[Registration] अंतरजातीय विवाह लाभ योजना राजस्थान 2020

Inter-Caste-Marriage-Benefits-Scheme-In-Rajasthan
Inter-Caste-Marriage-Benefits-Scheme-In-Rajasthan

Inter Caste Marriage Benefits Rajasthan 2020-: नमस्कार दोस्तों, आज आप हमारे आर्टिकल में “राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना (Rajasthan Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana) की जानकारी देंगे। अंतर्जातीय विवाह का मतलब होता है अलग-अलग जातियों में विवाह करना। और जैसा आप सभी जानते हैं कि आज के समाज में हर कोई अपने लिए खुद जीवन साथी ढूंढ रहा है चाहे वह इंटरकास्ट हो या अपने कास्ट में हो। अंतर्जातीय विवाह के बाद, कई बार दंपतियों को विपरीत परिस्थितियों में रहना पड़ता है। घर परिवार से भी दूर जाना पड़ता है। कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए राजस्थान की सरकार ने अंतरजातीय विवाह को प्रोत्साहन देने के लिए “राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना” का शुभारंभ किया है।

राजस्थान सरकार ने प्रदेशवासियों के लिए एक नई योजना की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत राजस्थान के नागरिकों को अंतर्जातीय विवाह करने पर उन्हें प्रोत्साहन के तौर पर आर्थिक सहयता प्रदान की जाएगी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य अंतरजातीय विवाह को बढ़ावा देना है। राजस्थान के नागरिकों को अंतर्जातीय विवाह करने पर उन्हें प्रोत्साहन के तौर पर एक मुश्त राशि प्रदान की जाएगी। राजस्थान सरकार प्रदेश के अंतरजातीय विवाह करने वाले नौजवानों को प्रोत्साहन राशि प्रदान करेगी। राजस्थान सरकार की तरफ से पाँच लाख रूपये की नगद राशि की आर्थिक मदद प्रदान की जाएगी।

अंतरजातीय विवाह लाभ योजना राजस्थान 2020

Antarjatiya Vivah Labh Yojana Rajasthan – युवा सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ अरुण चतुर्वेदी ने कहा कि इस योजना के तहत जारी की जाने वाली प्रोत्साहन राशि का शत प्रतिशत सदुपयोग को लेकर कड़े नियम भी बनाए गए हैं। ताकि इस योजना का लाभ सिर्फ पात्र व्यक्तियों को ही मिले। जिससे योजना अधिक से अधिक सफल हो सके। इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने वाले युवक अथवा युवती द्वारा किसी झूठे तथ्य या फर्जी दस्तावेज प्रस्तुत करने या किसी और प्रकार के तथ्यों को छुपाने पर विधिक कार्यवाही भी की जा सकती है। इसलिए जो भी दम्पति इंटर-कास्ट मैरिज स्कीम का लाभ उठाये उन्हें इन बातो का ध्यान रखना चाहिए।

योजना का नाम Inter-Caste Marriage Benefits Scheme
अन्य नाम डॉ. सविताबेन अम्बेडकर विवाह प्रोत्साहन योजना
लॉन्च सन 2013 में
योजना की शुरुआत सन 2017 में
लाभार्थी राज्य के अंतरजातीय विवाह करने वाले लोग
संबंधित विभाग सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण विभाग
अधिकारिक वेबसाइट https://sjms.rajasthan.gov.in/
राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत मिलने वाली राशि-

Amount Received under Inter-Caste Marriage Scheme Rajasthan – प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा अंतरजातीय विवाह करने वाले जोड़ों को प्रदान की जाने वाली निम्न प्रकार है।

