India's Largest Hindi Information Website

प्रधानमंत्री मोदी ने 15 अगस्त 2018 को नाविक भारतीय नेविगेशन जीपीएस ऐप की घोषणा की | NAVIC Indian Navigation GPS App in Hindi

[Swadeshi GPS App] PM Modi Announces NAVIC Indian Navigation Global Positioning System on Independence Day | Check IRNSS Satellites Launched by ISRO

प्रधानमंत्री मोदी ने 15 अगस्त 2018 को नाविक भारतीय नेविगेशन जीपीएस ऐप-आईआरएनएसएस की घोषणा की, NAVIC Indian Navigation GPS App in Hindi, Swadeshi Global Positioning System, PM Modi Announces NAVIC Indian Navigation GPS App on Independence Day, Check IRNSS Satellites Launched by ISRO, Satellite Navigation ISRO, India’s Desi GPS ‘NavIC’ All Set To Navigate You, IRNSS GPS World, Made In India GPS, Indian Regional Navigation Satellite System, NavIC GPS App Navigator, Indian Desi GPS App

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 72 वें स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त 2018) की पूर्व संध्या पर “नाविक भारतीय नेविगेशन जीपीएस ऐप NAVIC Indian Navigation GPS App” को लॉन्च करने की घोषणा की है। आम नागरिकों और मछुआरों को निर्देश देने के लिए यह एक भारतीय क्षेत्रीय नेविगेशन उपग्रह प्रणाली (IRNSS- Indian Regional Navigation Satellite System) है। इसरो- भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO- Indian Space Research Organization) पूरे भारत और उसके पड़ोस में विश्वसनीय स्थिति, नेविगेशन और समय सेवाओं को प्रदान करने के लिए इस परियोजना पर काम कर रहा है। नाविक “भारतीय नक्षत्र के साथ नेविगेशन (Navigation with Indian Constellation)” के लिए खड़ा है जो उपयोगकर्ता को काफी अच्छी सटीकता प्रदान करेगा। महत्वपूर्ण वैश्विक अनुप्रयोगों के लिए यह जीपीएस- ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (GPS- Global Positioning System) एक आवश्यक घटक होगा। नाविक जीपीएस ऐप (IRNSS) एक स्वतंत्र क्षेत्रीय नेविगेशन उपग्रह प्रणाली (Independent Regional Navigation Satellite System) है जिसे भारत द्वारा विकसित किया जा रहा है।

भारतीय क्षेत्रीय नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम (IRNSS), NAVIC (“नाविक” या “नेविगेटर” संस्कृत, हिंदी और कई अन्य भारतीय भाषाओं के संचालन नाम के साथ और भारतीय नक्षत्र के साथ नेविगेशन के लिए भी खड़े हैं)। यह एक स्वायत्त क्षेत्रीय उपग्रह नेविगेशन प्रणाली (Autonomous Regional Satellite Navigation System) है जो सटीक वास्तविक समय की स्थिति और समय सेवाएं प्रदान करती है। इसमें भारत और एक क्षेत्र शामिल है जो इसके विस्तार के लिए योजनाओं के साथ 1,500 किमी (930 मील) तक फैला हुआ है। एक विस्तारित सेवा क्षेत्र प्राथमिक सेवा क्षेत्र और 30 वें समानांतर दक्षिण से 50 वें समांतर उत्तर से 30 मीटर मेरिडियन पूर्व में 30 वें मेरिडियन पूर्व, सीमाओं से 1,500-6,000 किमी के बीच एक आयताकार क्षेत्र के बीच स्थित है। वर्तमान में प्रणाली में सात उपग्रहों (7 Satellites) का एक नक्षत्र होता है, जिसमें जमीन पर दो अतिरिक्त उपग्रह स्टैंडबाय के रूप में होते हैं। 

और भी पढ़ें (Read Also): प्रधानमंत्री आवास योजना ऑनलाइन आवेदन पत्र और पंजीकरण (PMAY 2018 in Hindi), प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2.67 लाख से अधिक किफायती घर स्वीकृत (PM Urban Awas Yojana 2018) और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया (PM Fasal Bima Yojana-2018).

नाविक भारतीय नेविगेशन जीपीएस ऐप: आईआरएनएसएस सेवाएं (NAVIC Indian Navigation GPS App: IRNSS Services)

नाविक जीपीएस ऐप (IRNSS) मूल रूप से दो प्रकार की सेवाएं प्रदान करेगा जो निम्नानुसार हैं:

  • मानक पोजिशनिंग सेवा (Standard Positioning Service): – यह सभी उपयोगकर्ताओं के लिए है और अनुसंधान और विकास की सुविधा प्रदान करेगा और नेविगेशन-आधारित अनुप्रयोगों के लिए आईआरएनएसएस सिग्नल के वाणिज्यिक उपयोग में सहायता करेगा।
  • प्रतिबंधित सेवा (Restricted Service): – यह एक एन्क्रिप्टेड सेवा है जो केवल अधिकृत उपयोगकर्ताओं तक पहुंच योग्य है। यह आईआरएनएसएस प्रणाली 20 मिनट प्राथमिक सेवा क्षेत्र से बेहतर की स्थिति सटीकता प्रदान करेगी।

