प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना 2020-21: PM Garib Kalyan Rojgar Yojana Registration

PM Modi Garib Kalyan Rojgar Yojana In Hindi
PM Modi Garib Kalyan Rojgar Yojana In Hindi

PM Garib Kalyan Rojgar Yojana 2020-21: नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से “प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना” की जानकारी देंगे। पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने गरीब कल्याण रोजगार अभियान शुरू करने का फैसला किया है। नई बड़े पैमाने पर ग्रामीण सार्वजनिक कार्य योजना सशक्त और गांवों में रहने वाले प्रवासी श्रमिकों और नागरिकों को आजीविका के अवसर प्रदान करेगी। प्रधानमंत्री मोदी जी ने 20 जून 2020 को इस गरीब कल्याण योजना की शुरुआत करी है। सबसे पहले, बिहार के खगड़िया जिले के बेल्लौर, ब्लॉक – तेलीहर, गाँव से पीएम गरीब कल्याण रोज़गार अभियान शुरू किया जाएगा।

इसके अलावा, अन्य 5 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ-साथ संबंधित मंत्रालयों के केंद्रीय मंत्री भी पीएम गरीब कल्याण रोजगार योजना के वर्चुअल लॉन्च में भाग लेंगे। 6 राज्यों के 116 जिलों के गांव कॉमन सर्विस सेंटर और कृषि विज्ञान केंद्रों के माध्यम से इस कार्यक्रम में शामिल होंगे। यह CSCs और KVK कोरोनावायरस (COVID-19) महामारी के मद्देनजर सामाजिक दूरता मानदंडों को बनाए रखेगा। नीचे हम आपको PM Garib Kalyan Rojgar Yojana 2020-2021 In Hindi | PM Modi Launches Poor Welfare Employment Scheme for Migrant Workers | प्रवासी श्रमिक/मजदूर रोजगार योजना की पूरी जानकारी प्रदान कर रहे हैं। कृपया इसके लिए इस आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना 2021 विवरण

Pradhan Mantri Garib Kalyan Rojgar Yojana (PMGKRY) – जैसे कि हमने आपको ऊपर बताया की मोदी सरकार ने प्रवासी श्रमिक/मजदूर/कामगार के लिए गरीब कल्याण रोजगार योजना शुरू की है। इस योजना का उद्देश्य दूसरे राज्यों से वापस अपने प्रदेश आये प्रवासी नागरिकों को रोजगार प्रदान करना है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना का संक्षिप्त सारांश निम्न प्रकार से है।

अभियान का नाम प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना
शुरू की गयी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा
लॉन्च की तारीख 20 जून, 2020
अंतिम तिथि 22 अक्टूबर, 2020
अभियान की अवधि 125 दिन
भाग लेने के लिए मंत्रालयों की संख्या 12
मंत्रालयों का नाम ग्रामीण विकास, पंचायती राज, सड़क परिवहन और राजमार्ग, खान, पेयजल और स्वच्छता, पर्यावरण, रेलवे, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, नई और नवीकरणीय ऊर्जा, सीमा सड़कें, दूरसंचार और कृषि।
PMGKRY लागू करने के लिए राज्यों / जिलों की संख्या 6 राज्य और116 जिले, जिनमें 27 आकांक्षी जिले शामिल हैं।
राज्यों के नाम बिहार, यूपी, एमपी, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा
प्रमुख लाभार्थी COVID-19 लॉकडाउन और ग्रामीण नागरिकों के दौरान प्रवासी श्रमिक/नागरिक
पीएम गरीब कल्याण रोज़गार अभियान की लॉन्च और अंतिम तिथि-

PM Garib Kalyan Rojgar Abhiyan Launch & Last Date – पीएम गरीब कल्याण रोजगार योजना का आधिकारिक शुभारंभ 20 जून 2020 (शनिवार) को हुआ है। अभियान 125 दिनों का होगा और मिशन मोड में काम करेगा। तदनुसार, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान की अंतिम तिथि 22 अक्टूबर 2020 होगी। पीएमजीकेआरए ग्रामीण रोजगार अभियान में 25 प्रकार के कार्यों के गहन और केंद्रित कार्यान्वयन शामिल होंगे। प्रवासी श्रमिकों/नागरिकों को रोजगार का काम प्रदान करना मुख्य उद्देश्य है। इसके अलावा, सरकार देश के ग्रामीण क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे के निर्माण पर भी ध्यान केंद्रित करेगी।

