India's Largest Hindi Information Website

hridayindia.in Heritage City Development and Augmentation Yojana-HRIDAY Information हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ओगमेंटेशन योजना

✿✤✿ हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ओगमेंटेशन योजना की जानकारी ✿✤✿
✿✤✿ Information for Heritage City Development and Augmentation Yojana (HRIDAY) ✿✤✿

हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ओगमेंटेशन योजना का शुभारंभ के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 21 जनवरी 2015 को की थी। इस योजना के तहत इंडियन टूरिज्म मिनिस्ट्री तथा अर्बन विकास मिनिस्ट्री ने आपस में एक साथ हाथ मिलाकर काम किया है। इस योजना को शुरू देश के पुराने गांव तथा शहर के वर्धी तथा उन्नति के  लिए किया है। इस योजना के तहत सरकार यह चाहती है की देश के सभी गांव तथा शहर को विकसित किया जाये। जिसके तहत गांव तथा शहर के विकास होने से व्यक्तियों का वहां आना जाना बढ़ेगा। जिसके तहत टूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा। इस योजना के तहत प्रथम चरण में देश के 12 शहरों को विकसित करने के लिए चुना गया था। उन 12 शहरों के नाम इस प्रकार है :-

  • वारंगल,
  • वेलान्कन्नी,
  • वाराणसी,
  • पूरी,
  • मथुरा,
  • कांचीपुरम,
  • गया,
  • द्वारा,
  • बादामी,
  • अमृतसर,
  • अमरावती (आंध्र प्रदेश) तथा
  • अजमेर

ये प्रत्येक शहर बड़े ही धार्मिक है तथा जो काफी प्रसिद्ध तथा प्रचलित है। इस योजना के तहत परंतु इन शहरों का निर्माण पुराने तरीके से हुआ है तथा उन्नति के मद्देनज़र ये शहर भी पीछे रहे है। इस योजना के तहत इस शहरों के आधारिक संरचना को बदल दिया जायेगा। इस योजना के तहत इस शहरों को आधारिक संरचना के तहत बदलने से यहाँ के मंदिर, घाट तथा यहाँ के होटल, रोड, शौचालय की सुविधा, पब्लिक ट्रांसपोर्ट तथा इस योजना के तहत लोगों के विकास पर भी स्पेशल काम होंगे।

✿✤✿ हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ओगमेंटेशन योजना के बारे में अहम जानकारी ✿✤✿
✿✤✿ Important information about Heritage City Development and Augmentation Yojana (HRIDAY) ✿✤✿

➤?➤ हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ओगमेंटेशन योजना के तहत इस योजना पर होने वाला सारा खर्च केंद्रीय सरकार देगी। इस योजना के तहत इस योजना को पूरा करने के लिए 2 साल 3 माह की अवधि निर्धारित की गई है तथा जो की यह योजना मार्च 2017 समाप्त या पूरी हो जाएगी।

➤?➤ इस योजना के तहत इस योजना में 12 शहरों को चुना गया है तथा इस समय उन 12 शहरों में ही काम होगा। इस योजना के तहत यह भी कोशिश की जाएगी की निर्धारित समय में इस शहरों की वृद्धि तथा उन्नति हो सके।

➤?➤ इस योजना के तहत शहर की सुंदरता, पानी की कमी, खान पान, बिजली तथा सुरक्षा आदि  महत्वपूर्ण आवश्यकताओं को देखा जायेगा। इस योजना के तहत यदि से भी चीज़े सही तो जाएँगी तो टूरिस्ट इस जगहों पर घूमने फिरने के तहत सुविधाएँ महसूस करेंगे तथा इसके तहत वे नागरिक यहाँ घूमने के लिए दूसरों को भी बोलेंगे।

✿✤✿ हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ऑगमेंटेशन योजना में सरकार कितना पैसा इन शहरों के लिए देगी ✿✤✿
✿✤✿ How Much Money Government will Give to Cities for Heritage City Development and Augmentation Yojana (HRIDAY) ✿✤✿

हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ओगमेंटेशन योजना के तहत इस योजना पर सरकार लगभग 500 करोड़ रूपये खर्च करने वाली है तथा इस योजना के तहत शहर के क्षेत्रफल तथा आबादी की गणना के आधार पर इस शारहों का खर्च तय हुआ है। इस योजना के तहत इन 12 शहरों पर होने वाला खर्च अलग है। इस योजना के तहत जहाँ धार्मिक स्थान तथा घूमने या फिरने के स्थान ज्यादा है। उन शहरों के लिए सरकार ने ज्यादा पैसे दिए है तथा इस योजना के तहत इन शहरों को विकसित करना बहुत ज़रूरी है। इस योजना के तहत इन 12 शहरों को कितने पैसे दिए है। इस योजना के तहत पैसे दिए जाने वाले12 शहरों के नाम इस प्रकार है:-

