Vivad Se Vishwas: विवाद से विश्वास योजना के लाभ एवं उद्देश्य

Vivad Se Vishwas Yojana 2020 In Hindi | Vivad Se Vishwas Yojna Application Process, Benefits & Objectives | विवाद से विश्वास योजना क्या है- आवेदन प्रक्रिया

Vivad-Se-Vishwas-Yojana-Details-In-Hindi
Vivad-Se-Vishwas-Yojana-Details-In-Hindi

Vivad Se Vishwas Yojana 2020: प्यारे दोस्तों, आज हम आपके लिए केन्द्रीय सरकार की “विवाद से विश्वास योजना (विवाद समाधान योजना)” की जानकारी लेके आएं हैं। आपको बता दें की “Vivad Samadhan Yojna” की शुरुआत केंद्रीय वित् मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने 1 फरवरी 2020 को केंद्रीय बजट पेश करते हुए प्रत्यक्ष करो से जुड़े मुकदमो को निपटाने के लिए की गयी है। देश भर में ऐसे लाखों व्यापारी हैं, जिनके ऊपर आयकर यानी इनकम टैक्स का कोई ना कोई विवाद जुड़ा है। किसी ने समय पर जुर्माने की राशि अदा नहीं की है तो किसी का ब्याज को लेकर विवाद चल रहा है।

हाल ही में केंद्र सरकार की ओर से पेश किए गए बजट में इस बार “Vivad Se Vishwas Yojana” का प्रावधान किया गया है। इस योजना के अंतर्गत करदाताओं के प्रत्यक्ष कर के विवादित टैक्स मामलों को निपटाया जायेगा। इस विवाद से विश्वास स्कीम 2020 के अंतर्गत करदाताओं को केवल विवादित करों की राशि का भुगतान ही करना होगा। इस रकम पर किसी तरह का ब्याज या दंड आदि आपको नहीं चुकाना होगा। विवाद समाधान योजना की योजना की अन्य सभी जानकारी पाने के लिए हमारे आर्टिकल को अंत तक ध्यान से पढ़ें।

Latest Update – कोरोना राहत पैकेज की दूसरी किस्त जारी: जानिए किसे क्या मिलेगा

विवाद से विश्वास योजना 2020 क्या है?

What is Vivad Se Vishwas Yojana – विवाद से विश्वास योजना 2020 से लाभ ऐसे करदाता प्रदान किया जायेगा, जिनका टैक्स को लेकर किसी फोरम में मुकदमा लंबित है। आयकर रिटर्न प्रक्रिया (IT Return Process) फेसलेस करने के बाद करदाताओं के लिए अपील करना भी आसान कर दिया है। इसके जरिये करदाताओं की किसी अपील पर उसकी पहचान उजागर नहीं की जाएगी। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से “Vivad Se Vishwas Yojana Income Tax” के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे है।

योजना का नाम विवाद से विश्वास योजना
इसके द्वारा शुरू की गयी है वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी द्वारा 
लॉन्च की तारीक 1 फरवरी, 2020
लाभार्थी आयकर-दाता
भुगतान की तारीक 30 जून, 2020
विवाद से विश्वास योजना 2020 का उद्देश्य-

Objectives of Vivad Se Vishwas Yojana 2020 – इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्रत्यक्ष कर भुगतानों में मुकदमेबाजी को कम करना है । वित् मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा शुरू की गयी विवाद से विश्वास योजना 2020 के तहत प्रत्यक्ष कर के विवादित टैक्स मामलों को निपटाने की व्यवस्था की गई। जिसमे करदाताओं को सिर्फ विवादित करों की राशि का भुगतान ही करना होगा और उन्हें टैक्स पर लगे ब्याज और दंड में पूरी छूट दी जाएगी। इस विवाद समाधान योजना (Vivad Samadhan Yojna 2020) के ज़रिये करदाता मुकदमें की कष्टदायक प्रक्रिया से राहत पा सकेंगे। इस योजना के जरिये करदाता और प्रशासन के बीच भरोसा बढ़ाने में मदद मिलेगी व करदाताओं का अधिकार स्पष्ट होगा।

इसे भी पढ़ें: एमएसएमई COVID-19 उद्योग लोन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

Vivad Samadhan के तहत कौन से मामले होंगे शामिल-

Which Cases will be included under the Vivad Se Vishwas Yojana – विवाद से विश्वास योजना के तहत विवादित टैक्स, ब्याज और पैनल्टी के साथ विवादित फीस के ऐसे मामले शामिल जाएंगे, जो 31 जनवरी 2020 तक लंबित हैं। इसके बाद वाले मामलों को इससे दूर रखा गया है। लेकिन जिस तरह के मामले इसमें शामिल किए गए हैं, उससे यह एक यह बात तो साफ है कि टैक्स विवाद की उलझन में उलझे एक बहुत बड़े वर्ग के लिए विवाद समाधान योजना लाभकारी साबित होने जा रही है।