PMGKRY के लिए संसाधन लिफाफा (बजट) 50,000 करोड़ रुपये का है।

इसे भी देखें: कोरोना वायरस प्रभावित लोगों के लिए केंद्र/राज्य सरकार की योजनाएं

PM गरीब कल्याण रोजगार अभियान में शामिल मंत्रालय / विभाग-

Ministries / Depts Involved in PM Garib Kalyan Rojgar Campaign – पीएम गरीब कल्याण रोजगार योजना 12 विभिन्न मंत्रालयों / विभागों के बीच एक समन्वित प्रयास होगा, जो इस प्रकार से हैं:

  1. ग्रामीण विकास (Rural Development)
  2. पंचायती राज (Panchayati Raj)
  3. सड़क परिवहन और राजमार्ग (Road Transport & Highways)
  4. खनन (Mines)
  5. पीने का पानी और स्वच्छता (Drinking-Water & Sanitation)
  6. वातावरण (Environment)
  7. रेलवे (Railways)
  8. पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस (Petroleum & Natural Gas)
  9. नई और नवीकरणीय ऊर्जा (New & Renewable Energy)
  10. सीमा सड़कें (Border Roads)
  11. दूरसंचार (Telecom)
  12. कृषि (Agriculture)
किस सेक्टर में काम किया जा सकता है-

PM Garib Kalyan Rojgar Yojana (Work Sector Details) – प्रवासी श्रमिकों, साथ ही बेरोजगार ग्रामीण युवाओं को निम्नलिखित क्षेत्रों में काम (रोजगार) मिलेगा:

  • कुओं का निर्माण
  • वृक्षारोपण गतिविधियों
  • बागवानी गतिविधियाँ
  • आंगनवाड़ी केंद्र
  • ग्रामीण आवास
  • ग्रामीण संपर्क
  • सीमा सड़क का काम
  • रेलवे का काम
  • श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन मिशन
  • पीएम कुसुम योजना
  • भारत नेट के तहत फाइबर ऑप्टिक केबल बिछाना।
  • जल जीवन मिशन के तहत काम करना।
  • सामुदायिक स्वच्छता परिसर।
  • ग्राम पंचायत भवन काम करना।
  • वित्त आयोग निधियों के तहत काम
  • राष्ट्रीय राजमार्ग काम
  • जल संरक्षण।
  • कटाई का काम करना।

नोट – वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने कहा कि जो लोग गांवों में लौट आए हैं, उन्हें आजीविका प्रदान करना पहली प्राथमिकता है। कोरोना लॉकडाउन की वजह से वापस अपने राज्य आये प्रवासी नागरिकों के लिए यह योजना निःसंदेह बहुत लाभदायक है। इससे पहले प्रधानमंत्री गरीब कल्याण आर्थिक पैकेज (Pradhan Mantri Garib Kalyan Package) की घोषणा की गयी थी।

PMGKRY कार्यान्वयन के लिए चुने गए राज्यों / जिलों की सूची-

List of States / Districts chosen for PMGKRA Implementation – 6 राज्यों में 25,000 से अधिक रिटर्न वाले प्रवासी श्रमिकों के साथ कुल 116 जिले (27 आकांक्षात्मक जिले शामिल हैं) को पीएमजीकेआरए कार्यान्वयन के लिए चुना गया है। इन राज्यों के नाम हैं बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा। इन चुने हुए जिलों में ऐसे प्रवासी श्रमिकों/मजदूरों के बारे में 2 / 3rd कवर करने का अनुमान है। PM Garib Kalyan Rojgar Yojna के अंतर्गत प्रवासियों के साथ-साथ बेरोजगार युवाओं को भी लाभ मिलेगा।

इससे पहले 5 मई 2020 को पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (PMGKY) की भी शुरुआत की थी। इस आर्थिक पैकेज में, लगभग 39 करोड़ लोगों ने COVID-19 लॉकडाउन के बीच 34,800 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता प्राप्त की है। इन लोगों को 26 मार्च को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा डिजिटल भुगतान अवसंरचना के माध्यम से घोषित सहायता प्राप्त हुई।

