India's Largest Hindi Information Website

Street Light Yojana: दिल्ली मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइट योजना 2019

Delhi Mukhyamantri Street Light Yojana 2019-20 In Hindi | Kejriwal Govt Starts Street Light Scheme In Delhi | अंधेरी जगहों पर लगेंगी 2 लाख एलईडी सनलाइट

Delhi-CM-Street-Light-Yojana-In-Hindi
Delhi-CM-Street-Light-Yojana-In-Hindi

Delhi Mukhyamantri Street Light Yojana 2019-20: नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको दिल्ली सरकार की नई योजना की जानकारी देंगे। जिसका नाम “मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइट योजना दिल्ली “ है। दिल्ली में महिला सुरक्षा को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइट योजना की घोषणा की। इस योजना को एक नवंबर से लागू किया जाएगा। इसके तहत दिल्ली में दो लाख दस हजार स्ट्रीट लाइटें लगेंगी। इसकी जिम्मेदारी तीनों डिस्कॉम (बिजली कंपनियां) की होगी।इसमें 20 या 40 वाट की एलईडी लाइटें लगेंगी। तीन से पांच साल तक रखरखाव की जिम्मेदारी स्ट्रीट लाइट लगाने वाली कंपनी की होगी। इस योजना पर सौ करोड़ का खर्च आएगा। इसके अलावा दस करोड़ रुपये प्रति वर्ष रखरखाव पर खर्च होंगे। इस योजना के तहत दिल्ली के ब्लैक स्पॉट को तीन माह में खत्म कर दिया जाएगा।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इन्हें लगाने की जिम्मेदारी शहर में बिजली वितरण करने वाली तीनों निजी कंपनियों (DISCOM) की होगी। हर कंपनी 70,000 स्ट्रीट लाइट लगाएगी। उन्होंने कहा कि हर स्ट्रीट लाइट में एक सेंसर लगा होगा, जो सूर्यास्त होते ही इसे प्रज्वलित कर देगा। स्ट्रीट लाइटों को सीसीटीवी कैमरों की तर्ज पर लगाया जाएगा।इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के वे स्थान जहां पर ज्यादातर अंधेरा होता है, उन स्थानों पर सरकार की तरफ से एलईडी लाइट लगाकर उन्हें प्रकाशित किया जाएगा। जिससे अंधेरे में आवाजाही में परेशानी कम होगी और महिलाएं सुरक्षित महसूस करेंगी। योजना से संबंधित सारी जानकारी के लिए इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें।

दिल्ली मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइट योजना 2019-20

Delhi CM Street Light Yojana Details – मुख्यमंत्री केजरीवाल ने दिल्ली सचिवालय में प्रेसवार्ता कर कहा कि महिला सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली सरकार प्रतिबद्ध है। सीसीटीवी कैमरे लगाने जैसे विभिन्न उपायों को लागू भी कर रही है। सीसीटीवी कैमरों के साथ-साथ दिल्ली में सड़कों से अंधेरा दूर करने की भी जरूरत है। उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि यह योजना दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा बढ़ाने और अपराध को कम करने में एक प्रभावी कदम होगा।

  1. इस योजना के तहत लाइट लगवाने की अनुमति देने का अधिकार विधायक को होगा।
  2. उनके नेतृत्व में ही डार्क स्पॉट भी चिन्ह्ति किए जाएंगे। फिर भवन मालिक की अनुमति ली जाएगी।
  3. जिसके बाद, बिजली कंपनी का सर्वे होगा। सर्वे में स्थान बिजली कंपनी की ओर से पास होने के बाद स्ट्रीट लाइट को लगा दिया जाएगा।
  4. आम जनता भी विधायक से संपर्क कर स्ट्रीट लाइट लगवा सकती है।
  5. स्ट्रीट लाइटों के लिए स्थान का चयन नवंबर से पहले कर लिया जाएगा।
योजना का नाम Delhi CM Street Light Yojana
किसने लागू की   मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा
कब एलान की गई   सितम्बर 2019
लक्ष्य  अँधेरे इलाको में लाइट लगवाना
वेबसाइट  उपलब्ध नहीं
टोल फ्री नंबर  उपलब्ध नहीं
सीएम स्ट्रीट लाइट योजना में ऑटोमेटिक तरीके से काम करेंगी लाइटें-

Lights will work automatically in CM Street Light Yojana – इस योजना के तहत लगने वाली लाइटें ऑटोमेटिक होंगी। इसमें सेंसर लगा होगा। यह स्वत: अंधेरा होने पर जल जाएंगी और सुबह सूरज निकलने पर बंद हो जाएंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में कार्यरत तीनों डिस्कॉम में से प्रत्येक DISCOM 70,000 स्ट्रीट लाइटें लगाएगी। टेंडर में हम कम से कम 3 से 5 साल की वारंटी वाली लाइटें ही लगवाएंगे।

