UP Pravasi Job Yojana: यूपी प्रवासी श्रमिक जॉब योजना 2020

UP Pravasi Shramik Job Yojana In Hindi | Job Guarantee Rahat Mobile App for Migrant Workers | योगी सरकार द्वारा प्रवासियों को जॉब- 15000 रुपये वेतन गारंटी

UP-Pravasi-Shramik-Job-Yojana-In-Hindi
UP-Pravasi-Shramik-Job-Yojana-In-Hindi

UP Pravasi Shramik Job Yojana 2020-: नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से योगी सरकार द्वारा शुरू की गयी “यूपी प्रवासी श्रमिक जॉब योजना” की जानकारी देंगे। इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश सरकार घर लौटे 20 लाख प्रवासियों को जॉब देगी। जिसके तहत हर प्रवासी श्रमिक/मजदूर को 15,000 रुपये वेतन की गारंटी भी दी जाएगी। कोरोना वायरस (COVID-19) के महाप्रकोप के चलते भारत देश की आर्थिक व्यवस्था पर भी ताला लग गया है। जिसके चलते लाखों मजदूर बेरोजगार हो चुके हैं।

उनकी बेरोजगारी को ध्यान में रखते हुए ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने एक नया प्लान बना लिया है। जिसके तहत योगी सरकार लगभग 20 लाख से अधिक प्रवासी कामगार श्रमिकों को काम प्रदान करने की प्रक्रिया का संचालन करने वाले हैं।

जैसे कि आपको विदित होगा कि कोरोना वायरस महामारी से पुरे देश में लॉकडाउन लगा हुआ है। इस बीच कोरोना वायरस की चर्चा के दौरान अधिकारियों के बीच बैठक में योगी सरकार ने इस योजना का जिक्र किया और दिशानिर्देश बनाने का भी आदेश अधिकारियों को दे दिया है। नीचे हम आपको UP Pravasi Shramik Job Yojana 2020 | Job Guarantee Rahat Mobile App for Migrants Workers | योगी सरकार द्वारा प्रवासियों को जॉब- 15000 रुपये वेतन गारंटी की पूरी जानकारी प्रदान कर रहे हैं। कृपया इसके लिए इस आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें।

यूपी प्रवासी श्रमिक जॉब योजना क्या है?

What is UP Pravasi Shramik Job Yojana – जैसे कि हमने आपको ऊपर बताया कि देश में चल रहे कोरोना लॉकडाउन की वजह से सभी काम बंद पड़े हैं। इससे सबसे ज्यादा नुकसान गरीब प्रवासी श्रमिक/मजदूर/कामगारों को हो रही है, जो दिनभर काम करके रात में खाना खाते हैं। कई गरीब लोगों की नौकरी खतरे में आ गयी है क्योंकि कई कारखाने/फैक्ट्री देशव्यापी लॉकडाउन की वजह से बंद पड़े है। इसी को देखते हुए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार “प्रवासी श्रमिक जॉब रहत योजना” लेकर आयी है। जिसके तहत घर लौटे 20 लाख प्रवासियों को जॉब दी जाएगी और उन्हें 15,000 रुपये वेतन की गारंटी भी दी जाएगी।

लेबर रिफॉर्म कानून बनाने की तैयारी-

Preparations for making Labor Reform Law – उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अधिकारियों के बीच यह घोषणा की कि 5 लाख प्रवासी श्रमिक कामगार जो कोरोना की चुनौती से लड़ रहे हैं और बेरोजगार हो गए हैं। उन्हें लेबर रिफॉर्म कानून के जरिए उनके ही गांव और कस्बों में नौकरियों के साथ-साथ रोजगार देने की योजना का आरंभ कर दिया जाए। अधिकारियों को उन्होंने यह आदेश दे दिया है कि क्वॉरेंटाइन सेंटर में जाकर मजदूरों के अनुभव की पूछताछ करके एक लिस्ट तैयार कर ली जाए।

बहरहाल, अब तक लगभग 8 लाख के करीब प्रवासी श्रमिक/मजदूर और कामगार उत्तर प्रदेश पहुंच चुके हैं। हालांकि 35 ट्रेनें अब भी उत्तर प्रदेश की ओर जा रही हैं जो आज या कल तक पहुंच जाएंगे। जिसके बाद, इन प्रवासियों को नौकरी देना सरकार के लिए एक चुनौती होगी। अब देखना यह है कि योगी सरकार UP Pravasi Shramik Job Yojana के तहत कितने श्रमिकों और मजदूरों को नौकरी दे पाती है।

इसे भी देखें: MGNREGA Job Card List – मनरेगा जॉब कार्ड सूची की जाँच करें

योगी सरकार द्वारा 15 हजार वेतन की गारंटी-

Yogi Govt Guaranteed 15 Thousand Salary – मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए बेरोजगार प्रवासी कामगार श्रमिकों को लेबर रिफॉर्म के तहत नौकरियां प्रदान करने का कार्यक्रम आरंभ कर दिया है। उनका कहना है कि इस पहल से रोजगार सृजन की व्यापक संभावनाएं बढ़ने की उम्मीद है। इसके साथ ही अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ बनाने में भी यह योजना काफी कारगर होगी। मुख्यमंत्री द्वारा यह भी घोषणा की गई है कि लेबर रिफॉर्म के तहत जिन मजदूरों को काम दिया जाएगा। उन्हें लगभग 15,000 रुपये वेतन प्रति माह प्रदान किया जाएगा। साथ ही वे कितने घंटे काम करेंगे और उनकी सुरक्षा की पूरी गारंटी भी सरकार ने अपने कंधों पर ले ली है। इसके लिए सरकार ने UP Pravasi Job Yojana के तहत Migrant Job Guarantee Mobile App बनाने की बात भी कही है।

