[कोरोना लॉकडाउन] प्रवासी मजदूर और छात्र घर वापसी योजना

[Corona Lockdown] Pravasi Majdur & Chatra Ghar Wapsi Yojna 2020 | Pravasi Nagrik Yatra Yojana (State-wise) | प्रवासी नागरिक यात्रा योजना- राज्यवार विवरण

Pravasi-Nagrik-Ghar-Wapsi-Yojna-In-Hindi
Pravasi-Nagrik-Ghar-Wapsi-Yojna-In-Hindi

Pravasi Majdur & Chatra Ghar Wapsi Yojna 2020: नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से “कोरोना लॉकडाउन प्रवासी मजदूर और छात्र घर वापसी योजना” की जानकारी देंगे। जैसे कि आपको विदित होगा कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से देशभर में 40 दिन का लॉकडाउन किया गया है, जो इस आने वाली 3 मई को समाप्त होना था। परन्तु आज के हालातों को देख कर लगता है कि इस लॉकडाउन को और आगे बढ़ाया जायेगा। कई राज्य सरकारों ने तो इसकी आधिकारिक घोषणा भी कर दी है। अब सवाल यह उठता है कि इस कोरोना लॉकडाउन (तालाबंदी) में फंसे हजारों मजदूर और छात्र अपने घर कैसे पहुंचेंगे? इसके लिए सरकार क्या योजना बना रही है, इसी सवालों के जवाब जानने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक ध्यान से पढ़ें।

हमारे भारत देश में दिन-प्रतिदिन कोरोना का संकट विकराल रूप धारण करते हुए नजर आ रहा है और ऐसी परिस्थिति में लॉकडाउन 2 शुरू हो गया था। भारत देश में कोरोना के बढ़ते संकट को देखते हुए पहली बार 24 मार्च 2020 को पहला लॉकडाउन 21 दिन का था ,जो 14 अप्रैल को खत्म किया जाने वाला था। परंतु COVID-19 के बढ़ते संकट को नजर में रखते हुए इस 21 दिन के लॉकडाउन को 14 अप्रैल से 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है। लॉकडाउन को बढ़ाने की जानकारी स्वयं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने देश की जनता को दी। मगर लॉकडाउन को बढ़ाने के बाद से उन लोगों के लिए मुश्किलें बढ़ गई जो लोग अन्य राज्यों में फंसे हुए हैं। इनमें मुख्य रूप से प्रवासी श्रमिक/मजदुर और छात्र आते है, जो अन्य राज्यों में अभी तक फंसे हुए हैं।

कोरोना लॉकडाउन – प्रवासी मजदूर और छात्र घर वापसी योजना

Corona Lockdown: Pravasi Majdur & Chatra Ghar Wapsi Yojna – जैसे कि हमने आपको ऊपर बताया कि देशभर में लॉकडाउन बढ़ाने कि वजह से प्रवासी श्रमिक/मजदुर और छात्र परेशान हो रहे हैं, जो अभी तक दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं। देश में लॉकडाउन को बढ़ाने से भी कोरोना का संकट कम होने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसे में फंसे हुए लोगों को खाने, रहने एवं अपने दिनचर्या को बिताने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। लॉकडाउन में फंसे हुए लोगों ने सरकार से अपील की है कि उन्हें अपने-अपने घरों को वापस लौटने के लिए सरकार अनुमति दें और आवश्यक सुविधाएं शुरू करें। जिसके लिए हर राज्य सरकारें तरह-तरह की योजना बना रही है।

इसमें प्रमुख है- प्रवासी नागरिक घर वापसी योजना (Pravasi Nagrik Ghar Wapsi Yojna):

सरकार किस प्रकार से लॉकडाउन में फंसे हुए लोगों को वापस घर भेजेगी?

Pravasi Majdur & Chatra Ghar Wapsi Yojna – लॉकडाउन में फंसे हुए लोगों ने सरकार से की अपील की थी कि उन्हें अपने-अपने घरों को वापस लौटने के लिए आवश्यक सुविधाएं प्रदान की जाए और वह लोग सही सलामत अपने घरों को लौट सकें। सरकार ने सभी फंसे हुए लोगों की परेशानियों को समझते हुए गृह मंत्रालय की ओर से ऐसे लोगों को अपने-अपने राज्यों तक पहुंचाने के आदेश जारी किए हैं। जिसके लिए कई राज्य सरकारों ने प्रवासी नागरिक घर वापसी योजना शुरू की है।

इसे भी पढ़ें: पीएम किसान योजना के तहत पैसा नहीं आये तो कहाँ शिकायत करें

क्या है प्रवासी नागरिक (श्रमिक) घर वापसी योजना?

