[रजिस्ट्रेशन] हरियाणा बीज योजना 2019-20 | पंजीकरण फॉर्म

Haryana-Beej-Yojana-for-Farmers-In-Hindi
Haryana-Beej-Yojana-for-Farmers-In-Hindi

Haryana Beej Yojana 2019-20: नमस्कार प्यारे दोस्तों, आज आप हमारे आर्टिकल में जानेगे अपने राज्य हरियाणा की एक नई योजना जिसका नाम है “बीज योजना (Seed Scheme Haryana)” हरियाणा की राज्य सरकार द्वारा किसानो के लिए एक नई बीज योजना हरियाणा शुरू की गयी है। किसानों को वैकल्पिक फसलों की खेती करने और हरियाणा में गेहूं और धान की फसल को कम करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए, राज्य सरकार ने सात ब्लॉकों में 27 मई से एक पायलट परियोजना शुरू करने का फैसला किया है।
योजना को 27 मई 2019 से लागु कर दिया गया है। इसमे आवेदन रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरकर किया जा सकता है। रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरने के लिए आधिकारिक वेब पोर्टल की शुरुआत की गयी है। बीज योजना हरियाणा के तहत किसानो को मुफ्त बीज दिए जायेंगे। योजना का लक्ष्य राज्य में फसलों की विवधता को बढ़ाना है। इस योजना को सफलतापूर्वक लागु करने के लिए राज्य सकरार द्वारा Rs 25 करोड़ निर्धारित किये गये हैं।

हरियाणा बीज योजना 2019 का पूरी जानकारी

Haryana Beej Yojana Details 2019 – योजाना के अंतर्गत किसानों को मुफ्त में बीज उपलब्ध कराया जाएगा, जिसकी कीमत लगभग 1200 रुपये से 2000 रुपये है। बीज के अलावा, 2000 रुपये प्रति एकड़ के लिए वित्तीय सहायता दो चरणों में प्रदान की जाएगी, अर्थात 200 रुपये पोर्टल पर पंजीकरण का समय और शेष रु। 1800 बोए गए क्षेत्र के सत्यापन के बाद। Seed Scheme in Haryana मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PM-FBY) के तहत 766 रुपये प्रति हेक्टेयर का मक्का फसल बीमा प्रीमियम भी सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। इसी तरह, खरीफ सीजन के दौरान, 2500 हेक्टेयर क्षेत्र में धान (अरहर) द्वारा धान का विविधीकरण किया जाएगा। किसान को दालों का बीज भी मुफ्त दिया जाएगा और उसी तर्ज पर प्रोत्साहन भी प्रदान किया जाएगा।

योजना का नाम   बीज योजना
किस राज्य में शुरू की गयी   हरियाणा
किसने शुरू की  मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी द्वारा
कब शुरू किया  गया साल 2019 में
लागु किया जायेगा   27 मई 2019 में
किसके लिए शुरू किया गया है राज्य के किसानो के लिए
योजना का लाभ क्या है  किसानो को फ्री बीज तथा आर्थिक सहयता 
 मकसद क्या है  किसानो को फसल वैविधिता के लिए प्रेरित करना
आर्थिक सहायता कितनी मिलेगी  Rs 2,000/-
SSH- हरियाणा बीज स्कीम का उद्देश्य-

Objective of Haryana Beej Yojana (SSH) – योजना के मुख्य उदेश्य निम्नलिखित है:

  • धान का उत्पादन 195357 हेक्टेयर क्षेत्र में सात ब्लॉकों में किया जाता है, जिन्हें इस योजना के तहत कवर किया गया है, जिसमें गैर बासमती धान का उत्पादन 45 प्रतिशत है, यानी 87900 हेक्टेयर क्षेत्र में और मुख्य उद्देश्य 50,000 हेक्टेयर क्षेत्र में धान की बुवाई को कम करना है।
  • विभाग ने किसानों के हित और जल संरक्षण को ध्यान में रखते हुए योजना तैयार की है।
  • राज्य में मक्का ही धान का स्थान ले सकता है। इससे काफी पानी की बचत भी होगी, गेहूं की फसल में भी बढ़ोतरी होगी।
  • साथ ही गेहूं की फसल लगाने में अधिक केमिकल का इस्तेमाल भी नहीं करना पड़ता।
  • सरकार द्वारा यह साफ कर दिया गया कि, उनका फसल विविधता को लाने का सबसे मुख्य कारण पानी, बिजली तथा मिट्टी की सेहत को बचाना है।
  • अगर चावल की जगह मक्का और दाने लगाई जाएंगी तो गेहूं की उपज में भी काफी फायदा देखा जाएगा।
बीज योजना हरियाणा 2019 किन जिलों में लागू की गयी-

