यूपी प्रवासी श्रमिक/ मजदूर स्किल मैपिंग प्रथम सूची जारी 2021 | UP Migrant Workers Skill Mapping List

UP Migrant Workers Skill Mapping 1st List 2021 | उत्तर प्रदेश प्रवासी कामगार रोजगार लिस्ट कैसे देखे | Pravasi Shramik Rojgar Yojana List | यूपी प्रवासी श्रमिक स्किल मैपिंग प्रथम सूची

नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से “यूपी प्रवासी श्रमिक स्किल मैपिंग योजना 2021” की पूरी जानकारी देंगे। योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार ने गांवों में प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इस उद्देश्य के लिए, सीएम ने घोषणा की कि यूपी प्रवासी मजदूरों की स्किल मैपिंग की पहली सूची अब तैयार है। अन्य राज्यों से यूपी लौट रहे प्रवासियों के नाम अब यूपी के प्रवासी मजदूर स्किल मैपिंग 1st लिस्ट में दर्ज किए जा सकते हैं। इससे पहले, मुख्यमंत्री जी ने प्रवासियों के कौशल मानचित्रण के लिए प्रवासी राहत मित्र ऐप और एक नया यूपी राहत पोर्टल शुरू किया था। अब प्रत्येक प्रवासी श्रामिक को इंटर्नशिप, प्लेसमेंट और रोजगार के अवसर मिलेंगे।

मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में उल्लेख किया कि यूपी राज्य सरकार ने कौशल मानचित्रण के बाद प्रवासियों की पहली सूची तैयार की है। इसके अलावा, एक नए प्रवासी कल्याण आयोग के गठन की भी तैयारी शुरू कर दी गई है। योगी आदित्यनाथ प्रवासी श्रमिकों के लिए 2 प्रचलित रणनीति अपनाने जा रहे हैं। कौशल मानचित्रण के बाद, मुख्य ध्यान इंटर्नशिप प्रदान करने और फिर प्रवासी मजदूरों को नियुक्त करने पर होगा। नीचे हम आपको UP Migrant Workers Skill Mapping 1st List 2021 In Hindi | Check Pravasi Shramik Rojgar Yojana List | उत्तर प्रदेश प्रवासी श्रमिक रोजगार योजना लाभार्थी सूची की पूरी जानकारी की पूरी जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं। कृपया इसके लिए इस आर्टिकल को अंत तक ध्यान से पढ़ें।

UP-Migrant-Workers-Skill-Mapping-List-In-Hindi

यूपी प्रवासी श्रमिक/मजदूर स्किल मैपिंग प्रथम सूची जारी 2021

UP Migrant Workers Skill Mapping 1st List Relased – जैसे कि हमने आपको ऊपर बताया की उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने बहार राज्यों से आये प्रवासी श्रमिकों/मजदूरों/कामगारों के लिए “प्रवासी रोजगार/स्किल मैपिंग योजना” शुरू की है। इस योजना के तहत कोरोना लॉकडाउन की वजह से बहार राज्यों से आये प्रत्येक प्रवासी श्रामिक को इंटर्नशिप, प्लेसमेंट और रोजगार के अवसर मिलेंगे। प्रवासी मजदूरों की स्किल मैपिंग लिस्ट तैयार करने का मुख्य उद्देश्य राज्य में हर हाथ को रोजगार प्रदान करना है।

योजना का नाम यूपी प्रवासी श्रमिक रोजगार स्किल मैपिंग
लांच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा
उद्देश्य कोरोना संकट के दौरान प्रवासी श्रमिकों को रोजगार के अवसर प्रदान करना
लाभार्थी प्रवासी श्रमिक/मजदूर/कामगार
श्रमिक पंजीकरण जल्द ही शुरू
प्रवासी मजदूर स्किल मैपिंग 1st List जल्द ही उपलब्ध
सम्बंधित विभाग उत्तर प्रदेश श्रम विभाग
आधिकारिक वेबसाइट http://uplabour.gov.in/
मजदूर/श्रमिक कार्ड हेतु आवेदन यहाँ क्लिक करें