वारंगल 40.54 करोड़ रूपये।
वेलान्कन्नी 22.26 करोड़ रूपये।
वाराणसी 89.31 करोड़ रूपये।
पूरी 22.54 करोड़ रूपये।
मथुरा 40.04 करोड़ रूपये।
कांचीपुरम 23.04 करोड़ रूपये।
गया 40.04 करोड़ रूपये।
द्वारका 22.26 करोड़ रूपये।
बादामी 22.26 करोड़ रूपये।
अमृतसर 69.31 करोड़ रूपये।
अमरावती 22.26 करोड़ रूपये।
अजमेर 40.04 करोड़ रूपये।
✿✤✿ हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ऑगमेंटेशन योजना की विशेषताएं ✿✤✿
✿✤✿ Features Of Ogmenteshn Heritage City Development and Augmentation Yojana (HRIDAY) ✿✤✿

हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ओगमेंटेशन योजना के तहत भारत के टूरिस्ट व्यक्तियों को ज्यादा फायदा है। इस योजना के तहत सरकार यही अपेक्षा कर रही है की विदेशी नागरिक भी इस शहरी करण से आकर्षित हो तथा देश के टूरिस्टों की तादाद बढे। इस योजना के तहत जिन धार्मिक स्थानों के नाम अभी बड़े पर दर्शन बहुत छोटे है। लेकिन सरकार अब इस योजना के द्वारा धार्मिक स्थानों को बेहतर बनाएगी। जिसके तहत कोई भी टूरिस्ट चाहे वह अपने देश का हो या विदेश का सब चीजों को बेहतर देख के खुश होगा तथा दूसरे नागरिकों को भी बताएगा।

इस योजना के तहत भारत के पुराने तथा प्रसिद्ध शहरों को विकसित करना है। इस योजना के तहत भारतीय संस्कृति में बहुत सी ऐसी जगह है। जिसके तहत इस स्थानों को संभाल के रखने के लिए उन स्थानों को रख रखाव बहुत आवश्यक है।

इस योजना के तहत शहर की उन्नति के तहत नया नगरी करण होगा। इस योजना के तहत शहर की हर महत्वपूर्ण आवश्यकता को पूरा किया जायेगा।

 

✿✤✿ हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ऑगमेंटेशन योजना के लाभ ✿✤✿
✿✤✿ Benefits Of Heritage City Development and Augmentation Yojana (HRIDAY) ✿✤✿

➤?➤ हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ओगमेंटेशन योजना के तहत भारत देश की आर्थिक अर्थव्यवस्था में तीव्रता से बदलाव आएगा।

➤?➤ इस योजना के तहत अपने देश में अधिक टूरिस्ट आने से देश का टूरिज्म प्रणाली मज़बूत होगी तथा जिसके तहत योजना को और आगे करने के लिए ज्यादा से ज्यादा बढ़ावा मिलेगा।

➤?➤ इस योजना के तहत इन 12 शहरों की उन्नति से टूरिस्टों को तो लाभ तथा सुख सुविधा उपलब्ध होगी। तथा इस योजना के साथ वहां रहने वाले लोगों को भी एक नया विकासशील शहर मिलेगा। इस योजना के तहत उन लोगों के लिए रोज़गार के और भी रास्ते खुलेंगे।

➤?➤ इस योजना के तहत इन पुराने शहरों को नया बनाने के लिए अनेकों वजह है। परंतु पुराने शहरों की प्रसिद्धि हर वर्ष अनेकों टूरिस्टों को अपनी और खिंचती है तथा इन शहरो को नया होने से टूरिस्ट का आना जाना बढ़ेगा। जिसके तहत टूरिज्म में अधिक से अधिक फायदा होगा।

➤?➤ इस योजना के तहत इन 12 शहरों में रहने वाले नागरिक तथा वहां की चीजों के आदि हो गए है। इस योजना के तहत शहरी करण से उन लोगों में भी बदलाव आएगा। जिसके तहत वे लोग अपने पुरानी आदतों को छोड़ नए ढंग से रहने की शुरुआत करेंगे।

और अधिक जानकारी के लिए कृपया नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करें:

यहाँ क्लिक करें ➤?➤ http://hridayindia.in/

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.