मोदी सरकार लिबरल आर्ट्स विश्वविद्यालय 2022 – Liberal Arts University Established By Central Govt

Liberal Arts University Established By Central Govt की पूरी जानकारी आपको इस पेज पर मिल जाएगी। गौरतलब है कि मोदी सरकार द्वारा आईआईटी/ आईआईएम की तरह “लिबरल आर्ट्स विश्वविद्यालय” स्थापित किये जायेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार सामान्य व उदार कला विषयों (लिबरल आर्ट्स) की पढ़ाई, शिक्षा के लिए भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) और भारतीय प्रबंधन संस्थान (IIM) की तर्ज पर सरकारी विश्वविद्यालय स्थापित करने की योजना बना रही है। इन सामान्य व उदार कला संस्थानों में बहु-विधात्मक शोध व अनुसंधान (Multi-Disciplinary Research and Education under New Education Policy) के साथ शिक्षा पर ज़ोर दिया जाएगा। केंद्र सरकार द्वारा लिबरल आर्ट्स विश्वविद्यालय की स्थापना पूरे देश में की जाएगी। जिसके बाद, छात्रों के नए सत्र के लिए एडमिशन शुरू होंगे।

Liberal Arts University Established 2022

प्रसिद्ध वैज्ञानिक के कस्तूरीरंगन की अगुआई वाली विशेषज्ञ समिति द्वारा प्रस्तावित की गई नई शिक्षा नीति (New Education Policy 2020) के अनुसार इसे नई शिक्षा योजना के अंतर्गत शुरू किया जाएगा। केंद्र सरकार चाहती है की तकनीक व प्रबंधन की शिक्षा के अलावा सामान्य व उदार कलाओं की ओर भी युवाओं को आकर्षित किया जाये। जैसा की आप लोग जानते ही हैं की आज के समय में बहुत से युवा तकनीक और प्रबंधन के क्षेत्र में पढ़ाई की ओर ज्यादा जा रहे हैं। जिससे सामान्य कला क्षेत्र पूरी तरह से लुप्त होने की कगार पर है। केंद्र सरकार द्वारा आईआईटी/ आईआईएम की तरह लिबरल आर्ट्स विश्वविद्यालय स्थापित करने से छात्र-छात्राएँ इसकी ओर आकर्षित होंगे। नीचे हम आपको Liberal Arts University Established By Central Govt | मोदी सरकार लिबरल आर्ट्स विश्वविद्यालय के बारे में पूरी जानकारी प्रदान कर रहे हैं।

Modi-Govt-Liberal-Arts-University-Scheme

केंद्र सरकार द्वारा लिबरल आर्ट्स विश्वविद्यालय 2022-23

  • Central Govt Liberal Arts University Details – अभी देश में लिबरल आर्ट्स के विश्वविद्यालय सिर्फ निजी क्षेत्रों में ही हैं।  जैसे- अज़ीम प्रेमजी विश्वविद्यालय, अशोका विश्वविद्यालय, ओपी जिंदल विश्वविद्यालय आदि।
  • इनमें बहुविधा (मल्टी-डिसीप्लीनरी) पाठ्यक्रम हैं। और यहां विषयों को बदलने के मौके भी दिए जाते हैं। सार्वजनिक क्षेत्र के लिबरल आर्ट्स संस्थानों की स्थापना के लिए सरकार मौजूदा संस्थानों को इनसे जोड़ेगी और पुनर्गठन करने के साथ-साथ नए संस्थान भी स्थापित किए जाएंगे। जिससे पूरे देश में एक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मॉडल संस्थान तैयार किया जाएगा।
  • केंद्र सरकार द्वारा बनाये जाने वाले लिबरल आर्ट्स विश्वविद्यालयों को एक विशाल बहु-विधा विश्वविद्यालय के रूप में परिभाषित करेगी। जहां पर पाठ्यक्रमों में फेरबदल के साथ एक या एक से अधिक विषयों में गहन विशेषज्ञता के अवसर भी उपलब्ध होंगे।
  • नई शिक्षा नीति में यह भी प्रस्तावित किया गया है कि उच्च शिक्षण संस्थानों के सभी स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिला राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) द्वारा आयोजित परीक्षाओं के माध्यम से होगा। ताकि अलग-अलग संस्थान द्वारा विकसित प्रवेश परीक्षाओं के बीच परस्पर टकराव की समस्या को खत्म किया जा सके।

