[Anchal] उत्तराखंड मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना की जानकारी

Uttarakhand Mukhyamantri Anchal Amrit Yojana In Hindi | Check Nutritious Milk Scheme For Children | बच्चों के लिए मुफ्त पोषक दूध योजना की जांच करें

Uttarakhand-CM-Anchal-Amrit-Yojna-In-Hindi
Uttarakhand-CM-Anchal-Amrit-Yojna-In-Hindi

Uttarakhand Mukhyamantri Anchal Amrit Yojana 2020: नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से “उत्तराखंड मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना” की जानकारी देंगे। उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 13 मार्च 2020 को देहरादून में मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना शुरू की है। इस योजना के तहत, सरकार एक सप्ताह में एक बार मध्यान्ह भोजन योजना के तहत पहली से आठवीं कक्षा में पढ़ने वाले बच्चों को पौष्टिक दूध देगी। आंगनवाड़ी स्कूलों में पढ़ने वाले लगभग 1,72,000 बच्चों को एक सप्ताह में 4 बार दूध दिया जा रहा है। अब 17,045 स्कूलों के 6,90,000 बच्चों को भी सप्ताह में एक बार दूध दिया जाएगा।
इस पहल के माध्यम से बच्चों को उचित पोषण मिलेगा, जिससे कुपोषण के खतरे को रोकने में मदद मिलेगी। उत्तराखंड राज्य में लगभग 20,000 आंगनवाड़ी केंद्र हैं और इन केंद्रों पर बच्चों को सुगंधित, मीठा और स्किम्ड मिल्क पाउडर दिया जाता है। उत्तराखंड में 3 से 6 साल की उम्र के बच्चों को मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना के तहत मुफ्त दूध मिल रहा है। अब कक्षा 1 से 8 के छात्रों को भी यह पौष्टिक दूध मिलेगा। इस सहकारिता अभियान से, आंगनवाड़ी केंद्रों में पढ़ रहे कुपोषित बच्चों को आगामी वर्षों में उचित पोषण प्रदान किया जाएगा। नीचे हम आपको Uttarakhand Mukhyamantri Anchal Amrit Yojana की पूरी जानकारी दे रहे हैं। कृपया इसके लिए पूरा आर्टिकल अंत तक ध्यान से पढ़ें।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना की जानकारी-

Uttarakhand Mukhyamantri Anchal Amrit Scheme Details – उत्तराखंड में सीएम आँचल अमृत योजना की महत्वपूर्ण विशेषताएं इस प्रकार से हैं:

  • उत्तराखंड के सीएम ने 13 मार्च 2020 को देहरादून में मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना शुरू की है।
  • आंगनवाड़ी केंद्र में एक सप्ताह में 4 बार बच्चों को मुफ्त दूध दिया जाता है।
  • अब 1 से 8 वीं कक्षा के छात्रों को भी मिड डे मील योजना के तहत पौष्टिक दूध मिलेगा।
  • राज्य भर में लगभग 20,000 आंगनवाड़ी केंद्रों पर लगभग 1.72 लाख बच्चों को 100 मिलीलीटर मुफ्त दूध मिल रहा है। अब 17,045 स्कूलों के 6.9 बच्चों को भी सप्ताह में एक बार पौष्टिक दूध मिलेगा।
  • अमृत ​​योजना के तहत बच्चों के लिए सुगंधित, मीठा, स्किम्ड मिल्क पाउडर उपलब्ध कराया जाएगा।
  • इस योजना का प्राथमिक फोकस यह सुनिश्चित करना है कि राज्य में स्वस्थ बच्चे हैं जो देश के भविष्य को स्वस्थ और सुरक्षित बनाने के लिए आवश्यक हैं।
Uttarakhand Mukhyamantri Anchal Amrit Yojana 2020-

महिला सशक्तीकरण और बाल विकास मंत्रालय (Ministry of Women Empowerment and Child Development) ने इस योजना को राज्य में कुपोषण से लड़ने के लिए एक बड़ा कदम करार दिया है। मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना शुरू करने की आवश्यकता महसूस की गई है क्योंकि राज्य में 18,000 बच्चे कुपोषण से पीड़ित हैं।
सीएम द्वारा दिए गए आधिकारिक बयान के अनुसार, उन्होंने कहा कि “लगभग 7 लाख + छात्र आंगनवाड़ी केंद्रों / सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे हैं। चूंकि इनमें से अधिकांश बच्चे समाज के वंचित वर्गों से आते हैं और उन्हें पोषण की उचित सुविधा नहीं है, इसलिए सरकार अब उन्हें मुफ्त दूध उपलब्ध कराएगी। दूध एक उच्च गुणवत्ता वाला पोषण स्रोत है, इसलिए सरकार उन बच्चों को सप्ताह में एक बार पौष्टिक दूध प्रदान करेगी।”

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना उत्तराखंड की सम्पूर्ण जानकारी

RM-Helpline-Team

Leave A Reply

Your email address will not be published.