[DBT Bihar] कृषि इनपुट सब्सिडी अनुदान योजना आवेदन करें

[Apply] Krishi Input Subsidy Yojana at dbtagriculture.bihar.gov.in | Check DBT Agri Input Subsidy In Hindi | सूखाग्रस्त प्रखंडो के लिये कृषि इनपुट सब्सिडी

DBT-Bihar-Krishi-Input-Subsidy-Yojana-In-Hindi
DBT-Bihar-Krishi-Input-Subsidy-Yojana-In-Hindi

Krishi Input Subsidy Yojana 2019-20: नमस्कार दोस्तों, जैसा की आप जानते ही हैं, हमारे देश में किसानो को कई प्रकार समस्या का सामना करना पड़ता है। जिसके समाधान में केंद्र व सभी राज्यों की सरकारों द्वारा कई योजनाओ को शुरू किया गया है। इसी क्रम में आज हम आपको सरकार द्वारा किसानो के लिए शुरू की गयी “कृषि इनपुट सब्सिडी योजना” की सभी जानकारी लेके आएं। वर्ष 2019–20 के खरीफ मौसम के खड़ी फसलों में बाढ़ / अतिवृष्टि के कारण प्रभावित फसलों एवं अल्पवृष्टि के कारण कृषि योग्य प्रति भूमि रहने से किसानों को काफी क्षति हुई है | इस स्थिति को देखते हुये बिहार राज्य सरकार द्वारा किसानों को कृषि इनपुट सब्सिडी अनुदान देने का निर्णय लिया गया था। इस योजना के तहत किसानो को 13,500 रुपये तक की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।
डीबीटी बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना भारत सरकार द्वारा अधिसूचित प्राकृतिक आपदाओं एवं राज्य सरकार द्वारा स्थानीय आपदाओं के अधीन निर्धारित सहायता मापदन्डों के अनुरूप दिया जायेगा। बिहार राज्य सरकार ने कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2020 के आवेदन की डेट को बढ़ा दिया गया है। योजना का लाभ लेने हेतु पहले आवेदन की तारीख 20 नवम्बर तक थी। लेकिन इसे बढ़ाकर 30 नवम्बर तक कर दी गई थी। लेकिन इस डेट को भी बढ़ाकर 10 दिसम्बर तक कर दिया गया है। जिन किसान भाइयों ने अभी तक Krishi Input Subsidy Anudan Yojana के लिए आवेदन नहीं किया है वे अब 10 दिसम्बर तक आवेदन कर सकते हैं। अभी तक बिहार राज्य के 21,49,698 किसान भाईयों एवं बहनों द्वारा इस योजना के अंतर्गत लाभ के लिए आवेदन किया गया है।

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के तहत अनुदान

Krishi Input Subsidy Anudan Yojana Details – बिहार इनपुट सब्सिडी योजना  के तहत निम्न प्रकार से सब्सिडी दी जाएगी।

  1. बाढ़ / अतिवृष्टि से प्रभावित फसलों एवं अल्पवृष्टि के कारण खरीफ 2019 मौसम में पड़ती भूमि वाले किसनों को यह अनुदान 6,800 रूपये प्रति हेक्टेयर की दर से दिया जायेगा।
  2. यह अनुदान इस पुरे खरीफ मौसम में अल्पवृष्टि के कारण अपने खेत में किसी तरह की फसल नहीं लगा पाये हो एवं खेत प्रति रहा हो, ऐसे किसानों को देय है।
  3. इसके अतरिक्त जिन किसनों को बाढ़ / अतिवृष्टि से हुई फसल क्षति के लिए वर्षाश्रित (असिंचित) फसल क्षेत्र के लिए 6,800 रूपये प्रति हेक्टेयर और सिंचित क्षेत्र के लिए 13,500 रूपये प्रति हेक्टेयर तथा कृषि योग्य भूमि जहाँ बालू / सिल्ट का जमाव 3 इंच से अधिक हो, के लिए 12,200 रु प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान दिया जायेगा।
  4. यह अनुदान प्रति किसान अधिकतम 2 हेक्टेयर क्षेत्र के लिए देय होगा।
  5. किसानों को इस योजना के अंतर्गत फसल क्षेत्र के लिए न्यूनतम 1,000 रूपये अनुदान दिया जायेगा।
बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना की कुछ महत्वपूर्ण बातें-

Some Important Points of Bihar Krishi Input Subsidy Yojana – कृषि इनपुट सब्सिडी योजना की अन्य महत्वपूर्ण बातें निम्नलिखित हैं।

  • कृषि इनपुट सब्सिडी योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आपका जिला सूखाग्रस्त घोषित हुआ है या नहीं इसकी जानकारी आप अपने ब्लॉक में जाकर ले सकते हैं।
  • जिला सूखा घोषित होने के बाद ही आप कृषि इनपुट सब्सिडी योजना का लाभ ले पाएंगे, अगर आपका जिला सूखाग्रस्त नहीं है और आप कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए आवेदन कर देते हैं तो ऐसी स्थिति में आपके एप्लीकेशन को अस्वीकृत की जा सकती है।
  • Krishi Input Subsidy Yojana के अंतर्गत सब्सिडी की राशि DBT के माध्यम से दी जाती है ऐसी स्थिति में आपके खाते में पैसा आधार कार्ड के माध्यम से ही भेजा जाएगा।
  • आधार कार्ड के माध्यम से अगर डीबीटी/DBT के द्वारा पैसा भेजा जाता है तो ऐसी स्थिति में आपका आधार कार्ड एनपीसीआई/NPCI से मैप होना चाहिए और वही आधार कार्ड आपके बैंक अकाउंट से भी लिंक को होना चाहिए।
  • आधार कार्ड एनपीसीआई और बैंक अकाउंट से लिंक नहीं इसकी जानकारी यहां क्लिक करके प्राप्त करें।