सामान्य व उदार कला संस्थानों के विभाग

Depts of General & Liberal Arts University/ Institutions – लिबरल आर्ट्स विश्वविद्यालयों में सामान्य व उदार कला विषयों से संबंधित लगभग सभी विभाग होंगे, जो निम्न्लिखित हैं:

बहु भाषा साहित्य संगीत
आर्ट्स दर्शन इंडोलॉजी
कला नृत्य रंगमंच
शिक्षा गणित सांख्यिकी
शुद्ध और व्यावहारिक विज्ञान समाजशास्त्र अर्थशास्त्र और खेल

Liberal Arts University (नई शिक्षा नीति)

PM Modi New Education Policy (Liberal Arts University) – आईआईटी और आईआईएम की तरह ही इस नई शिक्षा नीति के अनुसार ओलंपियाड जैसी राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं, गर्मी की छुट्टियों में चलाए जाने वाले विषय-केंद्रित कार्यक्रमों, खेल स्पर्द्धाओं आदि को प्रवेश प्रक्रिया में विशेष महत्व देने का भी उल्लेख किया गया है। इसे अन्य उच्च शिक्षा संस्थानों, विशेष रूप से आईआईटी और एनआईटी, में दाखिले की प्रक्रिया में भी लागू किया जाएगा।

सामान्य कला विषयों की उच्च शिक्षा के लिए प्रस्तावित इन विश्वविद्यालयों को मल्टीडिसीप्लिनरी एजुकेशन एंड रिसर्च यूनिवर्सिटी (MERU) कहा जाएगा। और लक्ष्य होगा की इन्हे आगे चलकर अमेरिका की आइवी लीग के विश्वविद्यालयों के स्तर का बनाया जाएगा। पूरे भारत में लिबरल शिक्षा के लिए उच्चतम मानक भी निर्धारित किए जाएंगे।

New Shiksha Niti 2020 PDF Download In Hindi

मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) ने नई शिक्षा नीति (एनईपी) को मंजूरी दे दी है। इस नई एजुकेशन पॉलिसी से स्कूल व कॉलेज स्तर तक शिक्षा प्रणाली में कई बदलाव आएंगे। MHRD की इस नई नीति में स्कूल एजुकेशन से लेकर हायर एजुकेशन तक कई बड़े बदलाव किए गए हैं। उच्च शिक्षा के लिए सिंगल रेगुलेटर रहेगा (लॉ और मेडिकल एजुकेशन को छोड़कर)। साथ ही उच्च शिक्षा में 2035 तक 50 फीसदी GER पहुंचने का लक्ष्य है। ई-पाठ्यक्रम क्षेत्रीय भाषाओं में विकसित किए जाएंगे। वर्चुअल लैब विकसित की जा रही है और एक राष्ट्रीय शैक्षिक टेक्नोलॉजी फोरम (NETF) बनाया जा रहा है।

देश में उच्च शिक्षा के लिए एक ही नियामक होगा, इसमें अप्रूवल और वित्त के लिए अलग-अलग वर्टिकल होंगे। वो नियामक ‘Online Self-disclosure Based Transparent System’ पर काम करेगा। पढ़ाई की रुपरेखा 5+3+3+4 के आधार पर तैयारी की जाएगी। इसमें अंतिम 4 वर्षो में 9 वीं से 12 वीं कक्षा शामिल हैं। साथ ही नया कौशल (जैसे कोडिंग) शुरु किया जाएगा और एक्सट्रा कैरिकुलर एक्टिविटीज को मेन कैरिकुलम में शामिल किया जाएगा। PM Modi New Education Policy Details 2022 PDF डाउनलोड करने हेतु इस लिंक पर क्लिक करें।

Other Central Govt Schemes 2022-23 In India

  1. खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2022 ऑनलाइन पंजीकरण
  2. Khelo India Youth Games 2022 Dates
  3. एचआरडी मिनिस्ट्री ने NEAT AI लर्निंग स्कीम
  4. यूजीसी परामर्श/ दीक्षारंभ योजना 2022
  5. राष्ट्रीय शिक्षुता प्रशिक्षण योजना पंजीकरण फॉर्म

RM-Helpline-Team

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top