Republic Day 2022 In Hindi – 26 जनवरी 2022 को कौन सा गणतंत्र दिवस है

Republic Day 2022 In Hindi – 26 जनवरी 2022 को कौन सा गणतंत्र दिवस है और आखिर क्यों मनाया जाता है गणतंत्र दिवस से सम्बंधित सभी जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से आपके साथ साझा की जाएगी। आपको बता दें कि 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का सविधान लागू किया गया था। तब से प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। भारत में हर सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में बड़े उत्साह के साथ गणतंत्र दिवस को सेलेब्रेट किया जाता है। भारत के इतिहास में Republic Day का एक खास महत्व है क्योकिं भारतीय स्वतंत्रता से जुड़ी सभी संघर्षों के बारे में गणतंत्र दिवस में बताया जाता है।

गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में स्कूलों और कॉलेजों में भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से 26 जनवरी पर भाषण संबंधित सभी जानकारी प्रदान करेंगे। अगर आप भी रिपब्लिक डे के दिन भाषण प्रतियोगिताओं में भाग लेते है तो आप हमारे इस लेख के माध्यम से दी गयी जानकारी के अनुसार गणतंत्र दिवस भाषण को प्राप्त कर सकते है। कृपया आगे पढ़ना जारी रखें।

26 जनवरी क्यों मनाया जाता है गणतंत्र दिवस?

देश में हर साल गणतंत्र दिवस बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। 26 जनवरी 2022 को हम लोग अपना 73वें गणतंत्र दिवस मनाएंगे। पूरे देश को इस दिन का इंतजार रहता है। सरकारी और निजी प्रतिष्‍ठानों में धूमधाम से तिरंगा फहराया जाता है। शायद आपके मन में ये सवाल आता हो कि आखिर हम 26 जनवरी को रिपब्लिक डे क्यों मनाते हैं। यहाँ हम आपके लिए Republic Day 2022 से जुड़ी कुछ रोचक बातें लेकर आए हैं।

Happy-Republic-Day-Wishes-2022-Quotes

साल 1950 में भारत का संविधान लागू किया गया था। स्वतंत्र गणराज्य बनने और देश में कानून का राज स्थापित करने के लिए 26 नवंबर 1949 को संविधान सभा ने संविधान अपनाया था। २६ जनवरी १९५० को संविधान को लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ लागू किया गया यानी 2 साल 11 महीने और 18 दिन बाद संविधान लागू हुआ था। इस दिन भारत को पूर्ण गणतंत्र घोषित किया गया।

26 जनवरी 1930 को क्या हुआ था?

इस दिन पहली बार भारत का स्वतंत्रता दिवस मनाया गया था। 15 अगस्त 1947 को आजादी मिलने तक 26 जनवरी को ही स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता था। परन्तु 26 जनवरी 1930 को पूर्ण स्वराज घोषित करने की तारीख को महत्व देने के लिए 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू किया गया और उसके बाद से ही 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस घोषित किया गया।

पहली बार गणतंत्र दिवस 26 जनवरी 1950 को मनाया गया था। इस दिन भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने 21 तोपों की सलामी के साथ ध्वजारोहण किया था और भारत को पूर्ण गणतंत्र घोषित किया था। तब से हर साल 26 जनवरी को देश में गणतंत्र दिवस (Republic Day) मनाया जाता है।

इस साल कौन सा गणतंत्र दिवस है?

इस साल 26 जनवरी को हम अपना 73वां गणतंत्र दिवस (Republic Day) मनाएंगे। रिपब्लिक डे का कार्यक्रम 23 जनवरी यानी सुभाष चंद्र बोस जयंती से शुरू होगा, जबकि पिछले साल तक यह 24 जनवरी से शुरू होता था। वहीं, इस बार इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति नहीं जली होगी, क्योंकि इसका विलय राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (नेशनल वॉर मेमोरियल) में कर दिया गया है।

