India's Largest Hindi Information Website

[List] उत्तराखंड दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना 2020

Uttarakhand Deendayal Upadhyay Kisan Kalyan Yojana 2020 | Farmer Welfare Scheme KKY List In Hindi | दीनदयाल उपाध्याय सहकारिता किसान कल्याण योजना सूची

Deendayal-Upadhyay-Kisan-Kalyan-Yojana-In-Hindi
Deendayal-Upadhyay-Kisan-Kalyan-Yojana-In-Hindi

Uttarakhand Deendayal Upadhyay Kisan Kalyan Yojana 2020: प्यारे दोस्तों, आज हम आपके लिए उत्तराखंड की राज्य सरकार की एक महत्वकांक्षी योजना “दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना” की सभी जानकारी लेके आएं है। उत्तराखंड सरकार छोटे और सीमांत किसानों के लिए दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना शुरू करने जा रही है। इस योजना के तहत, सरकार कम ब्याज दरों पर सभी किसानों को नरम ऋण प्रदान करेगा। उत्तराखंड सरकार 1 लाख रुपये तक के कृषि ऋण सिर्फ 2% ब्याज दर पर प्रदान करेगी | Deendayal Upadhyay Kisan Sahkarita Kalyan Yojana के तहत यह सहायता पहाड़ी क्षेत्रों में किसानों को अधिक आय अर्जित करने में सक्षम बनाएगी और मिश्रित खेती को भी बढ़ावा देगी।

दीनदयाल उपाध्याय सहकारिता किसान कल्याण योजना वर्ष 2019-20 में उत्तराखंड सरकार द्वारा छोटे और सीमांत किसानों को लाभ देने के लिए शुरू की गई है। सभी किसानों को इस किसान कल्याण योजना के माध्यम से कम ब्याज दरों पर ऋण मिलेगा। अधिक आय अर्जित करने के लिए और मिश्रित खेती को बढ़ावा देने के लिए पहाड़ी क्षेत्रों में किसानों को वित्तीय सहायता दी जाएगी। केकेवाई योजना का मुख्य उद्देश्य 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करना है। ग्रामीण क्षेत्रों में किसान अपनी आजीविका बनाए रख सकते हैं और कर्ज के जाल से राहत भी पा सकते हैं। एकीकृत सहकारी विकास योजना और दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना, उत्तराखंड के रुद्रपुर, ऊधमसिंहनगर में 14 फरवरी 2019 को लगभग 340 करोड़ रुपये की लागत से लॉन्च की गई है। उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया था।

उत्तराखंड दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना

UK Govt Deendayal Upadhyaya Kisan Kalyan Yojana – दो नई योजनाएं उत्तराखंड सरकार द्वारा कृषि क्षेत्र को एक बड़ा लाभ देने और किसानों के जीवन स्तर को ऊपर उठाने के लिए शुरू की गई हैं। इन दो योजनाओं को एकीकृत सहकारी विकास योजना और दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना के रूप में नामित किया गया है। उत्तराखंड की इस योजना के अंतर्गत सरकार के माध्यम से रु 1 लाख केवल 2% ब्याज दर पर जो बहुत कम है और 3 साल की अवधि के भीतर ऋण राशि का पुनर्भुगतान करने के लिए समय का विस्तार किया है। किसान द्वारा ऋण राशि का भुगतान न करने के 1 वर्ष के बाद क़ानूनी कार्यवाही की जाएगी।

योजना का नाम   दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना
किस राज्य में लॉंच की गई   उत्तराखंड
किसके द्वारा लॉंच की गई   प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा 
लॉंच दिनांक (शुरू हुई)  14 फरवरी 2019
लाभार्थी   लघु, छोटे एवं सीमांत किसान
उत्तराखंड किसान कल्याण योजना (KKY) के उद्देश्य-

Objectives of Uttarakhand Kisan Kalyan Yojana (KKY) – किसान कल्याण योजना के उद्देश्य निम्लिखित हैं।

