हरियाणा सरकार द्वारा गरीब लड़कियों की आर्थिक मदद के लिए उच्च शिक्षा ऋण योजना

¶¶ हरियाणा सरकार द्वारा गरीब लड़कियों की आर्थिक मदद के लिए उच्च शिक्षा ऋण योजना ¶¶

हरियाणा सरकार ने पूरे राज्य में निर्धन लड़कियों के लिए शिक्षा के उद्देश्य से एक योजना को आरम्भ किया है जिस योजना का नाम उच्च शिक्षा ऋण योजना रखा गया है. इस योजना के प्रारम्भ होने से उन लड़कियों को मदद मिलेगी जो धन की कमी होने के कारण अपनी पढाई पूरी नहीं कर पाती है. इस योजना से इन लड़कियों की आर्थिक मदद की जाएगी, जिससे ये लड़किया अपनी पढाई पूरी कर सके.
इस योजना का संचालन महिला विकास निगम प्राधिकरण हरियाणा द्वारा किया जायेगा. हरियाणा सरकार इस योजना (उच्च शिक्षा ऋण योजना) जरुरत मंद छात्रों को आर्थिक सहायता में मदद करेगी जिससे की प्रत्येक छात्राओं को उच्च शिक्षा मिल सके.
पिछड़े वर्ग तथा आर्थिक रूप से कमजोर छात्राओं को इस योजना से आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया जायेगा, इस योजना से उन छात्रओं को मदद मिलेगी जो धन के अभाव के कारण पढाई में पीछे रह जाती है, और अपने लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाती है इस योजना के लागू होने से सभी छात्राएं स्वतंत्र होकर पढाई पूरी कर सकेगी और अपने करियर के लक्ष्य को प्राप्त कर सकेगी . उच्च शिक्षा के लिए ऋण प्रतिवर्ष केवल ५% ब्याज की दर से लिया जायेगा.

⇒ हरियाणा राज्य सरकार ने उच्च शिक्षा ऋण योजना के लिए निम्न शर्ते रखी है जो इस प्रकार है:
  1. स्थाई रूप से आवेदक हरियाणा का होना चाहिए.
  2. कम से कम छात्रा इंटरमीडिएट होनी चाहिए.
  3. हरियाणा राज्य की लड़कियां ही उच्च शिक्षा योजना का लाभ ले सकती है.
  4. 18 वर्ष से कम आयु की लड़कियां इस योजना का लाभ नहीं ले सकती है.
  5. उच्च शिक्षा ऋण योजना का लाभ केवल शिक्षा के लिए ही दिया जायेगा. 

हरियाणा राज्य सरकार ने आधिकारिक मतगणना के आधार पर 67.91% साक्षरता दर बताई है. जो राष्ट्रीय आंकड़ों के औसत से 64.80% ज्यादा है . इसमें 78.49% साक्षरता दर आदमियों की है और 55.73%  दर महिलाओं की है जो की राष्ट्रीय आंकड़ों के औसत से अधिक है .
हरियाणा में st/sc  की साक्षरता का प्रतिशत 55.45 % है. जो राष्ट्रीय औसत आय से कम है. साक्षरता दर का केवल 46.26 % st/sc  महिलाओं के बीच है. महिला साक्षरता की तुलना में st/sc  पुरुषो की साक्षरता दर 66.93%  ज्यादा है .

⇒ हरियाणा सरकार की उच्च शिक्षा ऋण योजना की विशेषताएं निम्लिखित है:
  1. इस योजना के अंतर्गत 5% ब्याज की दर से केवल लड़कियों को ही ऋण दिया जायेगा.
  2. लड़कियों को यह योजना उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करेगी.
  3. उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए हरियाणा राज्य सरकार की महिला कर्मचारी भी इस योजना के अंतर्गत ऋण ले सकती है.
  4. विदेशो में भी उच्च शिक्षा लेने के लिए यह ऋण योजना का अति उपयोगी है. 

जिस प्रकार पुरे भारत वर्ष में महिलाओं को अत्याचार, बलात्कार और अन्य समस्याएं का सामना करना पड़ता है इन चीजों के समाधान के लिए सरकार को एक कठोर नीति अपनानी चाहिए जिससे महिलाओ की सुरक्षा की जा सके और उनको समाज में या शिक्षा के क्षेत्र में सामान अवसर मिल सके. उच्च शिक्षा ऋण योजना के लागू होने से लड़कियों और महिलाओं की स्थिति में सुधार होगा और वो शिक्षा के क्षेत्र में काफी आगे बढ़ेगी.
इस  योजना के विषय में अधिक जानकारी के लिए आप इस लिंक पर जा सकते हैं जहाँ पर सभी स्कालरशिप की जानकारी  हरियाणा उच्च शिक्षा  विभाग द्वारा दी गई  है:

यहाँ पर क्लिक करें »»»» http://www.highereduhry.com/HEPage.aspx?data=2714.

Leave A Reply

Your email address will not be published.