बाल श्रमिक विद्या योजना: कामकाजी नाबालिक बच्चों को सहायता

UP-Bal-Shramik-Vidhya-Yojana-In-Hindi
UP-Bal-Shramik-Vidhya-Yojana-In-Hindi

UP Bal Shramik Vidhya Yojana 2020-: नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से एक बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं। अभी हाल ही में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने “बाल श्रमिक विद्या योजना कंडीशनल कैश ट्रांसफर 2020 (BSVY)” शुरू की है। इस योजना के अंतर्गत कामकाजी नाबालिक बच्चों को 1000 रुपये से लेकर 1200 रुपये तक प्रतिमाह भत्ता दिया जायेगा। जैसे कि आप जानते ही है कि भारत एक विकासशील देश है। और यहां पर अमीरों से ज्यादा गरीबों की तादात ज्यादा है। ऐसे में गरीब परिवारों के छोटे-छोटे बच्चों को भी रोजगार प्राप्त करने के लिए घर से बाहर निकलना पड़ता है। लेकिन यह एक बहुत बड़ा दंडनीय अपराध है।

नाबालिक बच्चों से काम करवाना हमारे देश के कानून के खिलाफ है। पूरी दुनिया में 12 जून को बाल श्रम निषेध दिवस के रूप में मनाया जाता है, इसी दिवस के उपलक्ष्य में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने एक नई योजना ‘यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना’ के रूप में शुरू की है। इस योजना के अंतर्गत छोटे बच्चों को आर्थिक सहयोग दिया जाना है। इसके लिए सभी कामकाजी बच्चो को लाभार्थी सूची में नाम दर्ज करने हेतु पंजीयन करना होगा। UP Bal Shramik Vidhya Yojana की पूरी जानकारी नीचे खंड में देखें।

बाल श्रमिक विद्या योजना 2020 क्या है?

UP Bal Shramik Vidhya Yojana Details – अभी हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने “बाल श्रमिक विद्या योजना (Child Labor Education Scheme)” की घोषणा की है। इस योजना के अंतर्गत छोटे कामकाजी बच्चों को आर्थिक सहयोग दिया जाना है। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए नाबालिक बच्चों को पंजीयन करना होगा। जिसके बाद, उन्हें लाभार्थी सूची में डाल दिया जाएगा। इसके उपरांत ही उन्हें कंडीशनल कैश ट्रांसफर 2020 (BSVY) के तहत आर्थिक सहायता दी जाएगी।

योजना का नाम  बाल श्रमिक विद्या योजना
सम्बंधित राज्य  उत्तर प्रदेश
शुरू की गयी  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा
विभाग  श्रम विभाग
दिवस  बाल श्रम निषेध दिवस (12 जून)
लाभार्थी  बाल श्रमिक (नाबालिक बच्चे)
लाभ बालक – 1,000 रुपये प्रति माह
बालिका – 1,200 रुपये प्रति माह
8वी, 9वी एवं 10वी के विद्यार्थियों को 6 हजार रुपये
यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना का लाभ किसे मिलेगा?

जैसे कि आप जानते ही होंगे कि हमारे देश में न जाने कितने परिवार ऐसे है जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन करते हैं। ऐसे परिवारों के नाबालिक बच्चे अपनी शिक्षा पूरी न करके परिवार का हाथ बाटने हेतु कोई छोटा-मोटा काम कर लेते हैं। कई गरीब परिवारों की आर्थिक स्थिति इतनी खराब होती है कि उनके छोटे-छोटे बच्चों को कमाने के लिए बहार काम करना पड़ता है।

इस कारण वे सभी शिक्षा से वंचित रह जाते हैं। इस समस्या के समाधान हेतु उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ‘बाल श्रमिक विद्या योजना (Bal Shramik Vidhya Yojana)’ शुरू की गई है। इस योजना के अंतर्गत बच्चों को आर्थिक सहायता की जाएगी, जिससे उन्हें काम न करना पड़े। साथ ही उन्हें भी दूसरे बच्चों के साथ खेलने-कूदने और शिक्षा का अधिकार मिल सके।

उत्तर प्रदेश बाल विद्या योजना (आर्थिक सहायता राशि)-

Uttar Pradesh Bal Shramik Vidya Yojana (Financial Assistance Fund) – बाल श्रमिक विद्या योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा श्रमिक नाबालिक बच्चों को निम्न प्रकार से सहायता राशि दी जाएगी।

