैं कि गोबर से निर्माण होने वाले टाइल्स का कारखाना प्रारंभ करें यह कार्य किस प्रकार प्रारंभ किया जा सकता है और इसके लिए आवश्यक मशीनें कैसे उपलब्ध होंगे कृपया आप बता सकते हैं
      Arvind Singh

  1. मेघाराम

    दुग्ध मार्केट का क्या प्लान रहेगा जिससे पशुपालक को दूध की सही कीमत मिल सके

  2. राष्ट्रीय कामधेनु योजना के अंतर्गत हम चाहते हैं कि गोबर से निर्माण होने वाले टाइल्स का कारखाना प्रारंभ करें यह कार्य किस प्रकार प्रारंभ किया जा सकता है और इसके लिए आवश्यक मशीनें कैसे उपलब्ध होंगे कृपया आप बता सकते हैं

  3. पवन कुमार

    गोबर से बने उत्पाद का प्रशिक्षण कहाँ और कैसे मिलेगा

  4. पवन कुमार

    सर्
    राष्ट्रीय कामधेनु योजना में गाय के गोबर से टाइल्स,इट,गमला,दीपक तथा धूपबत्ती बनाने
    के लिये कोई प्रावधान है ।

  5. Anil kumar chhetri

    पश्चिम बंगाल राज्य से चा उत्पादक क्षेत्र है बीते 5 बरस से चा उद्योग बंद पड़े हैं हम चाहते हैं कामधेनु योजना के तहत बैंक से लोन लेके कामधेनु योजना से जुड़े और इस पर कार्य करें बैंक से लोन किस आधार पर मिलेगा?

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top