India's Largest Hindi Information Website

Prime Minister Agricultural Irrigation Scheme-Pradhan Mantri Sinchai Yojana Information प्रधानमंत्री ग्राम सिंचाई योजना की विस्तृत जानकारी

प्रधानमंत्री ग्राम सिंचाई योजना की विस्तृत जानकारी  (Pradhan Mantri Gram Irrigation Scheme Details)

प्रधानमंत्री ग्राम सिंचाई योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 1 जुलाई 2015 को किया गया। प्रधानमंत्री जी इस योजना के तहत अन्य तीन मंत्रालय जैसे नदी विकास, जल संसाधन, ग्रामीण विकास मंत्रालय, गंगा पुनरुद्धार मंत्रालय तथा कृषि मंत्रालय की अन्य जल संसाधन, जल वितरण तथा भूमि जल संवर्धन एवं संचयन आदि कार्यो को इस योजना के तहत समल्लित किया गया है।

इस योजना के तहत पांच सालों 2015 से लेकर 2020 तक 50 हज़ार करोड़ रूपये की राशि का प्रावधान किया गया है। इस योजना के लिए शुरुवाती साल में 5300 करोड़ रूपये का आवंटन किया गया है। इस योजना के तहत केंद्रीय सरकार ने राज्य सरकार द्वारा हाथ मिलाया है।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत दोनों सरकारें एक साथ काम करेंगी। इस योजना के तहत विभिन्न राज्य के कृषि विभाग अपने राज्य के अंतराल काम करेंगे तथा इस योजना के तहत इस बात की पूरी खबर केंद्रीय सरकार के पास भी होगी। इस योजना के तहत केंद्रीय सरकार ने प्रत्येक राज्य के लिए अलग से फण्ड देने की बात कही है।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना का उद्देश्य प्रत्येक खेतों तक पानी पहुचना इसके लिए नदियों को साफ करना, कृषि योग्य क्षेत्र का विस्तार करना ताकि ज्यादा से ज्यादा फसल हो सके, सिंचाई में निवेश में एकरूपता लाना, आधुनिक सिंचाई प्रणाली तथा ड्रिप व स्प्रिंकलर जैसे कार्यक्रमों को लागु करना।

इस योजना को शुरू करने से किसानों को बहुत फायदा होगा जैसे की पानी की वजह से फसल ठीक से नहीं हो पाती जिसके कारण किसानों को भारी मात्रा में नुकसान होता है तथा भारत देश में ज्यादा से ज्यादा लोगों का रोज़गार भी कृषि पर निर्भर है। भारत देश में लगभग 14.2 करोड़ हेक्टेयर  कृषि योग्य ज़मीन में से 65 % में सिंचाई जैसे सुविधा उपलब्ध नहीं है।

इस योजना के तहत 75 % अनुदान केंद्र सरकार तथा 25 % अनुदान या खर्च  राज्य सरकार करेगी। इस योजना के तहत 90 % खर्च केंद्र सरकार देगी तथा 10 % राज्य सरकार देगी।  जिससे की कृषि की उन्नति के लिए बेहतर कार्य होंगे।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत किये जाने वाले काम (Prime Minister Agricultural Irrigation Scheme Work)

@=: इस योजना के तहत खेती करने वाली ज़मीन के पास ही जल स्त्रोत बनाया जाये या जल स्त्रोत को उससे बड़ा किया जाये।

@=: इस योजना के तहत किसानों यह बताया जाएँ की बारिश के पानी को कैसे इक्कठा किया जाएँ तथा कैसे उन पानी को सिंचाई के लिए उपयोग करे। जिसके तहत किसानों को सिंचाई के लिए अधिक से अधिक जल स्त्रोत किसानों को प्राप्त हो सके।

@=: इस योजना के तहत किसानों की अन्य नयी सोच को बढ़ाया जा सके तथा कृषि से जुड़े लोगो को इसकी पूरी इनफार्मेशन प्राप्त कराई जाये। जिसके तहत किसान अधिक से अधिक फसल की बुआई कर सकेंगे तथा किसान सिंचाई के लिए हर बार मानसून पर निर्भर नहीं रहेंगे।

@=: प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत आवंटन की और ध्यान देना तथा पानी का प्रबंध किया जाये तथा खेती के मुख्य क्षेत्रो जैसे उरासीन, एरी, जल मंदिर, कुहल, दोंग आदि जलाशय तथा पानी के भंडार को विकासशील बनाना। जिसके तहत सिंचाई में बढ़ोतरी की जा सके।

प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना के प्रमुख लक्ष्य (Prime Minister Major Goal Of Agricultural Irrigation Scheme)

@=: प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना का मुख्य उद्देश्य है की जो भी पानी बेकार जाता है उस पानी को रोक जाये।

@=: इस योजना के तहत प्रत्येक खेत को बेहतर ढंग से पानी प्राप्त हो।  

@=: इस योजना के तहत निवेश में एकरूपता लाना।

@=: इस योजना के तहत इस योजना को अच्छी तरह से लागू करने के लिए जिला समिति भी उपलब्ध होंगी।

@=: इस योजना के तहत भारत सरकार यह चाहती है की प्रधानमंत्री जी की इस योजना के तहत खेती के लिए ज़मीन को बढ़ाया जाये इस तभी संभव है जब किसानों को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध होगी।

@=: इस योजना के तहत राष्ट्रीय स्तर पर निगरानी प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में प्रत्येक सम्बंधित मंत्रालयों के मंत्रियों के साथ राष्ट्रीय संचालन समिति द्वारा की जाये।  

@=: प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत 75 % अनुदान केंद्र सरकार तथा 25 % अनुदान या खर्च राज्य मंत्री जिम्मेदार होंगे।   

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के लाभ (Prime Minister Of Agricultural Irrigation Scheme Benefits)

@=: प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत किसानों को सिंचाई के लिए बेहतर सुविधा उपलब्ध होगी।

@=: इस योजना के तहत किसानों को फसल के लिए जल उपलब्ध होगा तथा जिससे की फसल में भी बढ़ोतरी होगा।

@=: इस योजना के तहत किसानों को किसी भी वजह से नुक्सान नहीं पहुँचेगा।

@=: इस योजना के तहत किसानों को मानसून या सूखे का कोई खतरा नहीं रहेगा।

नीचे दिए हुए लिंक पर विज्ञप्ति पढ़ें =:

यहां पर क्लिक करें =: http://pib.nic.in/newsite/hindirelease.aspx?relid=34086

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.