PM Garib Kalyan Rojgar Yojana अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)-
  1. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना क्या है?
    जैसा कि नाम से पता चलता है, पीएम गरीब कल्याण रोजगार योजना एक Garib Kalyan Rojgar Abhiyan है, जिसे स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किया है। चूंकि कोरोना वायरस के कारण गरीब लोग अपनी नौकरी और अपनी आजीविका के अवसरों को खो चुके हैं, इसलिए केंद्रीय सरकार अब ऐसे लोगों के लिए यह अभियान शुरू करेगी।
  2. पीएम गरीब कल्याण रोजगार योजना कब शुरू / समाप्त होगा?
    यह गरीब लोगों के लिए, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में, 125 दिनों का लंबा रोजगार अभियान है। शुरुआती रिपोर्टों के अनुसार, पीएम मोदी 20 जून 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस पीएम गरीब कल्याण रोजगार योजना का शुभारंभ करेंगे। अभियान 22 अक्टूबर 2020 को समाप्त होगा।
  3. PM रोजगार अभियान के प्रमुख लाभार्थी कौन हैं?
    COVID-19 लॉकडाउन के दौरान राज्यों में 116 जिलों (27 आकांक्षात्मक जिलों को मिलाकर) में लौटे लगभग 25,000 प्रवासी कामगार हैं और ग्रामीण नागरिक इसके प्रमुख लाभार्थी हैं।
  4. PMGKRY कार्यान्वयन के लिए राज्यों का नाम क्या है?
    जिन 6 राज्यों को पीएमजीकेआरए कार्यान्वयन के लिए चुना गया है, वे बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा हैं। इसके बाद, देश के अन्य राज्यों को भी शामिल किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: मोदी सरकार द्वारा गरीब लोगों को मुफ्त राशन/अन्ना योजना 2021

RM-Helpline-Team

6 thoughts on “प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना 2020-21: PM Garib Kalyan Rojgar Yojana Registration”

    1. PM Garib Kalyan Rojgar Abhiyan Yojana List – प्रवासी श्रमिक गरीब कल्याण रोजगार अभियान योजना के लिए गये 6 राज्यों के जिलों की लिस्ट निम्नलिखित रूप से है:
      Bihar => 32
      Uttar Pradesh => 31
      Madhya Pradesh => 24
      Rajasthan => 22
      Odisha => 4
      Jharkhand => 3

  1. इससे पहले 5 मई 2020 को पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (PMGKY) की भी शुरुआत की थी। इस आर्थिक पैकेज में, लगभग 39 करोड़ लोगों ने COVID-19 लॉकडाउन के बीच 34,800 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता प्राप्त की है। इन लोगों को 26 मार्च को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा डिजिटल भुगतान अवसंरचना के माध्यम से घोषित सहायता प्राप्त हुई।

    सवाल 1 अगर 5 मई 2020 सुरूआत की है ? तो 34800 करोड रुपये की सहायता 26 मार्च कैसे की?

  2. इससे पहले 5 मई 2020 को पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (PMGKY) की भी शुरुआत की थी। इस आर्थिक पैकेज में, लगभग 39 करोड़ लोगों ने COVID-19 लॉकडाउन के बीच 34,800 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता प्राप्त की है। इन लोगों को 26 मार्च को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा डिजिटल भुगतान अवसंरचना के माध्यम से घोषित सहायता प्राप्त हुई।

    सवाल 1 अगर 5 मई 2020 को सशूरूआत की है तो 39 करोड लोगो ने 34,800 करोड रुपये 26 मार्च के केस लिये?

  3. मोदी सरकार ने इस योजना की शुरुआत 6 राज्यों मैं आए प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने के लिए की है। सरकार ने योजना के तहत प्रवासी मजदूरों को उनकी कौशल के अनुसार उनके गांव के आसपास रोजगार प्रदान कर उनके कौशल का सम्मान करने का प्रयास किया है। इस योजना में प्रवासी मजदूरों को उनकी रूचि और कौशल के अनुसार साल में कुल 125 दिनों के लिए रोजगार प्रदान किया जाएगा।
    सरकार ने इस योजना की शुरुआत थी राज्यों की कुल 116 जिलों के लिए की है। जिसमें बिहार, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश ओडिशा, राजस्थान और झारखंड के जिले शामिल किए गए हैं। सरकारी आंकड़ों के अनुसार इन जिलों में करीब 88 लाख प्रवासी मजदूर दूसरे राज्यों से लौटे हैं।

  4. प्रधानमंत्री ने शनिवार को प्रवासी मजदूरों को उनके अपने गांव में आजीविका उपलब्ध कराने के लिए 50,000 करोड़ रूपये के गरीब कल्याण योजना को लांच किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करके बिहार के खगड़िया जिले के बेलदौर प्रखंड के तेली हर गांव से इस योजना को लांच किया। इस योजना में छह राज्यों के 116 जिले शामिल हैं। इनमे राजस्थान, मध्य प्रदेश, झारखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार और ओडिशा को शामिल किया गया हैं। प्रत्येक जिले में कम से कम 25,000 मजदूर इस अभियान में शामिल होंगे। इस तरह से लगभग एक तिहाई प्रवासी मजदूरों को इस अभियान का लाभ मिलेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top