भवन मालिक के घर से मिलेगी बिजली => स्ट्रीट लाइट को नजदीक भवन मालिक के घर से ही बिजली मिलेगी। एक-दो दिनों में यह तय कर लिया जाएगा कि एक लाइट पर कितनी बिजली खर्च होगी। फिर उतनी यूनिट बिजली को भवन मालिक के बिल से कम कर दिया जाएगा। यह भी ऑटोमेटिक व्यवस्था होगी। मुख्यमंत्री ने कहा जिस तरह से लोगों ने अपने घर पर सीसीटीवी लगाने की अनुमति दी थी और जिस उत्साह से लोग सीसीटीवी स्कीम में जुड़े हैं, हमें उम्मीद है कि उतनी ही रुचि जनता की मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइट योजना में भी होगी।

Mukhhyamantri-Street-Light-Yojana-In-Delhi
Mukhhyamantri-Street-Light-Yojana-In-Delhi
मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइट योजना दिल्ली के मुख्य बिंदु-

Key Points of Mukhyamantri Street Light Yojana Delhi – मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइट योजना के मुख्य बिंदु निम्नलिखित हैं।

  • स्ट्रीट लाइट फेसिलिटी => अँधेरे से संबंधी समस्या के लिये सरकार द्वारा उन स्थानों पर लाइट लगवाने का कहा गया हैं। लाइट अँधेरी सडकों एवं घरो के बाहर लगाये जायेंगे, जिसका फैसला विधायक एवं भवन मालिक की अनुमति द्वारा लिया जायेगा।
  • कितने वाट की लाइट लगेंगी => योजना के अंतर्गत जो एलइडी लाइट्स लगाई जाएंगी वह 20 से 40 वाट की होंगी। इन लाइट्स को लगाने में जो भी खर्चा होगा, वह दिल्ली सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। सरकार ने हिसाब लगाया है कि इस योजना के अंतर्गत लगभग 100 करोड का खर्च आना चाहिए।
  • डिस्कॉम कंपनी को मिलेगा कॉन्ट्रैक्ट => दिल्ली सरकार ने यह जिम्मेदारी डिस्कॉम को दी है। इस योजना के अंतर्गत डिस्कॉम लगभग 70000 लाइट्स लगाएगा, जिस तरह से प्रदेश की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरा लगाए गए थे। उसी तरह से इन लाइट्स को प्रदेश में लगाया जाएगा। कॉलोनी के अंदर लोगों के घर के बाहर भी एलइडी बल्ब लगाए जाएंगे। मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइट योजना के अंतर्गत जो भी लाइट्स लगाए जाएंगे, उनकी देखरेख की जिम्मेदारी भी कंपनी की होगी।
दिल्ली सीएम स्ट्रीट लाइट योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

How to Apply for Delhi CM Street Light Yojana – इस योजना के अंतर्गत आम उपभोक्ता को आवेदन नहीं करना है लेकिन अगर कोई उपभोक्ता अपने अनुसार किसी स्थान का चयन करके उसमें स्ट्रीट लाइट लगवाना चाहता है तो वह अपने विधायक से मिलकर इस प्रक्रिया को पूरा कर सकता है।

योग्यता एवं दस्तावेज => यह सरकारी कार्यक्रम हैं आम जनता का इसमें कोई रोल नहीं हैं।  जगह का निर्धारण विधयाको द्वारा ही किया जायेगा। किसी भी तरह के दस्तावेज के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई हैं। मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइटिंग योजना को प्रदेश में सुरक्षा की दृष्टि से शुरू किया जा रहा है। इस योजना के जरिए प्रदेश में होने वाले चोरी एवं लूटपाट की वारदातों को रोकने में आसानी होगी।

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री किराएदार बिजली मीटर योजना दिल्ली 2019-20

प्यारे दोस्तों, आपको हमारा आर्टिकल “दिल्ली मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइट योजना 2019-20 (Delhi Mukhyamantri Street Light Yojana In Hindi)” कैसा लगा। इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले। यदि आपको इससे संबंधित कोई अन्य जानकारी या कोई सवाल हमसे पूछने हो। तो नीचे कमेंट में लिख भेजिए हम जल्द ही आपकी सहायता करेंगे। अन्य सभी सरकारी योजनाओ की सबसे पहले अपडेट पाने के लिए हमारे वेबसाइट www.readermaster.com के साथ बने रहें। धन्यवाद-

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.