मप्र रोजगार सेतु योजना 2020 ऑनलाइन आवेदन/पंजीकरण

MP-Pravasi-Rojgar-Setu-Yojana-In-Hindi
MP-Pravasi-Rojgar-Setu-Yojana-In-Hindi

MP Rojgar Setu Yojana 2020-: नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से मध्य प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गयी “मप्र रोजगार सेतु योजना” की जानकारी देंगे। कोरोना लॉकडाउन की वजह से बहुत से प्रवासी श्रमिक/मजदूर/कामगार अपने राज्य वापस आये है। अब उनके पास रोजगार की समस्या है। इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी ने प्रदेश में कुशल प्रवासी मजदूरों/कामगारों को उनके कौशल के अनुरूप उद्योगों, नियोजनों, निर्माण कार्यों आदि में कार्य देने के लिये ‘रोजगार सेतु योजना’ प्रारंभ की है। इस प्रकार की योजना बनाने वाला मध्य प्रदेश देश का पहला राज्य है। योजना के अंतर्गत प्रत्येक ग्राम पंचायत में कुशल प्रवासी मजदूरों के सर्वेक्षण का कार्य भी प्रारंभ कर दिया गया है।

गौरतलब ही कि सर्वेक्षण के दौरान प्रत्येक ग्राम पंचायत में आये प्रवासी श्रमिकों/मजदूरों के संबंध में उनके कौशल सहित अन्य जानकारी एकत्रित की जा रही है। वहीं दूसरी ओर उद्योगों, कारखानों, नियोजनों आदि से जानकारी एकत्रित की जा रही है कि उन्हें किस कौशल के मजदूरों की आवश्यकता है। इस प्रकार एक रोजगार सेतु का निर्माण किया जा रहा है। जिसके माध्यम से कुशल मजदूरों को उनके कौशल के अनुसार कार्य मिल सकेगा। वहीं उद्योगों, नियोजनों, निर्माण कार्यों के लिये कुशल श्रमिक आसानी से उपलब्ध हो सकेंगे। नीचे हम आपको MP Rojgar Setu Yojana 2020 Online Application/Registration | Migrant Workers Employment Scheme | मध्य प्रदेश प्रवासी श्रमिकों/मजदूरों के लिए रोजगार योजना की पूरी जानकारी प्रदान कर रहे हैं। कृपया अंत तक बने रहें।

मप्र रोजगार सेतु योजना 2020 क्या है?

MP Rojgar Setu Yojana Details – मप्र रोजगार सेतु योजना को मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा प्रवासी मजदूरों/कामगारों को रोजगार प्राप्त करने के लिए शुरू किया गया है। इस योजना के तहत जो प्रवासी श्रमिक/मजदूर दूसरे राज्यों से वापस अपने राज्य में लोट कर आये हैं। उन्हें राज्य सरकार द्वारा रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए प्रवासियों का एक कौशल रजिस्टर तैयार किया जाएगा, जिसके माध्यम से प्रवासियों को उनके अनुसार रोजगार प्रदान किया जाएगा।

योजना का नाम  मप्र रोजगार सेतु योजना
शुरू की गयी  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी द्वारा
आरंभिक वर्ष  जून 2020
लाभार्थी  प्रवासी श्रमिक/मजदूर/कामगार
उद्देश्य  प्रवासियों को रोजगार उपलब्ध करना
हेल्पलाइन नंबर  (0755) 2555-530
आधिकारिक वेबसाइट http://shramiksewa.mp.gov.in/
श्रमिक कार्ड  यहाँ क्लिक करें
रोजगार सेतु योजना मध्य प्रदेश के उद्देश्य-