  • किसान कल्याण योजना (KKY) मुख्य उद्देश्य सीमांत किसानों को सस्ती ब्याज दरों पर 1 लाख रुपये तक का कृषि ऋण देना है।
  • अब तक किसान खेती और अन्य जरूरतों के लिए स्थानीय साहूकारों पर निर्भर रहते हैं. साहूकारों से मिलने वाले लोन की महंगी ब्याज दर किसानों को लगातार कर्ज के जाल में उलझाती चली जाती है।
  • उत्तराखंड की किसान कल्याण योजना (KKY) के प्रयास से केंद्र सरकार के साल 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने के लक्ष्य पाने में भी मदद मिलेगी।
  • किसान कल्याण योजना के माध्यम से इच्छुक किसान ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि आधारित छोटी इकाइयां लगाकर आजीविका के साधन भी बना सकते हैं।

दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना के लाभ-

Benefits of Deendayal Upadhyay Kisan Kalyan Yojana – दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना के लाभ निम्न प्रकार से हैं।

  • उत्तराखंड सरकार 1 लाख रुपये तक के कृषि ऋण प्रदान करेगी।
  • ऋण के लिए ब्याज दर बहुत कम होगी जो कि 2% है।
  • ऋण राशि का पुनर्भुगतान करने का समय 3 वर्ष की अवधि के भीतर होगा।
  • अधिक आय अर्जित करने के लिए पहाड़ी क्षेत्रों में किसानों को वित्तीय सहायता दी जाएगी।
  • यह मिश्रित खेती को भी बढ़ावा देता है।
  • इस किसान कल्याण योजना का लक्ष्य 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करना है।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में किसान अपनी आजीविका बनाए रख सकते हैं और कर्ज के जाल से राहत भी पा सकते हैं।
दीनदयाल उपाध्याय सहकारिता किसान कल्याण योजना के लिए पात्रता-

Eligibility Criteria for Deendayal Upadhyaya Sahkarita Kisan Kalyan Yojana – दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना का लाभ लेने के लिए निम्नलिखित पात्रता का होना आवश्यक है।

  • आवेदक उत्तराखंड का नागरिक होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता का पेशा कृषि क्षेत्र में होना चाहिए।
  • छोटे और सीमांत किसान केवल इस योजना के लिए आवेदन करने के पात्र हैं।
  • किसान के परिवार का कोई भी सदस्य सरकारी कर्मचारी नही होना चाहिए वरना वह इस योजना का लाभ नही ले पाएगा।
उत्तराखंड किसान कल्याण योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज-

Documents Required for Uttarakhand Kisan Kalyan Yojana – दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना (KKY) में आवेदन करने के लिए निम्न आवश्यक दस्तावेजो का होना जरूरी हैं।

स्थानीय निवासी प्रमाण पत्र राशन कार्ड आधार कार्ड
नवीनतम पासपोर्ट साइज फोटो आय प्रमाण पत्र बैंक अकाउंट डीटेल
दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना 2020 आवेदन प्रक्रिया-

Deendayal Upadhyaya Kisan Kalyan Yojana 2020 Application Process – किसान कल्याण योजना की अभी शुरू की गई है और योजना का कार्यान्वयन उत्तराखंड राज्य के कृषि और राजस्व विभाग द्वारा किया जाएगा। आवेदन जल्द ही शुरू किए जाएंगे। जैसे ही हमे इससे जुडी जानकारी प्राप्त होगी हम आपको इस योजना के आवेदन प्रक्रिया और अन्य महत्वपूर्ण विवरणों के साथ अपडेट करेंगे। इसके लिए हमारी वेबसाइट के साथ बने रहें।

उत्तराखंड कृषि के विषय में अधिक जानकारी लिए => यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड रोजगार दाता योजना 2019-20 फॉर्म

प्रिय पाठकों, आपको हमारा आर्टिकल “उत्तराखंड दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना (Uttarakhand Deendayal Upadhyay Kisan Kalyan Yojana 2020)” कैसा लगा? यदि आपको इससे संबंधित कोई जानकारी या सवाल पूछने हों। तो हमे नीचे कमेंट बॉक्स में लिख भेजिए। हम जल्द ही आपसे सम्पर्क कर आपको जवाब देंगे। उत्तराखंड व अन्य सभी राज्यों की सरकारी योजनाओं की सबसे पहले अपडेट पाने के लिए हमारे पेज www.readermaster.com के साथ जुड़े रहें। धन्यवाद-

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.