What is Pravasi Nagrik Ghar Wapsi Yojna – केंद्र सरकार ने सभी राज्यों और केंद्र शासित सरकारों को अपने क्षेत्रों में फंसे छात्र, प्रवासी मजदूर और पर्यटन सेनानी को निकालने के लिए अंतरराज्यीय यात्राएं शुरू करने का आदेश जारी कर दिया है। गृह मंत्रालय की ओर से मिलने वाली इस बढ़ी राहत में उन्होंने यह बताया है कि “सभी फंसे हुए व्यक्तियों को चिकित्सीय रूप से जांचा जाएगा और घर पहुंचने से पहले उन्हें क्वॉरेंटाइन किया जाएगा। गृह मंत्रालय ने केंद्र सरकार से बातचीत करके लोगों को घर जाने के लिए आवश्यक व्यवस्था और ट्रेन की सुविधाएं प्रदान करने का भी कहा है।”

बाहरी राज्यों में फंसे उत्तराखंड प्रवासी घर वापसी के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करें

Uttarakhand-Pravasi-Ghar-Wapsi-Yojna-Helpline-Numbers
Uttarakhand-Pravasi-Ghar-Wapsi-Yojna-Helpline-Numbers
कई राज्य सरकारें शुरू कर चुकी है- प्रवासी नागरिक घर वापसी योजना

Pravasi Nagrik Ghar Wapsi Yojna (State-Wise Details) – इस कड़ी में कोई राज्य सरकारें पहले से ही अपने राज्य के नागरिकों को निकालने में लगी हुए है। इसमें सबसे पहले उत्तर प्रदेश सरकार का नाम आता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने प्रदेश से बहार फंसे सभी प्रवासी मजदूरों और छात्रों को निकलवाने की मुहीम तेज कर दी है। सबसे पहले उन्होंने कोटा में फंसे छात्रों को उनके घर पहुंचाया। जिसके बाद, अन्य राज्य में फंसे मजदूरों और छात्रों को निकलवाने के प्रयास किये जा रहे हैं।

इसके साथ ही अन्य राज्य जैसे – उत्तराखंड, हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार और झारखण्ड सरकारें ने भी प्रवासी मजदुर/छात्र घर वापसी योजना (प्रवासी नागरिक यात्रा योजना) शुरू की है।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ प्रवासी मजदूर (श्रमिक) वापसी योजना ऑनलाइन पंजीयन

कोरोना लॉकडाउन में फंसे नागरिकों को बाहर निकालने के लिए दिशा-निर्देश-

Guidelines for evacuating civilians stranded in Corona Lockdown (Pravasi Nagrik Ghar Wapsi Yojna) – देश में लॉकडाउन खत्म होने की अंतिम तारीख 3 मई रखी गई है और इस बीच केंद्र और गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन में फंसे हुए लोगों को बाहर निकालने के लिए नई दिशा-निर्देश (गाइडलाइंस) जारी की है, जो इस निम्न प्रकार से है:

  1. भारत सरकार ने सभी राज्य एवं केंद्र शासित राज्यों में नोडल अधिकारियों की नियुक्ति करने का आदेश जारी किया है और उन अधिकारियों को सरकार द्वारा दिए गए सभी दिशा-निर्देशों का पालन करना आवश्यक होगा।
  2. लॉकडाउन में समूह के रूप में अलग राज्य में जो लोग फंसे हुए हैं, उन्हें अपने राज्य में वापस लौटने के लिए दोनों राज्य सरकारों से सहमति लेनी होगा। तभी प्रवासी नागरिक सड़क मार्ग से अपने घर को वापस जा सकते हैं।
  3. सरकार के आदेश अनुसार फंसे हुए व्यक्ति को वापस भेजने से पहले उसकी संपूर्ण रूप से स्क्रीनिंग की जाएगी और यदि वह पूरी तरह से स्वस्थ पाया जाता है, तो ही उन्हें वापस लौटने की मंजूरी दी जाएगी।
  4. लॉकडाउन में फंसे हुए प्रवासी मजदूर, यात्रियों और छात्रों के समूह को बस द्वारा ही भेजे जाने का प्रावधान है। सरकार ने सख्त आदेश दिए हैं कि बसों का भेजने के लिए इस्तेमाल करने से पहले सभी बसों को पूरी तरह से सैनिटाइज करवाना होगा।
  5. फंसे हुए लोगों के लिए नई गाइडलाइन के अनुसार सरकार यात्रा करने वाला सभी प्रवासी यात्री स्मार्टफोन का प्रयोग करता है तो उसके स्मार्टफोन के अंदर आरोग्य सेतु एप का होना आवश्यक होगा।
PMGKY – प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज 2020 | लॉकडाउन

सरकार ने यह भी सख्त आदेश दिया है कि जब कोई यात्री अपने गंतव्य स्थान पर पहुंच जाए। तो वहां के स्थानीय स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी होगी कि उस व्यक्ति की विशेष रूप से स्वास्थ्य की ट्रैकिंग की जाए। सरकार ने कहा है कि Arogya Setu Mobile App के जरिए यात्री को ट्रैक किया जाएगा।