नाविक प्रणाली विशेष रूप से भारत में उपयोगकर्ताओं को सटीक स्थिति सूचना सेवा प्रदान करने के लिए डिज़ाइन की गई है। इस प्रणाली में कवरेज सीमा (Primary Service Area- प्राथमिक सेवा क्षेत्र) से 1500 किमी तक फैली हुई है।

आईआरएनएसएस के आवेदन: नाविक भारतीय नेविगेशन जीपीएस सिस्टम (Applications of IRNSS: NAVIC Indian Navigation GPS System)-

विभिन्न अनुप्रयोग जिनके लिए नाविक जीपीएस ऐप (Navigator) का उपयोग किया जा सकता है, निम्नानुसार हैं:

  • स्थलीय, हवाई और समुद्री नौसेना (Terrestrial, Aerial and Marine Navigation)
  • आपदा प्रबंधन गतिविधियों में उपयोग (Usage in Disaster Management Activities)
  • वाहनों और बेड़े प्रबंधन का ट्रैकिंग (Tracking of vehicles and fleet management)
  • मोबाइल फोन के साथ एकीकरण (Integration with mobile phones)
  • सटीक समय (Precise Timing)
  • मानचित्रण और भूगर्भीय डेटा कैप्चर (Mapping and Geodetic data capture)
  • यात्रियों के लिए स्थलीय नेविगेशन सहायता (Terrestrial navigation assistance for hikers and travellers)
  • ड्राइवरों के लिए दृश्य और आवाज नेविगेशन (Visual and voice navigation for drivers)

लोग इस ऐप का उपयोग “नेविगेटर (Navigator)” के रूप में कर सकते हैं जो पूरे भारत में किसी भी स्थान तक पहुंचने के लिए आवश्यक है। यह एक स्वदेशी जीपीएस प्रणाली (Swadeshi GPS System) है, जो पूरी तरह से हमारे वैज्ञानिकों द्वारा विकसित की जाती है। अब देश को एनएवीआईसी जीपीएस ऐप (NAVIC GPS App) में नेविगेशन सहायता के लिए अन्य देशों पर निर्भर नहीं होना पड़ेगा।

नाविक जीपीएस ऐप कार्यान्वयन: इसरो द्वारा शुरू किए गए आईआरएनएसएस उपग्रह (NAVIC GPS App Implementation: IRNSS Satellites Launched by ISRO)-

आज तक, इसरो (ISRO) ने आईआरएनएसएस श्रृंखला (IRNSS Series) में कुल 9 उपग्रह बनाये हैं, जिनमें से 8 उपग्रह कक्षा में हैं जबकि 1 लॉन्च में असफल है। 3 उपग्रह भूगर्भीय कक्षा (GEO) में हैं और 5 उपग्रह भूमध्य रेखा पर 29 डिग्री के झुकाव को बनाए रखने के लिए भू-समकालिक कक्षाओं (GSO) में हैं। कक्षा में वर्तमान मौजूद 8 उपग्रह (8 Satellites) इस प्रकार हैं:

सैटेलाइट का नाम (Name of Satellite लॉन्च तिथि (Launch Date)
आईआरएनएसएस 1 ए  2 जुलाई 2013
आईआरएनएसएस 1 बी  4 अप्रैल 2014
आईआरएनएसएस 1 सी  16 अक्टूबर 2014
आईआरएनएसएस 1 डी 28 मार्च 2015
आईआरएनएसएस 1 ई  20 जनवरी 2016
आईआरएनएसएस 1 एफ 10 मार्च 2016
आईआरएनएसएस 1 जी 28 अप्रैल 2016
आईआरएनएसएस 1 आई  12 अप्रैल 2018

नोट – पीएम मोदी ने आईआरएनएसएस नक्षत्र को “नाविक (NAVIC)” (भारतीय नक्षत्र के साथ नेविगेशन- Navigation with Indian Constellation) के रूप में नामित किया है और देश को आईआरएनएसएस 1जी (IRNSS 1G) उपग्रह समर्पित किया है। पीएसएलवी -39/आईआरएनएसएस 1एच (IRNSS 1H) अपने लॉन्च के दौरान असफल रहा है, इसलिए यह कक्षा तक नहीं पहुंच सका। नाविक जीपीएस ऐप (NAVIC GPS App) जल्द ही कार्यात्मक हो जाएगा और सभी मौजूदा जीपीएस सिस्टम को प्रतिस्थापित करेगा।

उपयोगकर्ता, यहां हमने आपको प्रधानमंत्री मोदी ने 15 अगस्त 2018 को नाविक भारतीय नेविगेशन जीपीएस ऐप-आईआरएनएसएस की घोषणा की (PM Modi Announces NAVIC Indian Navigation GPS App-IRNSS on August 15th, 2018) के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की है। यदि आपके पास इस लेख से संबंधित कोई प्रश्न है तो नीचे अपनी टिप्पणी सबमिट करें या इसे “अपना प्रश्न पूछें” अनुभाग पर छोड़ दें। हमारी वेबसाइट ReaderMaster.com (भारत की सबसे बड़ी ऑनलाइन विचार-विमर्श फोरम) में आने के लिए धन्यवाद, अधिक अपडेट के लिए बने रहें।
You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.