Objective of Rojgar Setu Yojna Madhya Pradesh – मध्य प्रदेश रोजगार सेतु योजना का मुख्य उद्देश्य अपने राज्य वापस आये प्रवासी श्रमिकों/मजदूरों को उनकी योग्यता के आधार पर रोजगार मुहैया करना है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए सभी श्रमिकों को MP Rojgar Setu Yojana के तहत आवेदन करना होगा। इन प्रवासी श्रमिकों की सूची को 27 मई से बनाया जा रहा है, जिसके लिए पंजीकरण का कार्य भी शुरू कर दिया गया है।

जल्द ही सभी प्रवासी मजदूर रोजगार सेतु पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म भरकर आवेदन कर सकेंगे। विदित है कि कोरोना लॉकडाउन के कारण देश के दूसरे राज्यों में कार्य करने वाले 5 लाख से अधिक प्रवासी श्रमिक/मजदूर/कामगार मध्य प्रदेश लौटे हैं। इस योजना के तहत मजदूरों को उनकी योग्यता के अनुसार रोजगार उपलब्ध करा कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जाएगा। ताकि वो भविष्य में अपने ही राज्य में अपनी योग्यता अनुसार रोजगार पा सके।

एमपी रोजगार सेतु योजना की मुख्य विशेषताएं-

Key Features of MP Rojgar Setu Yojana – रोजगार सेतु योजना का लाभ उन प्रवासी श्रमिकों/मजदूरों/कामगारों को प्रदान किया जाएगा, जो अन्य दूसरे राज्य से वापस अपने राज्य में लौट कर आये हैं। इस योजना की की मुख्य विशेषताएं निम्न प्रकार से हैं:
मध्य प्रदेश के इन प्रवासी श्रमिकों/मजदूरों को रोजगार के अवसर प्रदान किये जायेंगे।

  • सभी लाभार्थियों को रोजगार सेतु योजना के तहत उनकी योग्यता के आधार पर सरकार द्वारा रोजगार मुहैया कराया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए मध्य प्रदेश के प्रवासी श्रमिक या मजदूर ही आवेदन कर सकते हैं।
  • मुख्यमंत्री रोजगार सेतु योजना के लाभार्थियों को मनरेगा (MGNREGA) के तहत रोजगार मिलेगा।
  • इस योजना के जरिये वापस आये प्रवासी श्रमिकों/मजदूरों की आर्थिक स्थिति को सुधारा जाएगा।
  • सभी कुशल प्रवासी श्रमिकों को खुद को पंजीकृत करने के लिए रोजगार सेतु योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म भरना होगा।
  • रोजगार सेतु पोर्टल पर मौजूद जानकारी में व्यक्तिगत विवरण, शैक्षिक योग्यता, कौशल, पहले की नौकरी, पिछले वेतन, पिछले नियोक्ताओं, मासिक वेतन और प्रवासियों के काम करने के इच्छुक क्षेत्र शामिल होंगे।
  • गौरतलब ही कि कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच लगभग 6.5 लाख प्रवासी कर्मचारी मध्य प्रदेश लौट आए हैं। उम्मीद है कि लगभग 13 लाख प्रवासी मजदूर अपने राज्य में वापस लौट आएंगे।
Rojgar Setu Yojana के तहत कौशल क्षेत्र सूची-

रोजगार सेतु योजना के तहत मध्य प्रदेश के जिन कौशल क्षेत्रों को कवर किया जाएगा या जिन प्रवासी श्रमिकों/मजदूरों को रोजगार प्रदान किया जाएगा। उसकी पूरी सूची निम्न प्रकार से है:

  • भवन और अन्य निर्माण श्रमिक
  • ईंट भट्ठा खनन मजदूर
  • कपड़ा उद्योग श्रमिक
  • फैक्टरी वर्कर/कामगार
  • कृषि और संबद्ध गतिविधियाँ
  • अन्य प्राइवेट सेक्टर्स

इसे भी देखें: दीनदयाल अंत्योदय योजना 2020 | राष्ट्रीय आजीविका मिशन

मुख्यमंत्री रोजगार सेतु योजना के लिए पात्रता और जरुरी दस्तावेज-

Eligibility & Required Documents for the Mukhyamantri Rojgar Setu Yojana – इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक के पास निम्नलिखित योग्यता (पात्रता) होनी चाहिए।