  1. प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही डॉक्टर सविता बेन अंबेडकर Rajasthan Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana के अंतर्गत जोड़ों के जीवन को सुरक्षित करने के लिए पति-पत्नी दोनों को 5 लाख की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है।
  2. इनमें से 2.5 लाख रूपय में दोनों व्यक्तियों के संयुक्त खाते में 8 वर्ष के लिए फिक्स डिपॉजिट कर दिया जाता है।
  3. बाकी ढाई लाख रुपए जोड़ों के दांपत्य जीवन की शुरुआत करने के लिए आवश्यक घरेलू वस्तुओं की खरीद के लिए नगद संयुक्त बैंक खाते में प्रदान किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: राजस्थान जन्म प्रमाण पत्र | ऑनलाइन आवेदन फार्म

डॉ. सविता बेन अम्बेडकर विवाह प्रोत्साहन योजना की विशेषताएं-

Features of Dr. Savita Ben Ambedkar Marriage Incentive Scheme – राजस्थान का कोई भी वासी अगर अंतर्जातीय विवाह करता है तो उसको राजस्थान सरकार की तरफ से वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

  • राजस्थान अंतर जाति विवाह करने वाले जोड़ों को एकमुश्त धनराशि प्राप्त होगी। जिससे उन्हें अपने नये जीवन की शुरुआत करने में काफी सहायता प्राप्त होगी।
  • समाज द्वारा अंतरजातीय विवाह पर प्रतिबंध के कारण घर से भागने वाले विवाहित जोड़ों को सरकार द्वारा सुरक्षा प्राप्त होगी।
  • Inter Caste Marriage Scheme Rajasthan को इस लिए बनाया गया है ताकि समाज में किसी भी जाति का भेदभाव ना हो सके और समाज को एक समान बनाया जा सके।
  • यह योजना समाज में व्याप्त कुरीतियों को नष्ट करके समाज में समानता की भावना व्यक्त करना चाहती है।
  • इस योजना के अंतर्गत लड़के एवं लड़की के शादी कर लेने के बाद उनका बैंक में एक संयुक्त खाता खोला जायेगा। ताकि इस योजना में दी जाने वाली सहायता राशि उनके इसी संयुक्त बैंक खाते में जमा की जा सके।
अंतरजातीय विवाह लाभ योजना राजस्थान के लिए आवश्यक दस्तावेज-

Documents Required for Inter-Caste Marriage Benefits Scheme Rajasthan – अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन राजस्थान का लाभ लेने के लिए आवेदक जोड़े को निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी।

राजस्थान का स्थाई प्रमाण पत्र आधार कार्ड वोटर कार्ड
नवविवाहित जोड़े  का फोटो पैन कार्ड जाति प्रमाण पत्र
जन्म प्रमाण पत्र विवाह प्रमाण पत्र आय प्रमाण पत्र
राजस्थान इंटरकास्ट मैरिज योजना के लिए पात्रता मापदंड-

Eligibility Criteria for Inter-Caste Marriage Scheme Rajasthan – अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन राजस्थान का लाभ लेने के लिए आवेदक जोड़े को निम्नलिखित पात्रता मापदंड की आवश्यकता पड़ेगी।

  • आवेदनकर्ता राजस्थान का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आवेदन कर्ता की उम्र 35 वर्ष से अधिक ना हो।
  • जिनका विवाह हुआ वह किसी भी अपराधी मामले में सम्मिलित ना हो।
  • आवेदनकर्ता के पास उनके विवाह का प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है।
  • आवेदक कर्ता की सालाना वार्षिक आय ढाई लाख रुपए से अधिक ना हो।
  • जो इस योजना का लाभ उठाना चाहता है उसका विवाह पहली बार ही होना चाहिए।
  • विवाह होने के एक साल के भीतर अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन राशि के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री आवास योजना राजस्थान 2020-21 | ऑनलाइन पंजीकरण

अंतरजातीय विवाह लाभ योजना राजस्थान 2020 आवेदन/पंजीकरण प्रक्रिया-

Inter Caste Marriage Benefits Scheme Rajasthan 2020 Application/Registration Process – अगर आप राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के तहत आवेदन करना चाहते है। तो नीचे दी गयी जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