उत्तर प्रदेश प्रवासी मजदूरों की स्किल मैपिंग पहली सूची

UP Migrant Workers Skill Mapping 1st List – उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने एक नए श्रम (सेवायोजन और रोजगार) कल्याण बोर्ड के गठन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। अब तक, कोरोनो वायरस (COVID-19) लॉकडाउन में 24 लाख से अधिक प्रवासी मजदूर यूपी लौट आए हैं। प्रत्येक प्रवासी को तैयार यूपी प्रवासी श्रमिक कौशल मानचित्रण 1 सूची में अपने कौशल के अनुसार मैप किया गया है।

  • इस सूची में लगभग 14.75 प्रवासी श्रमिकों का नाम और कौशल मानचित्रण शामिल है और यह प्रक्रिया अभी भी जारी है, जिसे अगले 15 दिनों में पूरा किया जाना है।
  • सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को अपने कौशल के अनुसार प्रवासी मजदूरों को प्रशिक्षुता प्रदान करने का आदेश दिया है। साथ ही इंटर्नशिप के दौरान, प्रवासी श्रमिकों को एक वजीफा भी दिया जाएगा।
  • अधिकारियों को प्रवासियों को बीमा सुविधा प्रदान करने के लिए भी निर्देश मिले हैं। राज्य सरकार का मानना ​​है कि एमएसएमई क्षेत्र, वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट (ओडीओपी) योजना, और विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना में रोजगार के अवसर हैं।
  • अन्य राज्यों से लौटने वाले मजदूरों को सस्ती किराये की आवासीय योजना (Housing Scheme) के तहत कम कीमत पर किराये के आवास की सुविधा भी दी जाएगी।
  • यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि प्रवासी श्रमिकों के कौशल मानचित्रण के बाद की सूची राज्य सरकार द्वारा रखी गई है और बनाए रखी गई है और अभी तक जनता के लिए उपलब्ध नहीं है।

उत्तर प्रदेश में कौशल के आधार पर प्रवासियों के लिए काम

Work on the Basis of Skills to Migrants in Uttar Pradesh – प्रवासी मजदूरों का कौशल, श्रम और क्षमताएँ उत्तर प्रदेश राज्य की सेवा करेंगे और इसे आर्थिक महाशक्ति में बदल सकते हैं। इन प्रवासी श्रमिकों की क्षमताओं का उपयोग अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने वाले भौतिक बुनियादी ढांचे को बनाने में किया जा सकता है। यूपी सरकार चाहती है कि राज्य में अधिक से अधिक विनिर्माण इकाइयां स्थापित करके राज्य को आत्मनिर्भर (Self-Reliant) बनाया जाए।

इसे भी देखें: उत्तर प्रदेश विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2021 ऑनलाइन पजीकरण

प्रवासी श्रमिकों के लिए योगी सरकार की दो-तरफा रणनीति

Yogi Govt’s Two-Pronged Strategy for Migrant Workers – योगी आदित्यनाथ प्रवासी श्रमिकों के लिए 2 प्रचलित रणनीति अपनाने जा रहे हैं, जो इस प्रकार हैं:

  1. यूपी सरकार घर लौटने वाले श्रमिकों के लिए नौकरी खोजने में एक प्रवासी आयोग (Migrant Commission) की स्थापना करेगी।
  2. जो भी राज्य यूपी से मजदूरों का उपयोग करना चाहता है, उसे अब उत्तर प्रदेश राज्य सरकार से अनुमति लेनी होगी।

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए लगाए गए देशव्यापी लॉकडाउन के कारण दूसरे राज्यों में हफ्तों तक फंसे रहने के बाद लगभग 25 लाख प्रवासी, श्रमिक और उनके परिवार उत्तर प्रदेश लौट आए हैं। उत्तर प्रदेश सरकार श्रमिकों के लिए एक सुरक्षित और सम्मानजनक घर वापसी और उन्हें नौकरी और सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

