India's Largest Hindi Information Website

[Angikaar] केंद्र सरकार ने अंगीकार अभियान 2019 शुरू किया

Central Govt Starts Angikaar Abhiyan 2019 | Check E-Course at Vulnerability Atlas Details In Hindi | अंगीकार अभियान और अतिसंवेदनशीलता एटलस पर ई-कोर्स

Angikaar-Abhiyan-In-Hindi
Angikaar-Abhiyan-In-Hindi

Angikaar Abhiyan 2019: नमस्कार दोस्तों, आपको बता दें की केंद्र सरकार के शहरी विकास मंत्रालय ने “अंगीकार अभियान (Angikaar Mission)” की शुरुआत की है। इसके तहत केंद्र सरकार द्वारा दी जाने वाली उज्ज्वला योजना से लेकर उजाला योजना जैसी योजनाओं को प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) से जोड़ा जाएगा। इस अभियान के तहत ऐसी केंद्रीय योजनाओं का लाभ उठा रहे लोगों के व्यवहार में बदलाव लाने का प्रयास किया जाएगा।

प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण के अनुरूप सामाजिक व्यवहार में परिवर्तन के लिए अंगीकार को शुरू किया गया है। इसमें पीएमएवाई (यू) के तहत बनाए गए घरों के लाभार्थियों के लिए जल एवं ऊर्जा संरक्षण, अपशिष्ट प्रबंधन, स्वास्थ्य, वृक्षारोपण, सफाई एवं स्वच्छता जैसे मुद्दों पर सामुदायिक जुटाव और आईईसी गतिविधियों के माध्यम से ध्यान केंद्रित किया गया है। “अंगीकार अभियान” इन विषयों को देखने वाले अन्य मंत्रालयों की योजनाओं एवं मिशनों के साथ मिलकर चलेगा। इसमें PMAY के लाभार्थियों को गैस कनेक्शन के लिए विशेष रूप से उज्जवला और स्वास्थ्य बीमा के लिए आयुष्मान भारत पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

केंद्र सरकार ने अंगीकार अभियान शुरू किया

Central Govt Starts Angikaar Abhiyan – अंगीकार के बारे दी गई जानकारी में कहा गया कि गांधी ने साफ, स्वस्थ और कूड़े से मुक्त भारत का सपना देखा था। उनकी जयंती आ रही है और नए भारत के लिए उनके आदर्श आज भी प्रेरणा के श्रोत हैं। इन्हीं आदर्शों को ध्यान में रखते हुए पीएम आवास योजना (शहरी) के तहत “अंगीकार अभियान (Angikaar Abhiyan)” को लॉन्च किया गया। योजना का लाभ पाने वालों के सामाजिक व्यवहार में बदलाव का प्रयास किया जाएगा।

  • पीएमएवाई (यू) के तहत 1.12 करोड़ की मांग के बदले में अब तक लगभग 88 लाख घरों को स्वीकृति दी गई है।
  • अंगीकार का लक्ष्य चरणबद्ध तरीके से मिशन के सभी लाभार्थियों तक पहुंचना है।
  • सभी लक्षित शहरों में यह अभियान प्रारंभिक चरण के बाद महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर 2 अक्टूबर 2019 को शुरू होगा।
  • 10 दिसंबर, 2019 को मानवाधिकार दिवस के अवसर पर इसका समापन होगा।
  • इस अभियान में घर-घर गतिविधियों, वार्ड और शहर स्तर के कार्यक्रमों को शामिल किया जाएगा।
योजना का नाम   अंगीकार अभियान
शुरू की गयी केंद्र सरकार के शहरी विकास मंत्रालय
शुरू करने की  तिथि 2 अक्टूबर 2019 (गांधी जयंती)
समापन की तिथि 10 दिसंबर 2019 (मानवाधिकार दिवस)
उद्देश्य सामाजिक व्यवहार परिवर्तन लाना
अंगीकार अभियान से जुडी मुख्य बातें-

Highlights related to Angikaar Abhiyan Scheme – अंगीकार का मतलब स्वीकार करना होता है। अभियान के तहत सरकारी योजनाओं का लाभ पाने वालों के बीच पर्यावरण संरक्षण, स्वस्थ जीवन, जल संरक्षण, कूड़े का सही निष्पादन, धुएं से मुक्त किचन, आपस में मिलजुल कर रहने से लेकर उर्जा संरक्षण जैसी तमाम बातों को लेकर जागरूकता फैलाई जाएगी।