  • योजना में आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले इसकी आधिकारिक वेबसाइट में जाना होगा।
  • इसके लिए आप नीचे दिए लिंक की मदद से SJMS Portal में जा सकते हो।

Official Website: Inter-Caste-Marriage-Incentive-Scheme-Rajasthan

  • लिंक पर क्लिक करने के बाद, आपके सामने एक पेज ओपन होगा। यहां आपको “Redirect to SSO” का बटन दिखाई देगा, फिर आप उस पर क्लिक करें। जैसा नीचे चित्र में दर्शाया गया है:
Inter-Caste-Marriage-Incentive-Scheme-In-Rajasthan
Inter-Caste-Marriage-Incentive-Scheme-In-Rajasthan
  • अब आपको इसमें लॉग-इन करना होगा, यदि आप इस वेबसाइट में पहले यूजर हैं तो आप पहले इसमें खुद को रजिस्टर करें। इसके लिए आप “रजिस्टर” बटन पर क्लिक कर सकते हैं।
  • जब आप रजिस्टर कर जेंगे उसके बाद, आप अपने यूजर नेम और पासवर्ड के साथ इसमें लॉग इन करें।
  • फिर यहाँ आपको एक सूची दिखाई देगी जिसमे आपको एसजेएमएस (SJMS) पोर्टल पर क्लिक करना है।
इसे भी पढ़े => डॉ अंबेडकर फाउंडेशन अंतरजातीय विवाह योजना
  • अब आपको “राजस्थान अंतरजातीय प्रोत्साहन योजना” की लिंक दिखाई देगी उस पर क्लिक करें।
  • और फिर “Apply Online” बटन पर क्लिक करें। आपकी स्क्रीन पर आवेदन फॉर्म खुल जायेगा।
  • इसमें आप अपनी सभी आवश्यक जानकारी भरें और “Save & Next” बटन पर क्लिक कर दें।
  • सेव एंड नेक्स्ट पर क्लिक करते ही आपके सामने एक दस्तावेज अटैच करने का विकल्प आयेगा, जिसमें आपको अपने सभी दस्तावेज एवं अपने पार्टनर के साथ शादी वाली फोटो अपलोड करनी होगी।
  • यह सब हो जाने के बाद अंत में आप “Submit” बटन पर क्लिक कर दें।
  • फॉर्म सबमिट हो जाते ही, आपको आपका एप्लीकेशन नंबर प्राप्त हो जायेगा।जिसे आप अपने पास सुरक्षित करके रख लें।

नोट – Inter Caste Marriage Benefits Scheme Rajasthan सत्यापन की प्रक्रिया आवेदन फॉर्म जमा करने के बाद 1 महीने तक चल सकती हैं। जिला अधिकारी एवं संबंधित विभाग द्वारा आपके आवेदन की जाँच होगी। जब यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी तब आवेदकों को लाभ की राशि प्रदान कर दी जाएगी।

इसे भी पढ़ें: राजस्थान एसएसओ आईडी (SSO ID) ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रोसेस

प्रिय पाठकों, उम्मीद करते हैं की आपको हमारा आर्टिकल अंतरजातीय विवाह लाभ योजना राजस्थान 2020 (Inter Caste Marriage Benefits Rajasthan In Hindi) पसंद आया होगा। यदि आप योजना के पंजीकरण संबंधी जानकारी व अन्य कुछ भी पुछना चाहते है तो कमेंट बॉक्स मे पूछ सकते है। हम आपकी अवश्य ही सहायता करेंगे। राजस्थान व अन्य सभी राज्यों की सरकारी योजनाओ/प्रक्रियाओं अपडेट के लिए हमारे पेज www.readermaster.com के साथ बने रहें। धन्यवाद-
1 Comment
  1. Rekha bairwa says

    Meri love marriage Hui h mere papa mammi teyar ni the shadhi k liy ,,, vo ldka Meri hi same cast ka h Kya mujhe is yojana ka laabh milega

Leave A Reply

Your email address will not be published.