इसे भी देखें: यूपी प्रवासी मजदूर वापसी ऑनलाइन पंजीकरण हेल्पलाइन नंबर

महिला कामगार/श्रमिकों के लिए महिला सुरक्षा कानून-

Women Safety Act for Women Workers – सीएम योगी आदित्यनाथ जी द्वारा यह भी घोषणा की गई है कि महिला श्रमिकों के लिए महिला सुरक्षा कानून के तहत अलग व्यवस्थाएं की जाएंगी। नई इकाई के साथ ही पुरानी इकाइयों में भी बदलाव लाते हुए लेबर रिफॉर्म कानून लागू किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि महिला स्वयं सहायता समूह (SHGs) के लिए एक विशिष्ट स्तर पर प्रशिक्षण कार्यक्रम भी आरंभ किए जाएंगे। महिलाओं को अधिक भार वाले कामना ना सौंपते हुए मुख्यमंत्री ने डिटर्जेंट कारोबार के साथ-साथ इत्र, एग्री प्रोडक्ट्स, धूपबत्ती, अगरबत्ती, फूड पैकेजिंग के साथ-साथ गऊ आधारित कृषि के उत्पादों और फूल आधारित उत्पादों के साथ-साथ कंपोस्ट खाद आदि के कारोबार में महिलाओं को प्राथमिकता देने के लिए कहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा ऐसे निर्देश दिए गए हैं कि महिलाएं स्वयं सहायता समूह (SHG) के माध्यम से नौकरी अथवा रोजगार प्राप्त करें और साथ में उचित रोजगार की रणनीति भी बनाने में सहायता दें। उत्तर प्रदेश सरकार का फोकस कुछ इस प्रकार है कि वे रेडीमेड गारमेंट के साथ-साथ बड़े पैमाने पर व्यापार को आरंभ करना चाह रहे हैं। उत्तर प्रदेश सरकार का मुख्य उद्देश्य बड़े उद्योगों को बढ़ावा देते हुए छोटे और लघु उद्योगों को भी आगे बढ़ाना है।

उत्तर प्रदेश में नौकरी के नए रास्ते खुलेंगे-

New Job Avenues will open in Uttar Pradesh – प्रवासी श्रमिक/मजदूरों को योगी सरकार द्वारा उनकी क्षमता के अनुसार मनरेगा (MGNREGA), ईटों के भट्टो के अलावा चीनी मीलों और एमएसएमई (MSME) सेक्टरों में रोजगार देने की योजना सरकार द्वारा बनाई जा रही है। यदि किसी प्रवासी मजदूर में थोड़े से भी किसी बीमारी के लक्षण पाए जा रहे हैं, तो उन्हें तुरंत इलाज के लिए COVID-19 अस्पतालों में भेज दिया जाएगा। UP Pravasi Job Yojana के अंतर्गत सभी प्रवासियों को जॉब के साथ 15000 रुपये वेतन गारंटी भी दी जाएगी।

इसे भी पढ़ें: यूपी जनसुनवाई पोर्टल प्रवासी श्रमिक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

यूपी प्रवासी राहत मोबाइल एप्प डाउनलोड करें-

Download Migrant Rahat Mobile App under UP Pravasi Job Yojana – योगी सरकार ने देश के विभिन्न जगह से आये प्रवासियों के लिए एक स्पेशल एप्प लांच की है, इसमें सभी प्रवासियों की जानकारियां इक्कट्ठी की जाएगी। यूपी में प्रवासीयों का डाटा कलेक्ट कर उन्हें आगे भविष्य में कई फायदे दिए जायेंगे। प्रवासी अभी नौकरी छोडकर अपने गाँव शहर वापस आ गए है, अब उन्हें आगे रोजगार की समस्या है। आज की हालत को देखकर प्रवासियों का एक जगह से दूसरी जगह जाना आसान नहीं है। इसलिए योगी सरकार उनके गाँव/शहर में ही उनकी योग्यता के अनुसार नौकरी देगी।

राहत मोबाइल एप्प में प्रवासी की सभी पर्सनल जानकारी भी होगी, जिससे उन्हें नौकरी मिलने में आसानी होगी। उत्तर प्रदेश सरकार का उद्देश्य है कि सभी मजदूर को कम से कम 15 हजार वेतन दिया जाए, ताकि उनका जीवन-यापन अच्छे से हो सके। प्रदेश में पहुंचे सभी प्रवासी मजदूरों का क्वॉरेंटाइन काल पूरा होते ही उन्हें सरकार द्वारा रोजगार और नौकरी प्रदान कर दी जाएंगी। राहत एप्प में मोबाइल नंबर द्वारा रजिस्ट्रेशन होगा, ताकि वो यूनिक आईडी के द्वारा लोगों की पहचान हो सके।

Download: UP Pravasi  Job Yojana (Rahat Mobile App)

यह भी पढ़ें: स्पेशल ट्रेन – प्रवासी श्रमिक मजदूर ऑनलाइन पंजीयन (राज्यवार)

RM-Helpline-Team

2 Comments
  1. Ajay Kumar says

    My 10th pass mo9760505616

  2. Ajay Kumar says

    बस्ती यू पी हर्रैया
    राम शंकर विश्वकर्मा
    मो॰8054640475

Leave A Reply

Your email address will not be published.