कोरोना ई परामर्श सेवा मध्य प्रदेश- नि:शुल्क चिकित्सा सलाह

Corona E-Paramarsh Seva Madhya Pradesh | Free Medical Advice under Coronavirus COVID-19 Lockdown | कोरोना वायरस लॉकडाउन के तहत मुफ्त चिकित्सा सलाह

MP-Corona-E-Paramarsh-Seva-Yojna-In-Hindi
MP-Corona-E-Paramarsh-Seva-Yojna-In-Hindi

Corona E-Paramarsh Seva Madhya Pradesh 2020-: नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से “कोरोना ई परामर्श सेवा मध्य प्रदेश- नि:शुल्क चिकित्सा सलाह” की जानकारी देंगे। जैसे कि आपको विदित होगा कि देश में कोरोना वायरस (COVID-19) के चलते लॉकडाउन की स्थति है। लोग अपने घर से निकल नहीं पा रहे है, साथ ही जरुरी काम के लिए भी वे बाहर जाने से कतराते है। ऐसे में कई लोग दूसरी बीमारी के लिए डॉक्टर्स के पास भी नहीं जा रहे है, या डॉक्टर्स भी अपने क्लिनिक में सेवा नहीं दे पा रहे है। इन सभी समस्याओं के समाधान के लिए मप्र सरकार आपके घर पर ही ई-परामर्श सेवा लेकर आई है। जिसके द्वारा घर बैठे मरीज डॉक्टर्स से सम्बंधित बीमारी के बारे में बात कर सकेगा और इलाज प्राप्त कर सकेगा।

इसके साथ ही डॉक्टर्स ऑनलाइन इस सेवा में रजिस्टर करा सकेंगें, जिससे वे आम आदमी को परामर्श दे सकें। इस सेवा को मध्य प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ नारोत्थम मिश्रा द्वारा 1 मई को प्रारंभ किया गया। इस सेवा को प्रोजेक्ट स्टेप 1 नाम दिया गया है। इसके अंतर्गत 5000 से अधिक डॉ, स्वयं सेवक, टेक्निशियन जुड़े हुए है। नीचे हम आपको कोरोना ई परामर्श सेवा मध्य प्रदेश, घर बैठे पायें नि:शुल्क चिकित्सा सलाह, टोल फ्री नंबर, डॉक्टर ऑनलाइन पंजीयन | Corona E-Paramarsh Seva | Dr Online Registration & Free Consultant की पूरी जानकारी दे रहे हैं। कृपया इसके लिए इस आर्टिकल को अंत तक ध्यान से पढ़ें।

कोरोना ई परामर्श सेवा मध्य प्रदेश (नि:शुल्क चिकित्सा सलाह)

Corona E-Paramarsh Seva Madhya Pradesh (Free Medical Advice) – जैसे कि हमने आपको ऊपर बताया कि मध्य प्रदेश सरकार ने नि:शुल्क चिकित्सा सलाह के लिए ‘कोरोना ई-परामर्श सेवा’ नामक पोर्टल शुरू किया है। इस पोर्टल के माध्यम से आप अपने घर पर ही बैठे ई-परामर्श सेवा का लाभ ले सकते हो। बस मरीज को डॉक्टर्स से सम्बंधित बीमारी के बारे में बताना है और उसके बाद डॉक्टर्स इसका इलाज ऑनलाइन बता देंगे। इस पोर्टल में डॉक्टर्स ऑनलाइन पंजीकरण करके अपने मरीजों को परामर्श दे सकते हैं।

सेवा का नाम  कोरोना ई-परामर्श सेवा
सम्बंधित राज्य   मध्य प्रदेश
कब शुरू हुई 1 मई 2020
किसने शुरू की  डॉ नारोत्थम मिश्रा जी ने
डॉक्टर पंजीयन नंबर  73148-21193
मरीज परामर्श टोल-फ्री नंबर  104
आधिकारिक वेबसाइट  जल्द ही उपलब्ध
मध्य प्रदेश कोरोना ई-परामर्श सेवा के फायदे-

Benefits of MP Corona E-Paramarsh Seva – इस सेवा के माध्यम से लाभार्थी को निम्नलिखित फायदे होंगे।

