[MSY] मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना 2020 ऑनलाइन आवेदन करें

Mukhyamantri Swarojgar Yojana Apply Online | Uttarakhand CM Self-Employment Scheme Registration | उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार लोन योजना ऑनलाइन पंजीकरण

MSY-Mukhyamantri-Swarojgar-Yojana-In-Hindi
MSY-Mukhyamantri-Swarojgar-Yojana-In-Hindi

Mukhyamantri Swarojgar Yojana Uttarakhand 2020-: नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से उत्तराखंड सरकार द्वारा शुरू की गयी “मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना (MSY)” की जानकारी देंगे। अभी हाल ही में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी ने बहार से आये प्रवासी नागरिकों/श्रमिकों के लिए ‘स्वरोजगार योजना’ की घोषणा की थी। जिसके लिए आज 02/06/2020 को आधिकारिक वेबसाइट msy.uk.gov.in लांच की है। राज्य के सभी बेरोजगार प्रवासी नागरिक इस पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन करके लोन प्राप्त कर सकते हैं।

गौरतलब है कि उत्तराखण्ड के ऐसे उद्यमशील युवाओं/प्रवासियों नागरिक, जो COVID-19 के कारण अपने राज्य में वापस आये हैं, इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत कुशल एवं अकुशल दस्तकारों एवं हस्तशिल्पियों तथा शिक्षित शहरी व ग्रामीण बेरोजगारों आदि को कवर किया जाएगा। इस योजना के तहत लाभार्थी व्यक्ति स्वयं के उद्योग / व्यवसाय की स्थापना हेतु राष्ट्रीयकृत / अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों, राज्य सहकारी बैंकों / क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के माध्यम से ऋण प्राप्त कर सकता है। नीचे हम आपको Uttarakhand Mukhyamantri Swarojgar Yojana ऑनलाइन आवेदन/पंजीकरण से जुड़ी सभी जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं। कृपया इसके लिए इस आर्टिकल को अंत तक ध्यान से पढ़ें।

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना (MSY 2020)

Mukhyamantri Swarojgar Yojana का उद्देश्य उत्तराखंड राज्य के ऐसे उद्यमशील युवाओं, प्रवासियों, जो कोरोना लॉकडाउन के कारण राज्य में वापस आये हैं, कुशल एवं अकुशल दस्तकारों एवं हस्तशिल्पियों तथा शिक्षित शहरी व ग्रामीण बेरोजगारों आदि को अभिप्रेरित कर स्वयं के उद्यम / व्यवसाय की स्थापना हेतु प्रोत्साहित करना है। इस योजना के अंतर्गत ऐसे उद्यमशील युवा, जो राज्य के मूल अथवा स्थायी निवासी हैं और स्वरोजगार करना चाहते हैं, उन्हें स्वरोजगार के लिए प्रेरित करना है। इसके साथ ही उन्हें स्वयं के उद्यम, सेवा एवं व्यवसाय को प्रारम्भ करने हेतु राष्ट्रीयकृत बैंकों / अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों / सहकारी बैंकों के माध्यम से ऋण सुविधा उपलब्ध कराना है। ताकि उद्यमशील व्यक्ति / युवा अपना स्वयं का रोजगार प्रारम्भ कर सके। योजना के मुख्य उद्देश्य निम्न प्रकार से हैं:

  1. स्वरोजगार हेतु नये सेवा, व्यवसाय तथा सूक्ष्म उद्योगों की स्थापना कर ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में रोजगार के अवसरों का सृजन।
  2. युवा उद्यमियों, उत्तराखण्ड के ऐसे प्रवासियों, जो COVID-19 Lockdown के कारण अपने राज्य में वापस आये हैं, कुशल व अकुशल दस्तकारों / हस्तशिल्पियों तथा शिक्षित शहरी व ग्रामीण बेरोजगारों को यथासम्भव उनके आवासीय स्थल के पास रोजगार के अवसर सुलभ कराना।
  3. पर्वतीय व ग्रामीण क्षेत्रों से नौकरी की खोज में होने वाले पलायन को रोकना।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना की पात्रता शर्ते-
  1. आवेदक व्यक्ति की आयु आवेदन के समय कम-से-कम 18 वर्ष होनी चाहिए।
  2. शैक्षिक योग्यता की बाध्यता नहीं है।
  3. योजना के अंतर्गत उद्योग सेवा एवं व्यवसाय क्षेत्र में वित्त पोषण सुविधा उपलब्ध होगी।
  4. आवेदक या इकाई किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक / वित्तीय संस्था / सहकारी बैंक या संस्था इत्यादि का डिफाल्टर नहीं होना चाहिए।
  5. आवेदक द्वारा विगत 5 वर्ष के भीतर भारत सरकार अथवा राज्य सरकार द्वारा संचालित किसी अन्य स्वरोजगार योजना का पूर्व में लाभ प्राप्त नहीं किया होना चाहिए।
  6. किन्तु यदि किसी आवेदक द्वारा 5 वर्ष पूर्व भारत सरकार या राज्य सरकार की किसी अन्य स्वरोजगार योजना में लाभ प्राप्त किया गया और वह डिफाल्टर नहीं है, तो वह अपने उद्यम के विस्तार के लिए योजनान्तर्गत वित्त पोषण प्राप्त कर सकता है।
  7. आवेदक अथवा उसके परिवार के किसी एक सदस्य को योजना के तहत केवल एक बार ही लाभान्वित किया जाएगा।
  8. आवेदक द्वारा पात्रता की शतों को पूर्ण किये जाने के सम्बन्ध में शपथ पत्र प्रस्तुत किया जाना होगा।

Note – विशेष श्रेणी (अनुसूचित जाति/जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, भूतपूर्व सैनिक, महिला एवं दिव्यांगजन) के लाभार्थियों के लाभ हेतु सक्षम प्राधिकारी विशेष श्रेणी द्वारा निर्गत प्रमाण पत्रों की प्रमाणित प्रति आवेदन पत्र के साथ संलग्न करना अनिवार्य होगा। लाभार्थियों का चयन अधिक आवेदन प्राप्त होने पर व्यवहार्यता देखते हुए “पहले आयें पहले पायें” के आधार पर किया जाएगा।

इसे भी देखें: उत्तराखंड रोजगार दाता योजना 2020 पंजीकरण फॉर्म

Uttarakhand Mukhyamantri Swarojgar Yojana हेतु आवश्यक दस्तावेज-
  1. विस्तृत परियोजना रिपोर्ट
  2. जन्म तिथि का प्रमाण
  3. शैक्षिक योग्यता का प्रमाण (यदि कोई हो)
  4. जाति प्रमाण पत्र (यदि लागू हो)
  5. दिव्यांग श्रेणी प्रमाण पत्र (यदि लागू हो)
  6. उत्तराखंड का अधिवास प्रमाण पत्र
  7. राशन कार्ड की प्रमाणित प्रति
  8. शपथ पत्र (Affidavit)

कार्ययोजना – ऐसे उद्यमशील युवाओं/युवतियों, जो कोरोना लॉकडाउन की वजह से उत्तराखण्ड राज्य में वापस आये हैं, कुशल एवं अकुशल दस्तकारों एवं हस्तशिल्पियों तथा शिक्षित शहरी व ग्रामीण बेरोजगारों को स्वरोजगार की ओर अभिप्रेरित करना है। साथ ही उन्हें आवश्यक मार्ग-दर्शन देकर विभिन्न स्वरोजगार एवं उद्यम स्थापना से सम्बन्धित सभी योजनाओं की जानकारी उपलब्ध कराने तथा संचालित योजना के अंतर्गत लाभान्वित करने की विशेष व्यवस्था जिला उद्योग केन्द्रों के माध्यम से की जाएगी।

Download: MSY-Affidavit-Format-PDF

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना 2020 ऑनलाइन आवेदन करें-

Mukhyamantri Swarojgar Yojana Apply Online – उत्तराखंड स्वरोजगार योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन/पंजीकरण करने हेतु पात्र युवा आवेदक को नीचे दिए स्टेप्स को फॉलो करना होगा:

Mukhyamantri-Swarojgar-Yojana-MSY-Online-Registration
Mukhyamantri-Swarojgar-Yojana-MSY-Online-Registration
  1. सर्वप्रथम, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना (MSY) की आधिकारिक वेबसाइट https://msy.uk.gov.in/ पर जाएये।
  2. वेब होमपेज पर, ‘पंजीकरण करें’ लिंक पर क्लिक करें।
  3. उसके बाद, अपना खाता (Account) बनाये। जिसके लिए आपको अपना ईमेल, पासवर्ड, नाम, पैन कार्ड नंबर, आधार नंबर, पता, जिला, मोबाइल नंबर आदि दर्ज करना होगा।
  4. पोर्टल में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के लिए ‘Register’ बटन में क्लिक कर दे।
  5. इसके बाद, आपको अपने मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी ‘यूजर नेम और पासवर्ड’ प्राप्त हो जाएगा।
  6. अब ‘आवेदन के लिए यहाँ क्लिक करें’ लिंक में क्लिक करके पोर्टल में लॉगिन करें।

लॉग-इन करने के बाद, आप Mukhyamantri Swarojgar Yojana (MSY) का ऑनलाइन आवेदन फॉर्म भर सकते हो। जिसके बाद, आपको सम्बंधित बैंक पर जाकर आवश्यक दस्तावेजों के साथ अपना भर हुआ आवेदन फॉर्म और शपथ पत्र जमा करना होगा। बैंक द्वारा आपके आवेदन की पुष्टि होने के बाद, आपको मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत लोन मिल जाएगा।

इसे भी पढ़ें: उत्तराखंड किसान पेंशन योजना | ऑनलाइन आवेदन फॉर्म

Mukhyamantri Swarojgar Yojana 2020 ऋण एवं अनुदान-
  • मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत राष्ट्रीयकृत बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, राज्य सहकारी बैंकों व अन्य शिड्यूल्ड बैंकों के माध्यम से सभी पात्र विनिर्माणक, सेवा व व्यवसायिक गतिविधियों की स्थापना के लिए वित्त पोषण किया जाएगा। तथा उक्त के सापेक्ष सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग द्वारा योजनान्तर्गत मार्जिन मनी की धनराशि अनुदान के रूप में उपलब्ध करायी जायेगी। विनिर्माणक क्षेत्र के उद्यम के लिए परियोजना की अधिकतम लागत 25 लाख रुपये तथा सेवा व व्यवसाय क्षेत्र के लिए अधिकतम लागत 10 लाख रुपये होगी।
  • Mukhyamantri Swarojgar Yojana के तहत MSME नीति 2015 (यथासंशोधित, 2016, 2018 व 2019) में वर्गीकृत श्रेणी ए में मार्जिन मनी की अधिकतम सीमा व मात्रा कुल परियोजना लागत का 25% (विनिर्माणक गतिविधि के लिए अधिकतम 6.25 लाख रुपये तथा सेवा व व्यावसायिक गतिविधि के लिए 2.50 लाख रुपये), श्रेणी बी व बी+ में कुल परियोजना लागत का 20% (विनिर्माणक गतिविधि के लिए अधिकतम 5 लाख रुपये तथा सेवा व व्यावसायिक गतिविधि के लिए 2 लाख रुपये) तथा श्रेणी सी व डी में कुल परियोजना लागत का 15% (विनिर्माणक गतिविधि के लिए अधिकतम 3.75 लाख रुपये तथा सेवा व व्यवसायिक गतिविधि के लिए 1.50 लाख रुपये), उक्त में से जो भी कम हो, मार्जिन मनी के रूप में देय होगी।
  • उद्यम के 2 वर्ष तक सफल संचालन के उपरान्त मार्जिन मनी अनुदान के रूप में समायोजित की जायेगी।
  • सामान्य श्रेणी के लाभार्थियों द्वारा परियोजना लागत का 10 प्रतिशत स्वयं के अंशदान के रूप में बैंक में जमा करना होगा। विशेष श्रेणी (अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, भूतपूर्व सैनिक, महिला एवं दिव्यांगजन) के लाभार्थियों को कुल परियोजना लागत का 5% स्वयं के अंशदान के रूप में जमा करना होगा।

CMRY Portal: https://investuttarakhand.com/cmryuk/

इसे भी पढ़ें: दीनदयाल अंत्योदय योजना 2020 | राष्ट्रीय आजीविका मिशन

RM-Helpline-Team

Leave A Reply

Your email address will not be published.