इसे भी पढ़ें: KCC – किसान क्रेडिट कार्ड 2020 ऑनलाइन आवेदन करें

विवाद से विश्वास योजना के लाभ लेने की समय सीमा-

Deadline to take benefit of Vivad Se Vishwas Yojana – इस योजना के तहत करदाताओं को अपने टेक्स का भुगतान 31 मार्च 2020 तक करना होगा। अगर कोई करदाता इस विवाद से विश्वास योजना 2020 के तहत 31 मार्च 2020 के बाद भुगतान करता है, तो उन्हें कुछ अतिरिक्त राशि का भुगतान करना होगा। यह योजना 30 जून, 2020 तक जारी रहेगी। इसलिए सभी आयकर दाताये इस योजना का लाभ 30 जून 2020 तक उठा सकते है। वित्त मंत्री ने कहा कि विभिन्न अपीलीय मंचों यानी आयुक्त (अपील) आईटीएटी, उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय में प्रत्यक्ष कर संबंधी 4,83,000 मामले लंबित हैं। जिनका इस योजना के तहत समाधान किया जायेगा।

इसे भी देखें: आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत विशेष पैकेज की घोषणा

Vivad Se Vishwas Yojana 2020 आवेदन प्रक्रिया-

Vivad Samadhan Yojna Application Process – आपको इस योजना का लाभ कैसे मिल सकता है, यह जानने के लिए नीचे दी गयी प्रक्रिया को ध्यान से पढ़ें।

  • करदाता विवाद से विश्वास डेक्लेरेशन फॉर्म में सभी जरूरी जानकारियां भरकर जमा कराएं।
  • आयकर विभाग की ओर से 15 दिनों के भीतर प्रमाण पत्र जारी हो जाएगा, जिसमें योजना के तहत कुल देय राशि का खुलासा होगा।
  • करदाता को प्रमाण पत्र मिलने के 15 दिनों के भीतर उसमें बताई राशि जमा करानी होगी।
  • इसकी जानकारी एक तय फॉर्म में भरकर वापस आयकर विभाग के साथ साझा करनी होगी।
  • इसके बाद, करदाता को भुगतान किए जाने से संबंधित एक आदेश जारी कर दिया जाएगा।
  • यह आदेश पूरी तरह निर्णयात्मक होगा और इसे देश के किसी भी अदालत में किसी भी तरह से चुनौती नहीं दी जा सकेगी।

Income Tax Dept Official Website: https://www.incometaxindiaefiling.gov.in/

विवाद से विश्वास योजना में कौन शामिल नहीं है?

Who is not involved in the Vivad Se Vishwas Yojana – इस योजना से किस किस को बाहर रखा गया है, इसकी पूरी जानकारी निम्न प्रकार से हैं:

  1. जिस आय का खुलासा नहीं किया गया अथवा जो संपत्ति भारत से बाहर स्थित है। उन पर चल रहे कर विवादों में इससे कोई राहत नहीं मिलेगी।
  2. जिन मामलों में किसी निश्चित आंकलन वर्ष के लिए Forum या Court पहले ही फैसला सुना चुका है। उन्हें भी योजना का लाभ नहीं दिया जा सकेगा।
  3. साथ ही जिन लोगों के खिलाफ स्मगलिंग जैसे मामलों में हिरासत या गिरफ्तारी के आदेश जारी हो चुके हैं, उन्हें भी इस योजना का लाभ नहीं मिल सकेगा।
  4. जिन लोगों के विरुद्ध बेनामी संपत्ति के हस्तांतरण, धनशोधन, ड्रग्स या गैरकानूनी मामलों में कोई आदेश जारी किया गया है, उन्हें भी विवाद से विश्वास योजना (Vivad Samadhan Yojna) के तहत शामिल नहीं किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: वित्त वर्ष 2020-21 के लिए आयकर स्लैब और दरें: जाने पूरी जानकारी

प्रिय पाठकों, आशा करते हैं की आपको हमारा आर्टिकल “विवाद से विश्वास योजना (Vivad Se Vishwas Yojana 2020)” पसंद आया होगा। तो इसे अपने दोस्तों व सभी रिश्तेदारों के साथ शेयर करें। यदि आपको इससे संबंधित कोई अन्य जानकारी या कोई प्रश्न पूछने हों। तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिख भेजिए हम जल्द ही आपकी सहायता करेंगे। अन्य सभी सरकारी योजनाओं/ प्रक्रियाओं की सबसे पहले अपडेट पाने के लिए हमारी वेबसाइट www.readermaster.com के साथ जुड़े रहें। धन्यवाद-

Leave A Reply

Your email address will not be published.