अगर आप भी 26 जनवरी 2022 पर शानदार भाषण हिंदी में देना चाहते हैं तो आगे पढ़ना जारी रखें। नीचे खंड में हम आपको Happy Republic Day Wishes 2022 Speech/ Quotes in Hindi में बता रहे हैं।

Republic Day 2022 Speech in Hindi PDF Download

Bal Diwas- बाल दिवस (Children’s Day) क्यों मनाया जाता है

26 जनवरी पर भाषण हिंदी में – 26 January Speech in Hindi

स्कूल कॉलेज में गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में भाषण प्रतियोगिता के लिए आप इस बेहतरीन भाषण को पढ़ कर प्रभावित कर सकते हैं।

आदरणीय प्रधानाचार्य जी मेरे सभी शिक्षक गण और मेरे प्यारे सहपाठियों !!!

जैसे की आप सभी को विदित होगा कि इस वर्ष भारत का 73वां गणतंत्र दिवस मनाया जा रहा है। आज मैं आपको रिपब्लिक डे से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी आपके साथ साझा करना चाहती हूँ।

26 जनवरी सन्न 1950 को देश का संविधान लागू किया गया था। उसी उपलक्ष में भारत देश के प्रत्येक नागरिक के द्वारा गणतंत्र दिवस को बड़े उत्साह और उमंग के साथ मनाया जाता है। गणतंत्र का अर्थ है जनता के द्वारा जनता के लिए शासन। 26 जनवरी 1950 को हमारे देश भारत को गणतंत्र देश के रूप में घोषित किया गया था। सभी भारतीय नागरिको के द्वारा यह दिवस बिना भेद-भाव के मनाया जाता है। हम सभी देश वासियों को भारत का नागरिक होने का गर्व है।

समाज में, हमारी अलग जाति, धर्म या कई अन्य चीजें हैं जो हमें अलग करती हैं। लेकिन इसकी एक व्यापक तस्वीर यह है कि हम सभी भारतीय हैं सभी भारतीयों के द्वारा एकजुट के रूप में गणतंत्र दिवस को मनाया जाता है। हमारे देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों के द्वारा जो अपने मेहनत और संघर्ष की आहुति दी गयी थी। उसके कारण ही भारत को पूर्ण स्वराज दिलाया गया। और इसी दिन हम पूर्ण रूप से स्वाधीन हो गए थे। उन सभी महान स्वतंत्रता सेनानियों के कारण ही आज सभी भारतीय नागरिक अपने देश में स्वतंत्रता के साथ जी रहें है।

हर तरफ देखो लग रहा
”जय हिन्द” का नारा है।
लिए तिरंगा हाथ में देश
झूम रहा आज सारा है
आओ की आया है ”राष्ट्र पर्व”
गणतंत्र हमारा है
नमन ”माँ भारती” तुझे
दिया राष्ट्र पर्व प्यारा है।
जय हिन्द

26 जनवरी 1950 को लार्ड माउन्ट बेटन (गवर्नर जरनल) के स्थान पर डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद जी को भारत के प्रथम राष्ट्रपति के रूप में चुना गया था। भारत वर्ष में यह दिवस बड़ी उत्साह और धूमधाम के साथ मनाया जाता है। हर साल भारत की राजधानी दिल्ली में भारत के उपराष्ट्रपति के जी के द्वारा राजकीय सवारी निकाली जाती है और भारतीय सेना जल थल और वायु सेना की राष्ट्पति जी के द्वारा सलामी ली जाती है।

भारत के अनेक प्रांतो के लोकनिर्त्य और वेषभूषाओं और संस्कृति का प्रदर्शन किया जाता है। यह देश की संप्रभुता की रक्षा के लिए लड़े युद्ध वा स्वतंत्रता आंदोलन में देश के लिए बलिदान देने वाले शहीदों के बलिदान का स्मारक है। कई वर्षों तक भारत के स्वतंत्रता सेनानियों के द्वारा ब्रिटिश शासन का सामना किया गया। जिसके फलस्वरूप देश को उनके चंगुल से आजाद कराया गया उनके इस बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता है।

जय हिन्द, जय भारत !!!

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top