  • किसी भी मरीज को अपने घर से नहीं निकलना पड़ेगा। फ़ोन पर ही आपको डॉक्टर्स मिल जायेगें। आप अपनी बीमारी बताकर उनसे इलाज प्राप्त कर सकते हैं।
  • डॉक्टर्स को क्लिनिक जाने की आवश्कता नहीं होगी। आज के समय में सबसे ज्यादा खतरा डॉक्टर्स के क्लिनिक में ही होता है, क्यूंकि किसी को पता नहीं होता है, कि मरीज किस बीमारी से जूझ रहा है।
  • ऐसे में मरीज अपने साथ डॉक्टर्स, स्टाफ और आस-पास के अन्य लोगों को भी बीमारी से ग्रसित कर देता है। इसी समस्या के चलते हमने अपने देश के अभी अभी कई डॉक्टर खो दिए है।
  • ई-परामर्श सेवा के तहत फ्री में इलाज होगा, आप अपने आस-पास के ही नहीं, दूर-दराज बैठे डॉक्टर से भी इलाज प्राप्त कर सकते हैं। इसके अंतर्गत IVRS आधारित सेल्फ स्क्रीनिंग टूल के माध्यम से सेवाएं दी जाएँगी।

इसे भी देखें: कोरोना वायरस अपडेट के लिए आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करें

कोरोना ई-परामर्श सेवा के अंतर्गत डॉक्टर्स पंजीयन

Doctors Registration under Corona E-Paramarsh Seva – इस कोरोना (COVID-19) ई-परामर्श सेवा के तहत डॉक्टर्स निम्न तरह से अपना पंजीकरण कर सकते हैं:

  1. फ़ोन कॉल के द्वारा: – डॉक्टर्स को घर बैठे चिकत्सीय सेवाएं देने के लिए 73148-21193 पर मिसकॉल देना होगा। जिसके बाद, आपको विभाग से कॉल आएगा और सारी जानकारी लेने के बाद आपका नाम रजिस्टर हो जाएगा।
  2. ऑनलाइन पंजीयन: – डॉक्टर अपना पंजीकरण ऑनलाइन भी करा सकते है, आप इस लिंक http://bitly/india telemed पर क्लिक करें। जहाँ आपको अपनी सभी व्यक्तिगत जानकारी देनी होगी, जिसके बाद आपका पंजीकरण हो जाएगा।

इसे भी पढ़ें: कोरोना लॉकडाउन – प्रवासी मजदूर और छात्र घर वापसी योजना

मप्र कोरोना ई परामर्श सेवा के अंतर्गत मरीज पंजीयन-

Patients Registration under Corona E-Paramarsh Seva – इसके तहत मरीज अपना पंजीकरण निम्न प्रकार से कर सकते हैं:

  1. मरीज को नि:शुक्ल परामर्श प्राप्त करने के लिए 104 टोल-फ्री नंबर में कॉल करना होगा, जहाँ आपसे आपकी सभी व्यक्तिगत जानकारी ली जाएगी।
  2. अगर उसी समय डॉक्टर्स उपलब्ध होंगे, तो आपका कॉल उन्हें ट्रान्सफर कर दिया जाएगा। अगर डॉक्टर्स उपलब्ध नहीं रहेंगे, तो आपके कॉल को वेटिंग में डाल दिया जाएगा।

ध्यान दे – मध्य प्रदेश सरकार की इस पहल से लाखों, करोड़ों लोगों को घर बैठे सही इलाज और परामर्श मिल सकेगा। मध्यप्रदेश के इंदौर, भोपाल और उसके आस-पास के इलाके कोरोना के रेड जॉन में आते है, जिसमें लम्बे समय तक लॉकडाउन (तालाबंदी) की स्थति बने रहने का अंदेशा है। ऐसे में ई-परामर्श सेवा लोगों के लिए वरदान साबित होगी।

यह भी पढ़ें: स्पेशल ट्रेन – प्रवासी श्रमिक मजदूर ऑनलाइन पंजीयन (राज्यवार लिस्ट)

RM-Helpline-Team

Leave A Reply

Your email address will not be published.