  • श्रमिक बालकों को 1,000 रुपये प्रतिमाह
  • एवं श्रमिक बालिकाओं को 1,200 रुपये प्रतिमाह
  • साथ ही योजना के अंतर्गत शिक्षा को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से आठवीं, नौवीं एवं दसवीं कक्षा में पढ़ रहे गरीब छात्र/छात्राओं को 6,000 रुपये की प्रोत्साहन राशि सरकार की तरफ से दी जाएगी।
Uttar-Pradesh-Bal-Sharamik-Vidya-Yojana-Notification
Uttar-Pradesh-Bal-Sharamik-Vidya-Yojana-Notification
Bal Shramik Vidya Yojana की कार्य प्रक्रिया क्या है?

उत्तर प्रदेश सरकार की बाल श्रमिक विद्या योजना को फिलहाल एक पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया गया है। इस तरह 13 मंडल के 20 जिलों में इसे शुरू किया गया है। अब तक इन जिलों से 2,000 बच्चों की लिस्ट बनाई गई है, जो कि बाल मजदूरी कर रहे हैं। यह आंकड़े 2011 की जनगणना सूची (SECC-2011) से लिए गए हैं।

बाल श्रमिक विद्या योजना की शुरुआत में लिए गए इन 20 जिलों में सबसे ज्यादा बाल श्रमिक (चाइल्ड लेबर) पाए गए हैं। इसीलिए इस योजना की शुरुआत इन 20 जिलों से की गई है। आगे इसे पूरे राज्य में शुरू किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: यूपी कौशल सतरंग स्कीम और युवा हब योजना 2020

यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना हेतु पात्रता शर्ते/नियम-

Eligibility Conditions for UP Bal Shramik Vidya Yojana – बाल श्रमिक योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में रहने वाले बाल श्रमिकों को ही लाभ प्राप्त होगा। इसके साथ ही निम्न नाबालिक बच्चों को योजना के तहत प्राथमिकता दी जाएगी:

  1. फिलहाल तय की गई 20 जिलों में कार्य करने वाले बाल श्रमिकों को इस योजना के अंतर्गत शामिल किया गया है।
  2. इस योजना के अंतर्गत 8 से 18 वर्ष के नाबालिक बच्चों को ही शामिल किया जाएगा।
  3. योजना के अंतर्गत जिन बच्चों के माता-पिता नहीं है या माता-पिता दोनों में से कोई एक नहीं है उन बच्चों को प्राथमिकता दी जाएगी।
  4. जिन बच्चों के माता-पिता दिव्यांग हैं या दोनों में से कोई एक दिव्यांग हैं, उन बच्चों को भी योजना के अंतर्गत प्राथमिकता दी जाएगी।
  5. बाल श्रमिक योजना के अंतर्गत उन बच्चों को भी प्राथमिकता दी जाएगी, जिनके माता-पिता किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं।

इसे भी पढ़ें: NREGA List – नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2020 डाउनलोड करें

UP बाल श्रमिक विद्या योजना 2020 आवेदन / पंजीयन प्रक्रिया-

Bal Shramik Vidhya Yojana के अंतर्गत अभी किसी भी प्रकार की ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन आवेदन / पंजीयन प्रक्रिया के बारे में उल्लेख नहीं किया गया है। फिलहाल केवल यह पता है कि 2011 की जनगणना के अनुसार लाभार्थियों की सूची तैयार की गई है। जिन्हें डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) सुविधा के जरिए बैंक में पैसा जमा करवाया जाएगा। जैसे ही हमे इस योजना के तहत ज्यादा जानकारी प्राप्त होगी तो हम उसे इस पोर्टल में अपडेट कर देंगे।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा उठाया गया कदम नि:संदेह काफी सराहनीय है। देश के समृद्ध विकास के लिए देश के सभी बच्चों को शिक्षा का अधिकार होना चाहिए। परन्तु देश में कई गरीब परिवार ऐसे हैं जिनकी आर्थिक स्थिति काफी दयनीय हैं। इसी स्थिति में कई नाबालिक बच्चों को पढाई छोड़कर काम करना पड़ता है। परन्तु Bal Shramik Yojana के लागू होने से कई बच्चों को लाभ मिलेगा।

इसे भी पढ़ें: सेवायोजन यूपी रोजगार मेला 2020 ऑनलाइन पंजीकरण

RM-Helpline-Team

Leave A Reply

Your email address will not be published.