कृपया ध्यान दें – यदि सरकार द्वारा जारी किए गए सभी निर्देशों का पालन किया जाता है तो लॉकडाउन में फंसा हुआ हर व्यक्ति अपने घर बड़ी ही आसानी से वापस लौट सकेगा। हम भी अपने पाठकों को सलाह देते हैं कि आप भी अपने फ़ोन में आरोग्य सेतु मोबाइल एप्प डाउनलोड करें और सरकार द्वारा दी गयी सभी दिशा-निर्देश का पालन करें। हम आपके अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं। धन्यवाद-

Aarogya Setu App Download for Coronavirus Updates

RM-Helpline-Team

16 Comments
  1. Shivajeet Singh says

    अहमदाबाद से उत्तर प्रदेश जाने के लिए कुछ जानकारी हो बताये ।रजिस्ट्रेशन कहाँ पर करवाये। ।धन्यवाद

    1. Helpline Dept says

      सभी प्रवासी श्रमिक/मजदूर और छात्र आधिकारिक वेबसाइट पर जा कर अपना पंजीकरण कर सकते हैं। जिसके बाद नागरिक ई-पास (e-Pass) लेकर अपने घर वापस आ सकते हैं। इसके साथ ही योगी सरकार ने UP Majdur Helpline Number जारी किये हैं, जिसकी मदद से मजदूर इन हेल्पलाइन नंबर में कॉल करके अपना पंजीकरण कर सकते हैं।

      अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें:

      उत्तर प्रदेश प्रवासी मजदूर वापसी ऑनलाइन पंजीकरण 2020

  2. Girdhari sahu says

    S/o दानी राम साहू 64 क्रमांक बैजलपुर बेमेतरा बैजलपुर बेमेतरा निनवा छत्तीसगढ़ 491335

    1. Helpline Dept says

      छत्तीसगढ़ सरकार ने अपने सभी प्रवासी श्रमिकों की मदद करने के लिए प्रवासी मजदूर घर वापसी (सहायता) योजना शुरू की है। इस योजना के तहत राज्य सरकार ने कुछ हेल्पलाइन नंबर जारी किये हैं जिसके जरिये छत्तीसगढ़ के ऐसे श्रमिक जोकि किसी दूसरे राज्य में फंसे हुए हैं, तो वे इस पर कॉल कर सकते हैं। छत्तीसगढ़ प्रवासी मजदूर (श्रमिक) घर वापसी ऑनलाइन पंजीयन की अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें:

      छत्तीसगढ़ प्रवासी मजदूर (श्रमिक) वापसी योजना ऑनलाइन पंजीयन

      धन्यवाद-
      टीम रीडरमास्टर

  3. Girdhari sahu says

    Baijlpur bemetra

  4. RUPESH KUMAR says

    up ke liye kaha se avedan karna hoga wapsi ke liye sir link bheje

  5. Deepak says

    Uttar Pradesh house back

  6. Khagesh maheshwari says

    Ghar wapsi ke li
    [email protected]

  7. sahmad alam says

    ahmedabad juhapura me fase hai ham ghar uapsi chabte hai bihar araria jilla

  8. Anil Kumar says

    श्रीमान योगी आदित्यनाथ मुझे घर जाना है मैं चंडीगढ़ में रहता हूं खाने के लिए कुछ भी नहीं है हम लोग को रीना से नहीं भूख से मर जाएंगे चंडीगढ़ का पिन कोड नंबर 16 ००36 सेक्टर 52 कृपया जल्द से जल्द मदद की जाए7814627674

  9. Abdul AFSAR Khan says

    Abdul afsar khan gujarat to up farrukhabad

  10. Mahtab begam says

    Mahtab began Gujarat to up farrukhabad

  11. Rajkumar says

    Main Apne gaon Jana chahta hun aur Gujarat mein phata hun mera help kijiye
    Jaunpur

  12. Rajkumar says

    Come back India

  13. Ram Asheesh says

    Humne Uttar Pradesh ghar wapsi ka online form Bhar Diya Hai sandrbh sankhya dalkar sthiti check kar rahe hain to pending dikha raha hai 5 tarikh ka form bhara Hua kab tak clear ho jaega Hamen bus kab tak Milegi Ham bahut Pareshan Hain Yogi kutta kya kar raha hai online Karva Diya madrachod bus kab bhejega Nahin bhejna tha to online Kyon karvaya bhosdi wale ne your Modi madarchod train bhi nahin chalu kar apni Maa chuda raha hai train band Karke apni bahan ke bhosdi mein dalega abhi Modi kutta lockdown lagakar Kyon apni man bahan Chuda raha hai khol de bhosdi ke Jo Marna Hoga Marenge

  14. Sanjay pal says

    U.p. Jana jai sad Kay a kare

Leave A Reply

Your email address will not be published.