  • आवेदनकर्ता मध्य प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए।
  • इसके साथ ही वह प्रवासी श्रमिक/मजदूर/कामगार होना चाहिए और वर्तमान में बेरोजगार होना चाहिए।
  • उसके पास श्रमिक कार्ड या समग्र आईडी कार्ड दोनों में से एक होना अनिवार्य है।
  • साथ ही निम्नलिखित दस्तावेज होने भी आवश्यक है:
  1. पासपोर्ट साइज फोटो (Passport-size Photo)
  2. आधार कार्ड (Aadhaar Card)
  3. निवास प्रमाण पत्र (Residence Certificate)
  4. श्रमिक कार्ड (Labor Card)
  5. मोबाइल नंबर (Mobile Number)

इसे भी पढ़ें: पीएम स्वनिधि – रेहड़ी पटरी एवं सड़क विक्रेता ऋण योजना

MP Rojgar Setu Yojana 2020 ऑनलाइन आवेदन/पंजीकरण प्रक्रिया-

मध्य प्रदेश के सभी इच्छुक और पात्र प्रवासी श्रमिकों/मजदूरों को ‘रोजगार सेतु योजना’ का लाभ उठाने के लिए नीचे दी गयी आवेदन/पंजीकरण प्रक्रिया को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ना होगा:

  1. रोजगार सेतु योजना के तहत सरकार द्वारा मुख्यमंत्री प्रवासी श्रमिक पोर्टल (Pravasi Shramik Portal) लांच की गयी है। इस पोर्टल के माध्यम से प्रवासी श्रमिक योजना हेतु पंजीयन फॉर्म आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।
  2. जिन प्रवासी मजदूरों के पास Samagra ID Card नहीं है, तो पहले मप्र समग्र पोर्टल पर जाकर आईडी जनरेट करें। इसके बाद ही इन श्रमिकों का सर्वे, सत्यापन एवं पंजीयन कार्य पोर्टल पर समग्र आईडी का उल्लेख करते हुए सुनिश्चित किया जाएगा।
  3. इसके बाद, जारी दिशा-निर्देश अनुसार, पोर्टल पर समग्र आईडी तथा आधार कार्ड नंबर अंकित किया जाना अनिवार्य होगा। सर्वे, सत्यापन और पंजीयन उन्हीं श्रमिकों का किया जाएगा। जो ‘मुख्यमंत्री जन-कल्याण (संबल) योजना’ अथवा ‘भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल’ में पंजीकरण की पात्रता रखते हैं।
  4. पात्र प्रवासी श्रमिकों/मजदूरों से निर्धारित सर्वे फार्म में जानकारी प्राप्त कर 3 जून 2020 के पहले पोर्टल पर अपलोड किए जाना तथा सर्वे फार्म को रिकार्ड में सुरक्षित रखे जाने के निर्देश दिए गए हैं। ग्राम पंचायत के सचिव तथा नगरीय क्षेत्रों में वार्ड प्रभारी सर्वे फार्म भरने में आवेदक की सहायता सुनिश्चित करेंगे।
  5. जिला कलेक्टर के मार्गदर्शन में यह सारी कार्यवाही की जाएगी। ग्रामीण क्षेत्र के लिये मुख्य कार्यपालन अधिकारी, नगरीय क्षेत्र के लिए मुख्य नगरपालिका अधिकारी तथा नगर निगमों में निगम आयुक्त द्वारा अधिकृत अधिकारी होंगे।

Madhya Pradesh Shramik Sewa App

Download: MP Rojgar Setu Yojana Form PDF

यह भी पढ़ें: PM आत्मनिर्भर भारत लोन योजना ऑनलाइन आवेदन करें

RM-Helpline-Team

1 Comment
  1. ram kailash gupta says

    i am very poor man

Leave A Reply

Your email address will not be published.