नोट – जिन किसानों का पहले से ही किसान पंजीकरण हो चुका है उन किसान भाइयों को फिर से Kisan Panjikaran करने की जरूरत नहीं है वह सीधे कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
इसे भी पढ़ें: डीजल अनुदान योजना 2019-20 | ऑनलाइन आवेदन फॉर्म

डीबीटी बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना आवेदन करें-

Apply for DBT Bihar Krishi Input Subsidy Yojana – कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन किए जा सकते हैं। अगर आपके आधार कार्ड में मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड हो और उस पर आपको ओटीपी प्राप्त होता हो तो आप खुद इसमें आवेदन कर सकते है। और अगर आपके आधार कार्ड में मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड नहीं है तो Krishi Input Subsidy Yojana 2020 के लिए आवेदन आप अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर (CSCs) या फिर ब्लॉक में जाकर अन्यथा ई किसान भवन से भी करवा सकते हैं, योजना के पंजीकरण के लिए आपसे कोई भी शुल्क नहीं लिया जायेगा।
कृषि इनपुट ऑनलाइन आवेदन की विधि:

  • सबसे पहले आपको अपने राज्य सरकार के द्वारा कृषि विभाग की वेबसाइट पर जाना होगा। (उदाहरण के लिए हम बिहार की जानकारी दे रहे हैं)
  • इसके लिए आपको बिहार किसान कृषि विभाग के वेबसाइट  पर जाना होगा और यहां “कृषि इनपुट सब्सिडी योजना” का एक मीनू आपको दिख जाएगा। जैसे नीचे दर्शाया गया है;
    Krishi-Input-Subsidy-Yojana-DBT-Bihar
    Krishi-Input-Subsidy-Yojana-DBT-Bihar
  • यहां आपको “आवेदन करें” पर क्लिक करना होगा। फिर आपके सामने एक नया पेज खुलेगा। 
  • यहां आपको आवेदन के लिए 13 अंकों की “किसान पंजीकरण संख्या/Farmer Registration Number” भरना होगा।
  • फिर आपके सामने योजना का फॉर्म खुल जायेगा। इसमें पूछी गयी सभी जानकारियों को ध्यान से भरें।
  • और इसके साथ ही किसानों को पंजीकरण विवरण के साथ-साथ आवेदन शपथ पत्र यानी “डिक्लेरेशन फॉर्म” भी अपलोड करना होगा। सत्यापित भूमि घोषणा पत्र डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें।

DOWNLOAD-SELF-DECLARATION-CERTIFICATE

इसे भी पढ़ें: DBT Agriculture Bihar – बिहार किसान ऑनलाइन पंजीकरण
  • जैसे ही किसान अपनी सारी जानकारी दर्ज कर देता है तो आपको एक शपथ पत्र का चयन करना होता है, जैसे ही आप शपथ पत्र का चयन करते हैं और “Next button” पर क्लिक करते हैं आपके सामने एक नया पेज खुलकर आ जाता है।
  • यदि किसान ने अनिवार्य दस्तावेज अपलोड किए हैं तो आपको आवेदन में “Submit” बटन पर क्लिक करना हैं।
  • यदि यह जांच बटन काले रंग का दिखाई देगा जिसका मतलब आपने जो भी दस्तावेज अपलोड किए हैं वह सही से अपलोड नहीं हुआ है तो आपको पुनः उस दस्तावेज को अपलोड करना होगा और बटन आपको रंगीन दिख जाएगा अब आप अपने आवेदन को अंतिम रूप देंगे।
  • इसके बाद, आवेदन की जानकारी आपको आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस/SMS के माध्यम से प्राप्त हो जाती है।
  • आवेदन के पश्चात यह खुद-ब-खुद कृषि समन्वयक को सत्यापन के लिए आवेदन की प्रति भेज दी जाएगी।

नोट – कृषि इनपुट योजना (Krishi Input Subsidy Anudan Yojna) के अंतर्गत आवेदन करने के समय किसान अपने कुल रकवा का विवरण डेसिमल में अंकित करेंगे (1 एकड़ = 100 डेसिमल तथा 1 हेक्टेयर = 247 डेसिमल)

यह भी पढ़ें: किसान योजनाओं की सभी जानकारी 2019-20 

प्रिय पाठकों, आपको हमारा आर्टिकल “कृषि इनपुट सब्सिडी योजना (Krishi Input Subsidy Yojana 2020)” कैसे लगा? यदि आपको इस योजना के विषय में अन्य जानकारी या कोई सवाल पूछना हो। तो हमे अपना सवाल नीचे कमेंट बॉक्स में लिख भेजिए। हम अवश्य ही आपकी सहायता करेंगे और प्रधानमंत्री जी द्वारा शुरू की गयी सभी योजनाओ की सबसे पहले जानकारी पाने के लिए हमारे पेज www.readermaster.com से जुड़े रहें। धन्यवाद-

Leave A Reply

Your email address will not be published.