Haryana Beej Yojana 2019 (Was implemented in which Districts) – इस योजना को राज्य के 7 जिलों में शुरू किया गया है। जो निम्नलिखित है:

करनाल अंबाला जींद
सोनीपत कैथल कुरुक्षेत्र
यमुनानगर

इस योजना को सरकार तथा विभाग द्वारा किसानों के रुझान तथा पानी की बचत को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है। इसके चलते जहां बासमती धान नहीं लगाया जाता उस इलाके को मक्का लगाने में इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे पानी की भी बचत होगी। इसमें कुल 0.71 Crore cm पानी बचाया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें: मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल हरियाणा २०१९ किसान पंजीकरण

हरयाणा बीज योजना के लाभ-

Benefits of Haryana Beej Yojana (Seed Scheme) – बीज योजना से किसानो को होने वाले लाभ निम्न प्रकार से हैं:

  1. इस योजना में विभिन्न प्रकार की फसलें लगाई जाएंगी जिससे कि काफी फायदा होगा।
  2. इससे पानी की बचत होगी, भूमिगत जल के प्रदूषण में कमी आएगी। बिजली तथा ईंधन की बचत होगी।
  3. इसके अलावा मिट्टी की उर्वरता भी बेहतर होगी। साथ ही अगर चावल की जगह मक्का लगाया जाएगा तो उससे गेहूं की उपज में भी 10% की बढ़ोतरी होगी।
  4. मक्का 10 अक्टूबर तक कट कर दूसरी फसल लगाने का मौका दे देता है। जबकि धाम नवंबर में जाकर पकता है।
  5. राष्ट्रीय हरित ट्रिब्यूनल द्वारा इस योजना को काफी प्रोत्साहित भी किया गया है।
  6. इसके अलावा दूसरे राज्यों को यह सलाह भी दी गई है कि इस योजना पर विचार किया जाए।
  7. काफी जगह लोगों को राज्य में पीने का पानी भी नहीं मिल रहा। इस योजना के चलते पानी की बचत होगी और लोगों को पानी नसीब हो सकेगा।
मुख्यमंत्री बीज योजना हरियाणा पंजीकरण-

Haryana CM Beej Yojana Registration – यदि आप इस योजना में अपना पंजीकरण करवाना चाहते है। तो आपको नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

  • सबसे पहले आपको एग्रीकल्चर विभाग के आधिकारिक पोर्टल saralharyana.gov.in पर जाना होगा। पोर्टल पर जाने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें।

Haryana-AGRICULTURE-Dept-OFFICIAL-PORTAL 

  • यहां क्लिक करने पर आप इसके होम पेज पर पहुंच जाओगे। जहां आपको “New user ? Register here” पर क्लिक करना होगा।
Seed-Scheme-Haryana-Registration
Seed-Scheme-Haryana-Registration
  • New user ? Register here पर क्लिक करने के बाद, आपके सामने एक फॉर्म खुल जायेगा।
  • इस फॉर्म में आपको पूछी गयी सभी जानकारी भरनी होंगी। फिर आपको इसमें कैप्चा कोड भरना होगा।
Haryana-Beej-Yojana-2019-Registration-Form
Haryana-Beej-Yojana-2019-Registration-Form
  • सभी जानकारी भरने के बाद, अब आपको अंत में दिए गए “Validate” पर क्लिक करना होगा।
  • इसी के साथ आपका रजिस्ट्रेशन सफलता पूर्वक हो जायेगा।
  • अब आप पोर्टल में जाकर लॉगिन करके योजना के लिए आवेदन (Application) कर सकतें है।

यह भी पढ़ें: हरियाणा उद्योग मित्र योजना 2019 | ऑनलाइन आवेदन

दोस्तों, आपको हमारा आर्टिकल “हरियाणा मुख्यमंत्री बीज योजना (Haryana Mukhyamantri Beej Yojana 2019-20)” कैसा लगा? यदि आपको इससे जुडी कोई अन्य जानकारी या कोई सवाल पूछना हो। तो आप हमे नीचे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हो। हम जल्द ही आपकी सहयता करेंगे। और सभी सरकारी योजनाओ / प्रक्रियाओं की अधिक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट www.readermaster.com के साथ बने रहें। धनयवाद-

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top