इसे भी पढ़ें: योगी सरकार 1 हजार रुपये भरण-पोषण भत्ता प्रति दिहाड़ी मजदूर

प्रवासी श्रमिकों को इंटर्नशिप/ रोजगार प्रदान करने के लिए यूपी सरकार

UP Govt to Provide Internship/ Employment to Migrants – नियोजित प्रवासी आयोग निम्नलिखित बातों पर ध्यान देगा:

  • श्रमिकों के अधिकारों की रक्षा करना।
  • प्रवासी श्रमिकों के शोषण की रोकथाम।
  • बीमा सुविधा प्रदान करना।
  • श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा।
  • पुन: रोजगार सहायता।
  • बेरोजगारी भत्ते का प्रावधान।
  • सामाजिक-आर्थिक और कानूनी सहायता मजदूरों को सुनिश्चित करने के लिए एक ढांचे का निर्माण।

ये कार्यकर्ता उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े संसाधन हैं और यूपी सरकार उन्हें राज्य में ही रोजगार देगी। योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली यूपी सरकार नौकरी की सुरक्षा की गारंटी के आधार पर अन्य राज्यों को मानव शक्ति उपलब्ध कराएगी।

यह भी पढ़ें: UP Pravasi Job Yojana – यूपी प्रवासी श्रमिक जॉब योजना 2021

RM-Helpline-Team

11 thoughts on “यूपी प्रवासी श्रमिक/ मजदूर स्किल मैपिंग प्रथम सूची जारी 2021 | UP Migrant Workers Skill Mapping List”

    1. Sir,
      hum bhi ek garib parivaar se hu hme bhi rojgar ki sakt jarurt hai, taki apna parivaar chala saku.
      Main bhi Punjab se aaya hu ji
      Ranjeet Kumar (ranjeetkumar45496@gmail.com)

  1. प्रदीप कुमार तिवारी

    महोदय हम आपके उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले के करछना भुण्डा तिवारी का पुरा के निवासी हैं और कोविड 19 के दौरान पंजाब के लुधियाना में मजदुरी करते थे वहां से उत्तर प्रदेश सरकार के तरफ से वापस लौट आए हैं परन्तु इस समय पुर्ण रुप से बेरोजगार हो गए हैं अतः आपसे अनुरोध है कि आप मुझे अपने उत्तर प्रदेश में कही भी कोई रोजगार दिलाने की कृपा करें जिससे हम अपना और अपने परिवार के भरण-पोषण करने में सक्षम हो सके

  2. Sir hum bhi ek garib parivaar se hu hme bhi rojgar ki sakt jarurt h taki apna parivaar chala saku.
    Main bhi Punjab se aaya hu ji

  3. प्रदीप सिंह

    महोदय मैं उत्तर प्रदेश गोंडा belsar block ऐली परसोली का मूल निवासी हूं मैं दिल्ली के सदर बाजार में मजदूरी करता था करो ना के कारण मैं गांव चला गयाअतः आपसे से निवेदन है कि उत्तर प्रदेश में रोजगार प्रदान करने की कृपा करें

  4. Phoolchandra bind

    Mai bhi garib parivar sea hu mushe bhi rojgaar ki sakt jarurat hai taki apana parivar chala sake sir hamko maharastra sea aaye huye 3 manth ho Gaya hai sir kuch bhi nahi Mila Mera parivar bahut pareshan hai

  5. Sir hum Lucknow se hi hme bhi rojgar chahye is. Se pahle tilangana may tha is samay Lucknow May hon

  6. Sir mai BHI garib aadmi hoo Jo Bombay may job karta tha lockdown ki vajah say choot gai koi Kam gow may BHI Nahi mill Raha hai kripya Karkay madud kare

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top