  1. यह अभियान अंगिकार के तहत तय किए गए विषयों से निपटने वाली अन्य मंत्रालयों की योजनाओं और मिशनों को एक साथ जोड़ेगा।
  2. अभिसरण विशेष रूप से PMAY (U) में गैस कनेक्शन के लिए उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों और स्वास्थ्य बीमा के लिए आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों पर ध्यान केंद्रित करेगा।
  3. Angikaar Abhiyan का उद्देश्य PMAY (U) के सभी लाभार्थियों तक पहुँचना है।
  4. यह नई घोषित योजना 2 अक्टूबर, 2019 को 150 वीं गांधी जयंती के अवसर पर सभी लक्षित शहरों में शुरू की जाएगी।
  5. विभिन्न जागरूकता गतिविधियों जैसे डोर-टू-डोर अभियान, वार्ड और शहर स्तर पर कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।
वलनैरिबिलिटी एटल्स ऑफ़ इंडिया-

Vulnerability Atlas E-Course – दोस्तों आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) द्वारा “वलनैरिबिलिटी एटल्स ऑफ़ इंडिया (Vulnerability Atlas of India)” नाम का एक ऑनलाइन कोर्स भी लॉन्च किया गया। ये कोर्स देश में प्राकृतिक आपदाओं से पीड़ित क्षेत्रों या संभावित प्राकृतिक आपदाओं की समझ और जागरूकता विकसित करने से जुड़ा है। 3000 रुपए के रजिस्ट्रेशन चार्ज के बाद, इसमें रुचि रखने वाले लोग इसकी पढ़ाई कर सकते हैं। इससे जुड़ी परीक्षा को देने के लिए तीन मौके मिलेंगे। पास होने वाले को एक सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा।

  • योजना एवं वास्तुकला विद्यालय (एसपीए), नई दिल्ली और भवन निर्माण सामग्री एवं प्रौद्योगिकी संवर्धन परिषद (बीएमटीपीसी) के सहयोग से आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय ने अतिसंवेदनशीलता एटलस पर ई-कोर्स की पेशकश की है।
  • यह एक अनूठा कोर्स है, जो प्राकृतिक खतरों के बारे में जागरुकता एवं समझ प्रदान करता है।
  • विभिन्न खतरों (भूकंप, चक्रवात, भूस्खलन, बाढ़ आदि) को देखते हुए अति संवेदनशीलता वाले क्षेत्रों की पहचान में मदद करता है और मौजूदा आवासीय भंडार को नुकसान के जोखिम के जिलेवार स्तर को स्पष्ट रूप से बताता है।
  • ई-कोर्स वास्तुकला यानी आर्किटेक्चर, सिविल इंजीनियरिंग, शहरी एवं क्षेत्रीय योजना, आवास एवं बुनियादी ढांचा योजना, निर्माण इंजीनियरिंग एवं प्रबंधन और भवन एवं सामग्री अनुसंधान के क्षेत्र में आपदा शमन एवं प्रबंधन के लिए एक प्रभावी एवं कुशल साधन होगा।
Check Angikaar Abhiyan 2019 Vulnerability Atlas E-Course Details-

नोट :- भारत के अतिसंवेदनशीलता एटलस पर ई-कोर्स के लिए पंजीकरण एसपीए की वेबसाइट  के जरिये किया जा सकते हैं। अंगीकार अभियान और अतिसंवेदनशीलता एटलस पर ई-कोर्स के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

Official Website: Vulnerability Atlas E-Course Registration

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री द्वारा शुरू योजनाओं की सूची 2019-20 PDF

Central Govt Starts Angikaar Abhiyan 2019 PIB

प्यारे दोस्तों, उम्मीद करते हैं की आपको हमारा आर्टिकल “केंद्र सरकार ने अंगीकार अभियान 2019 शुरू किया (Central Govt Angikaar Abhiyan In Hindi)” पसंद आया होगा। इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शेयर करें। यदि आपको इससे जुडी कोई अन्य जानकारी या कोई सवाल हमसे पूछने हो। तो आप हमे नीचे कमेंट के माध्यम से पूछ सकतें हैं। हम जल्द ही आपको जवाब देंगे। अन्य सभी सरकारी योजनाओ की अधिक जानकारी के लिए हमारे पेज www.readermaster.com के साथ जुड़े रहें। धन्यवाद-

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.